'चुनौती अभियान' जोड़ेगा बचे हुए लोगों को आधार से

106 लोगों के आधारा कार्ड जारी

0

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 100 प्रतिशत व्यस्कों की आधार संख्या सुनिश्चित करने के लिए ‘चुनौती अभियान’ शुरू किया है।

प्राधिकरण ने एक बयान में कहा कि यह अभियान 15 अक्तूबर से एक महीने तक चलेगा।

 अभी देशभर में 106.69 करोड़ आधार संख्याएं जारी की जा चुकी हैं।

इस ताजा अभियान का लक्ष्य इन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में घटती-बढ़ती जनसंख्या या बचे हुए निवासियों को आधार से जोड़ना है। अभी आंकड़ों के हिसाब से व्यस्कों को पूर्ण रूप से आधार संख्या जारी किए जाने वाले राज्यों में महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली और पंजाब शामिल हैं।

इस अभियान का लक्ष्य एक भी बचे हुए व्यक्ति को आधार से जोड़ना है। प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भूषण पांडे ने कहा, कि यह देशभर के लोगों को आधार से पूरी तरह जोड़ने का हमारा एक प्रयास है।

उधर दूसरी तरफ, रेलवे, सब्सिडी की सुविधा के दुरपयोग को रोकने के लिए रियायती टिकटों की बुकिंग के साथ आधार संख्या को जोड़ने के लिए यूआईडीएआई के साथ चर्चा करेगा। रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वित्त मंत्रालय ने रेलवे समेत विभिन्न मंत्रालयों से उन क्षेत्रों की पहचान करने के लिए कहा है जहां आधार कार्ड को जोड़ा जा सकता है।

एलपीजी सेवा और पासपोर्ट सेवा के साथ आधार कार्ड को सफल तरीके से जोड़ने के बाद सरकार ने अब रेलवे टिकट की बुकिंग पर ध्यान केंद्रित कर लिया है। रेलवे में वरिष्ठ नागरिक, रोगियों, प्रख्यात कलाकारों और खिलाड़ियों समेत विभिन्न श्रेणियों के लोग रियायती किराये की सुविधा का लाभ उठाने के पात्र हैं।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...