ऐप के बाजार का बादशाह AppStudioz, जिसकी आय है 2 मिलियन डॉलर

700 से ज्यादा ऐप बना चुका है AppStudiozAppStudioz के दुनिया भर में 260 ग्राहकनोएडा से चलाती है कंपनी अपना कारोबार

0

कुछ लोगों के हौसले इतने बुलंद होते हैं कि वो वक्त के साथ नहीं बल्कि वक्त को चलाते हैं। ऐसे ही एक इंसान हैं सौरभ सिंह। जो संस्थापक हैं AppStudioz के। सौरभ इससे पहले TechAhead Software के सह-संस्थापक भी रह चुके हैं लेकिन कुछ समय बाद उन्होने इस कंपनी को छोड़ अकेले ही कुछ नया करने का सोचा और अप्रैल, 2011 में उन्होने अपनी एक कोर टीम के साथ AppStudioz की स्थापना की। कंपनी का एक ही मंत्र है अच्छा ऐप दो और तुरंत दो।

सौरभ सिंह
सौरभ सिंह

सौरभ के मुताबिक उनकी टीम के पास विभिन्न क्षेत्र के लिए ऐप बनाने का खासा तजुर्बा है और इसे बनाने में ये लोग काफी मेहनत करते हैं। उनकी काम के प्रति ईमानदारी और मेहनत का ही नतीजा है कि AppStudioz ने दो साल के अंदर ही दुनिया भर के 260 ग्राहकों को अपने साथ जोड़ा है। जबकि 160 से ज्यादा लोग यहां पर काम कर रहे हैं। 

सौरभ का कहना है कि वो किसी भी प्रोजेक्ट को हासिल करने के लिये काफी मेहनत करते हैं और जरूरत पड़ती है तो ऐप की लागत के मैदान में भी वो दो दो हाथ करने को तैयार रहते हैं। मुख्य रूप ये कंपनी ऐप बनाने के लिए मोबाइल प्लेटफॉर्म का ही इस्तेमाल कर रही है लेकिन इन लोगों का दखल 3डी और 2डी गेम्स के साथ दूसरे क्षेत्रों में भी है। यही कारण है कि कंपनी ने अब तक 700 से ज्यादा ऐप बना लिये हैं।

AppStudioz के संस्थापक सौरभ का कहना है कि जैसे ही कोई ग्राहक उनसे सम्पर्क करता है वैसे ही ये लोग अपना काम शुरू कर देते हैं और 24 घंटे के अंदर टीम उस पर काम भी शुरू कर देती है। खास बात ये है कि ग्राहक भी इस सारी प्रक्रिया को देख सकता है। सौरभ के मुताबिक उनकी टीम काफी युवा और उसकी संरचना काफी चुस्त है। कोई भी सीनियर टीम के काम में दखल नहीं देता है। इससे टीम हमेशा फुर्ती से काम करती है। 

हालांकि इस क्षेत्र में Sourcebits बड़े खिलाड़ी के तौर पर बाजार में मौजूद है। जिसकी तारीफ सौरभ भी करते हैं उनके मुताबिक उस कंपनी ने बेहतर काम किया है यही कारण है कि वो बड़ी साफगोई से इस कंपनी को अपनी प्रेरणा भी मानते हैं।

AppStudioz की टीम
AppStudioz की टीम

देश में ऐप के विकास का बड़ा बाजार है और लोग काफी पैसा इसमें झोंक भी रहे हैं। AppStudioz का दावा है कि वो अपने दूसरे प्रतियोगियों के मुकाबले ज्यादा किफायदी दाम पर ऐप का निर्माण करता है। फिलहाल कंपनी ऐप के निर्माण के लिए 10 से 15 हजार अमेरिकी डॉलर चार्ज करती है लेकिन ये निर्भर करता है ऐप के डिजाइन और दूसरी चीजों पर इसलिए कई ऐप को बनाने में कंपनी 50 से 60 हजार डॉलर तक भी चार्ज करती है। 

AppStudioz ने अपने काम की बदौलत बड़ी तेजी से आर्थिक विकास किया है और दूसरे ही साल कंपनी की आय 2 मिलियन डॉलर तक पहुंच गई। ये कंपनी फिलहाल दिल्ली से सटे नोएडा से अपना कारोबार कर रही है। सौरभ अपनी कंपनी के भविष्य को लेकर काफी आशावादी हैं उनका कहना है कि वो इस क्षेत्र में अपने काम को बखूबी जानते हैं इसलिए आगे भी वक्त पर अपने काम को अंजाम तक पहुंचाते रहेंगे।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...