हिलेरी बेहतरीन राष्ट्रपति साबित होंगी : ओबामा

0

अमेरिकी राष्ट्रपति पद की डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन की व्हाइट हाउस के लिए दावेदारी को मजबूत समर्थन देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि अमेरिका का श्रेष्ठ राष्ट्रपति बनने के लिए उनके पास पूरी योग्यता है।

फ्लोरिडा में एक चुनावी रैली में ओबामा ने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि वे अमेरिका के लिए बहुत अच्छी राष्ट्रपति साबित होंगी।’’ 

हिलेरी क्लिंटन प्रथम महिला रह चुकी है, सीनेटर रह चुकी हैं। मेरे कार्यकाल में विदेश मंत्री रहते हुए, कड़े फैसले लेने के दौरान वे हमेशा मौजूद रहीं। 

हिलेरी जानती हैं, कि ये फैसले सेवानिवृत्त सैन्यकर्मियों, सैनिकों, बच्चों को जिन्हें अच्छी शिक्षा की जरूरत है, कर्मचारियों को जो अच्छी नौकरी या सम्माननीय सेवानिवृत्ति चाह रहे हैं, उन सबको किस तरह प्रभावित करते हैं। मैं आपको बताना चाहता हूं कि संकट के दौरान भी उन्होंने संयम बनाए रखा।

इन्हीं सबके बीच ओबामा ने यह भी कहा, कि चाहे कितनी भी मुश्किलें आए, चाहे लोग उन्हें कितनी भी ठेस पहुंचाने की कोशिशें करें, लोग चाहे कितना भी नीचे गिर जाएं, लेकिन वे किसी पर उंगली नहीं उठातीं। वे शिकायत भी नहीं करतीं, ना ही बड़बड़ाती हैं। वे बस जमकर मेहनत करती हैं और काम को पूरा करती हैं। 

वे वास्तव में जानती हैं कि वे किस बारे में बात कर रही हैं। उन्होंने अपना होमवर्क किया है। आपकी समस्याओं को सुलझाने के लिए वे वास्तविक योजनाओं के बारे में बात करती हैं। 

ओबामा का कहना है, कि 'यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति को चाहते हैं जो इस खतरनाक दुनिया में आपके परिवार को सुरक्षित रखे तो विकल्प एकदम साफ है। हिलेरी यह सुनिश्चित करेंगी कि हमारे सैनिक आईएसआईएल का सफाया करें। लेकिन इसके लिए वे हमारे देश में किसी भी धर्म को प्रतिबंधित नहीं करेंगी, किसी का उत्पीड़न नहीं करेंगी। दरअसल (ऐसा करके) आप हमारे शत्रुओं के लिए काम कर रहे हैं। क्योंकि हमारा लोकतंत्र इस बात पर निर्भर करता है, कि लोग अपने वोट का महत्व जानते हैं, वे जानते हैं कि जो सत्ता की कुर्सियों पर बैठते हैं, उन्हें लोगों ने ही चुना है। यहां तक कि जब आपकी पसंद का उम्मीदवार हार जाता है या जब आप खुद चुनावी दौड़ में होते हैं और हार जाते हैं तो आपको एक बड़ी तस्वीर देखनी होती है और कहना होता है कि यहां अमेरिका में हम लोकतंत्र में यकीन रखते हैं और हम लोगों की इच्छा को स्वीकार करते हैं। यदि कोई धांधली होती तो इसका नुकसान डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को उठाना पड़ता, क्योंकि चुनाव के लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण ओहायो, नॉर्थ कैरोलीना और नेवाडा जैसे राज्यों में रिपब्लिकन गवर्नर हैं।

ट्रंप के पास गुस्सा और आरोप और उलाहना के अलावा कुछ और देने के लिए नहीं है।

ओबामा ने कहा, ‘उन्होंने (ट्रंप ने) अंत में सवाल पूछा- आपके पास खोने के लिए क्या है? इसका जवाब मैं देता हूं; आपके पास खोने के लिए सबकुछ है। 

विरोध, भेदभाव करने वाली ताकतों, प्रतिघात की राजनीति के बावजूद हमने कितनी अधिक प्रगति की है। यह प्रगति मेरा कार्यकाल खत्म होने के साथ रूकती नहीं है। हम शुरूआत कर रहे हैं। 

ओबामा के शब्दों में प्रगति मतदान से जुड़ी है, शिष्टाचार मतदान से जुड़ा है, सहिष्णुता मतदान से जुड़ी है, समानता मतदान से जुड़ी है और हमारा लोकतंत्र भी मतदान से जुड़ा है।’

ट्रंप ने राष्ट्रपति पद की तीसरी एवं अंतिम बहस के दौरान यह वादा करने से इंकार कर दिया था, कि वह आठ नवंबर को होने वाले आम चुनाव के नतीजे स्वीकार करेंगे। कल उन्होंने कहा था कि यदि वह जीत जाते हैं तो नतीजों को पूरी तरह स्वीकार कर लेंगे लेकिन उन्होंने संशय पैदा करने वाला नतीजा आने पर उसे कानूनी चुनौती देने का अपना अधिकार सुरक्षित रखा।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...