इस दिवाली प्लेटिनम और हीरा आगे

इसोचैम का मानना है कि इस दिवाली प्लेटिनम और हीरा जड़ित आभूषणों की खरीदारी बढ़ेगी

0

आभूषणों के मामले में अब खरीदारों विशेषकर महिलाओं की सोच में अब बदलाव आ रहा है और यही वजह है कि इस दिवाली हीरा जड़ित या फिर प्लेटिनम के आभूषणों की अच्छी मांग रहने की संभावना है। देश के प्रमुख उद्योग मंडल एसोचैम ने एक वक्तव्य में यह जानकारी दी है।

उद्योग मंडल ने कहा है कि कानों के गहने हों या फिर अंगूठी इनमें हीरा जड़ित आभूषणों की मांग तेजी से बढ़ रही है। इसके अलावा हल्की चूड़ियों की भी अच्छी मांग देखी जा रही है।

उद्योग मंडल के अध्ययन के बाद जारी वक्तव्य में कहा गया है कि ज्यादातर आभूषण विक्रेता ग्राहकों के मूड को भांपते हुये अब प्लेटिनम के आभूषण पर ही ज्यादा ध्यान दे रहे हैं। आभूषण के कई बड़े विक्रेता अब परंपरागत सोना-चांदी के जेवरों के मुकाबले प्लेटिनम और हीरा जड़ित आभूषणों को ही प्राथमिकता दे रहे हैं।

एसोचैम अध्ययन के मुताबिक, ‘‘हीरा जड़ित आभूषणों की मांग इस त्यौहारी मौसम में 30 से 35 प्रतिशत बढ़ी है जबकि प्लेटिनम के आभूषण की मांग 25 प्रतिशत बढ़ी है।’’ उद्योग संगठन का दावा है कि उसने यह अध्ययन दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, अहमदाबाद, चेन्नई कोलकाता, हैदराबाद, चेन्नई, बैंगलूरू, चंढीगढ और देहरादून सहित 350 आभूषण निर्माताओं के बीच किया है।

अध्ययन में यह बात भी सामने आई है कि आने वाले दिनों में सोने के आभूषणों की कुल बिक्री में प्लेटिनम और हीरे के आभूषणों का हिस्सा काफी बढ़ सकता है।

इसके मुताबिक सोना और चांदी के परंपरागत आभूषणों की कुल मांग में पहले के मुकाबले अब हीरा जड़ित आभूषणों अथवा प्लेटिनम के आभूषणों की मांग बढ़ रही है।