जीतो इंडिया जीतो, दो लाख, एक लाख और 50 हजार के इनाम!

0

नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर मोदी सरकार इसे बड़ी उपलब्थि मानते हुए इसका प्रचार कर रही है। कॉम्पिटीशन उस प्रचार का ही एक हिस्सा माना जा रहा है। इस कॉम्पिटीशन में अगर आप जीत जाते हैं तो आपको दो लाख रुपए का इनाम मिलेगा।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए mygov.in पर अप्‍लाई करना होगा। पहली कैटेगिरी एक दम सिंपल है। इसमें आपको करीब 1200 शब्‍दों में डिमोनिटाइजेशन की यादें, साथ ही उनसे होने वाले मुनाफे के बारे में बताना होगा।

 सरकार के फाइट अगेंस्‍ट करप्‍शन एंड ब्‍लैक मनी के अभियान की एचीवमेंट और हाइलाइट्स भी बतानी होगी। साथ ही, आपको सुझाव देने होंगे कि सरकार की इस लड़ाई को कैसे आपको अपना लेख पीडीएफ फॉर्मेट में सेव करना होगा। 

नोटबंदी की पहली सालगिरह पर केंद्र सरकार की इस घोषणा को तोहफा कहा जाए या रुपए की बारिश। सरकार ने एक इनामी प्रतियोगिता का आयोजन किया है। तीन तरह के इनाम हैं - दो लाख, एक लाख और पचास हजार रुपए। इस प्रतियोगिता में कोई भी भाग ले सकता है। प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए सरकार की वेबसाइट mygov.in पर जाना होगा। प्रतियोगिता चार तरह की है- कविता लेखन, निबंध, कार्टून -पोस्टर और वीडियो। 

नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर मोदी सरकार इसे बड़ी उपलब्थि मानते हुए इसका प्रचार कर रही है। कॉम्पिटीशन उस प्रचार का ही एक हिस्सा माना जा रहा है। इस कॉम्पिटीशन में अगर आप जीत जाते हैं तो आपको दो लाख रुपए का इनाम मिलेगा। इसके अलावा दूसरा प्राइज एक लाख रुपए का और तीसरा 50 हजार रुपए का है। इसके साथ ही 25-25 हजार रुपए के पांच सांत्‍वना पुरस्कार भी हैं।

प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए mygov.in पर अप्‍लाई करना होगा। पहली कैटेगिरी एक दम सिंपल है। इसमें आपको करीब 1200 शब्‍दों में डिमोनिटाइजेश की यादें, साथ ही उनसे होने वाले मुनाफे के बारे में बताना होगा। सरकार के फाइट अगेंस्‍ट करप्‍शन एंड ब्‍लैक मनी के अभियान की एचीवमेंट और हाइलाइट्स भी बतानी होगी। साथ ही, आपको सुझाव देने होंगे कि सरकार की इस लड़ाई को कैसे आपको अपना लेख पीडीएफ फॉर्मेट में सेव करना होगा। और माईगोवडॉटइन पर लॉगिन करके अपलोड कर सकते हैं।

दूसरी कैटेगिरी आर्ट वर्क है, इसमें आपको ब्‍लैक मनी और करप्‍शन के खिलाफ सरकार की लड़ाई में हिस्‍सेदारी निभाने के लिए कोई क्रिएटिव आर्ट वर्क, कैरिकेचर, कार्टून या पोस्‍टर बना सकते हैं। स्‍मार्ट फोन का चलन बढ़ने के बाद लोगों में वीडियो क्लिप बनाने का भी शौक बढ़ा है। यह शौक दो लाख रुपए का इनाम दिला सकता है। ब्‍लैक मनी और करप्‍शन के खिलाफ सरकार की लड़ाई की अचीवमेंट या सुझाव का वीडियो बनाकर यह इनाम जीता जा सकता है। यह वीडियो चार मिनट से कम समय का होना चाहिए। यदि कविता लिखने का शौक है तो उसे संबंधित विषय पर तैयार कर सरकार को सम्बंधित लिंक पर भेजा जा सकता है।

निबंध प्रतियोगिता

प्रतियोगिता की पहली कैटेगरी निबंध लेखन है। इसमें न्यूनतम 1200 शब्दों में नोटबंदी की यादें, उससे होने वाले फायदे के बारे में बताना है। इसके अलावा मोदी सरकार के फाइट अगेंस्‍ट करप्शन एंड ब्‍लैक मनी के अभियान की उपलब्धियां और हाइलाइट बतानी है। यह भी सुझाव देना होगा कि सरकार इस लड़ाई को कैसे आगे बढ़ा सकती है। अभ्यर्थी को फॉन्ट साइज 12 में लिखकर अपना लेख पीडीएफ फॉर्मेट में सेव करना होगा और http://mygov.in पर लॉगिन कर अपलोड करना होगा।

कॉर्टून और पोस्टर

प्रतियोगिता की दूसरी कैटेगरी आर्ट वर्क है। काले धन और करप्‍शन के खिलाफ लड़ाई में हिस्सेदारी निभाने के लिए कोई क्रिएटिव आर्ट वर्क, कैरिकेचर, कार्टून या पोस्‍टर बनाया जा सकता है। इसे 4 MB की फाइल में PDF/PNG/JPEG फार्मेट में सेव कर http://mygov.in पर अपलोड करना होगा।

वीडियो कॉम्पिटीशन

जिसमें वीडियो बनाने की योग्यता है, इस प्रतियोगिता में भाग ले सकता है। काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार की लड़ाई की अचीवमेंट या सुझाव का वीडियो बनाकर दो लाख रुपए तक का इनाम जीता जा सकता है। वीडियो टाइम, सिर्फ चार मिनट का रखा गया है। इससे यूट्ब लिंक शेयर करना होगा।

कविता लेखन

प्रतियोगिता का यह पार्ट साहित्यिक अभिरुचि का है। जिसकी कविता लिखने में रुचि है, वह काले धन के खिलाफ जारी सरकार की मुहिम पर एंथम तैयार कर प्रेषित कर सकता है। प्रतिस्पर्द्धा में कविता पसंद आ गई तो इनाम मिलेगा। इसके अलावा पांच सांत्वना पुरस्कार के तौर पर प्रतिभागियों को 25-25 हजार रुपए दिए जाने की सरकार ने घोषणा की है।

यह भी पढ़ें: कॉर्पोरेट की नौकरी छोड़ फूड स्टाल लगाती हैं MBA राधिका

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

पत्रकार/ लेखक/ साहित्यकार/ कवि/ विचारक/ स्वतंत्र पत्रकार हैं। हिन्दी पत्रकारिता में 35 सालों से सक्रीय हैं। हिन्दी के लीडिंग न्यूज़ पेपर 'अमर उजाला', 'दैनिक जागरण' और 'आज' में 35 वर्षों तक कार्यरत रहे हैं। अब तक हिन्दी की दस किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं, जिनमें 6 मीडिया पर और 4 कविता संग्रह हैं।

Related Stories

Stories by जय प्रकाश जय