ट्रैफिक जाम से बचने के लिए ज़रूरी है, 'poolmyride'

ट्रैफिक जाम कम करने के लिए बनाया वैश्विक राइड शेयरिंग एप्प

0
“क्या आप जानते हैं कि मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु और कोलकाता में भारत की पांच प्रतिशत जनसंख्या रहती हैं, जबकि इन शहरों में पंजीकृत वाहनों की सख्या 14 प्रतिशत है|”

ट्रैफिक जाम और देरी, देश की बड़ी समस्या है| इसमें हर साल अरबों रुपये लगते हैं| बिज़नेस मीटिंग में जाना हो, अपॉइंटमेंट के लिए जाना हो या फिर मूवी जाना हो हर समय ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ता है|

एक दु: खद ट्रैफिक अनुभव से प्रेरित होकर अभिषेक तलवार और रजत तलवार ने पूलमायराइड(poolmyride) शुरू की| अभिषेक राजौरी गार्डन में रहते थे और वहाँ से 40 किलोमीटर दूर सोहना रोड, गुड़गांव में नौकरी करते थे| अपना अधिकतर समय जाम में बिताते से वे दुखी हो गये थे और इस समस्या का कुछ करने का सोचा| दो हफ्ते बाद, उन्होंने इस्तीफा दे दिया और पूलमायराइड(poolmyride) नामक राइड एप्प शुरू की|

अभिषेक का भाई रजत जो कि सह-संस्थापक है उस समय बेंगलुरु में, अमेज़न के लिए काम कर रहा था| जब अभिषेक ने नए एप्लिकेशन के बारे में उसे बताया तो रजत खुश हुआ और iOS संस्करण को विकसित करने का फैसला किया| उन्होंने भी अपनी जॉब छोड़ कर पूलमायराइड(poolmyride) के लिए काम किया| अभिषेक कहते हैं, “59वें संस्करण के साथ पूलमायराइड(poolmyride) गूगल प्लेस्टोर पर उपलब्ध है| हमने इस एप्प को विकसित करने में एक लंबा सफर तय किया है|”

पूलमायराइड(poolmyride) की शुरुआत

6 दिसंबर 2014 को Poolmyride CARMA Axl8r द्वारा ब्रिटेन में एक Kickstarter कार्यक्रम चुना गया| यह कार्यक्रम SOS द्वारा कराया गया था| टीम को सात फीसदी इक्विटी के लिए 25000 अमरीकी डालर प्राप्त हुए और तीन महीने के लिए ब्रिटेन में कार्यक्रम में भाग लेने का अवसर मिला|

अभिषेक कहते हैं, “हमने एक अच्छे उत्पाद के निर्माण पर काम किया है| उत्पाद के निर्माण के समय हमारा दृष्टीकोण यात्रियों को एक अच्छी सुविधा से जोड़ना था|”

कंपनी का दूसरा दृष्टीकोण राइड-शेयरिंग के लिए एक वैश्विक मंच बनाना था| वह कहते हैं कि Poolmyride के साथ कार पूलिंग ही नही कैब पूलिंग साथी भी मिल सकता है|

उनकी मुख्य विशेषता Poolmyride का खुला मंच है| जो यात्रा करने वाले लोगों के समूहों को एक ही मार्ग के साथ जोड़ता है| अभिषेक दावा करते हैं कि एप्प एक ही दिशा में यात्रा कर रहे अन्य संभावित सह-यात्री के द्वारा उपयोगकर्ता को सूचित करने के लिए पर्याप्त है|

एप्प को बनाना

अभिषेक कहते हैं कि शुरुआत में जब उन्हें फंडिंग नही मिली थी तब भी उन्हें पता था कि उन्होंने एक अच्छा उत्पाद का निर्माण किया था| उन्होंने कहा कि डेवलपिंग और कोडिंग दुनिया के रहस्यों का उजागर करने जैसा है और वे हमेशा इन रहस्यों को सीखते रहते हैं|

साधारण चीजों से से लेकर उन्होंने NodeJS और AngularJs जैसे प्रमुख एप्लीकेशनों को सीखा| अच्छा एप्लिकेशन को विकसित करने में तीव्र होने के नाते, गूगल ने उनके कारपूल सर्च में उनके एप्प को शीर्ष पर रखा है|

वे भारत ही नही, अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी में भी प्लेस्टोर और एप्पस्टोर में नंबर एक होने का दावा करते हैं| वर्तमान में एप्लिकेशन का उपयोग निशुल्क है| हालांकि, टीम प्रमुख कैब वेंडरों के साथ मंच पर कैब बुकिंग को शेयर करने पर बातचीत कर रही है| एक बार उपयोगकर्ता Poolmyride पर कारपूल बनाता है तो एप्लिकेशन उपयोगकर्ता को कूपन उपयोग करने की अनुमति देता है जोकि एक सीसीडी आउटलेट का कूपन भी हो सकता है, जो उनके मार्ग पर पड़ता है| यह रणनीतिक साझेदारी का एक उदाहरण है|

बाजार और विकास

अभिषेक के अनुसार Poolmyride में हर पांच सेकेंड पर नई कारपूल खोजी गयी है| उन्होंने यह भी दावा किया है कि 50,000 से अधिक स्क्रीन व्यूज एक महीने में हैं| उनकी नई यूजर बेस हर महीने लगभग 250 फीसदी की दर से बढ़ रहा है|

अभिषेक कहते हैं कि टीम लगातार बेहतर सुविधाओं के विकास में लगी है| जल्द ही, वे गूगल वियर और आई वाच पर एप्प को लाने ला इरादा है|

वे एक ट्रिप फीचर की योजना बना रहे है जिसके द्वारा उपयोगकर्ता अपने दोस्तों और WhatsApp/Facebook पर परिवार के साथ अपनी ट्रिप को शेयर कर सकते हैं और उपयोगकर्ता की लगातार लोकेशन अपडेट प्राप्त कर सकते हैं| "यह एक आभासी अभिभावक की तरह है," अभिषेक कहते हैं|

वे mobikwik जैसी स्टार्टअप के साथ काम करने की सोच रहे हैं| राइड-शेयरिंग का बाजार, बला बला कार, पूलसर्किल और कई दूसरों की तरह एप्प के साथ बढ़ रहा है| सड़कों पर वाहनों और लोगों की संख्या बड़ी तेजी से बढ़ रही है| जिसके लिए इस तरह के एप्प की जरुरत जरुरी हो गयी है|

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...