आकाशगंगा के सबसे पुराने तारों की आवाजें रिकॉर्ड

0

वैज्ञानिकों ने आकाशगंगा के कुछ सबसे पुराने तारों की आवाजें रिकॉर्ड की हैं, जो इन तारों के वज़न और उम्र के निर्धारण में मदद करेंगी। इसके अलावा ये हमारे इस तारामंडल के बेहद शुरूआती इतिहास को भी सामने ला सकती हैं।

ब्रिटेन में बर्मिंघम विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने आकाशगंगा के सबसे पुराने ज्ञात तारासमूहों में से एक ‘एम4’ में मौजूद तारों के श्रव्य कंपनों की पहचान की बात कही है। इनमें से कुछ तारे तो 13 अरब साल से भी पुराने हैं। 

नासा के केपलर अभियान से मिले डेटा का इस्तेमाल करते हुए शोध दल ने एस्टेरोसिस्मोलॉजी नामक तकनीक की मदद से तारों के अनुनादी कंपनों का अध्ययन किया।

इन कंपनों से चमकीलेपन में बहुत छोटे बदलाव होते हैं और ये कंपन तारों के भीतर की आवाजों से पैदा होते हैं। तारों से जुड़े इस ‘संगीत’ की धुन माप कर अलग-अलग तारों के द्रव्यमान और उम्र का पता लगाया जा सकता है।यह खोज एस्टेरोसिस्मोलॉजी का इस्तेमाल करके हमारे तारामंडल के शुरूआती इतिहास के अध्ययन का द्वार खोलती है।

यह शोध रॉयल एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी के जर्नल मंथली नोटिसेज में प्रकाशित हुआ।