....और जब फ़ैज़ फ़ज़ल के लिए दुनिया खूबसूरत हो गयी

0

पीटीआई

ज्यादातर घरेलू खिलाड़ियों की तरह 30 वर्षीय फैज फ़ज़ल ने भी अपने चयन के बारे में उम्मीद करना छोड़ दिया था, लेकिन अब उन्हें पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम में चुन लिया गया तो विदर्भ के इस क्रिकेटर को दुनिया बहुत खूबसूरत लग रही है।

फजल ब्रिटेन के डरहम में नार्थ ईस्टर्न प्रीमियर लीग में क्लब के लिये खेल रहे हैं, उन्होंने फोन पर पीटीआई से कहा, ‘‘कुछ साल पहले जब मैंने रणजी सत्र में 700 रन से ज्यादा का स्कोर बनाया था तो मुझे कुछ अच्छी खबर की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और मैं बहुत निराश था।' 

फ़ज़ल ने आगे कहा,

‘पिछले कुछ वर्षों में मैंने उम्मीद करना छोड़ दिया था क्योंकि तब आप निराश महसूस नहीं करते। आज जब मेरे पिता ने मुझे फोन किया तो मुझे अपने चारों तरफ की दुनिया इतनी खूबसूरत लगने लगी।’

 रेलवे के लिये रणजी ट्राफी खेलने वाले फजल ने कहा, ‘‘हर कोई भारत के लिए खेलने की उम्मीद करता है लेकिन हर किसी को मौका नहीं मिलता। मैं खुश हूं कि मुझे अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिल गया। कई प्रतिस्पर्धी घरेलू खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 100 से ज्यादा प्रथम श्रेणी के मैच खेल लिये हैं, लेकिन उन्हें भारतीय टीम के लिये नहीं चुना गया। मुझे देर से ही सही, मौका तो मिला। अगर मुझे खेलने का मौका मिलता है तो मुझे इसमें सफलता हासिल करनी होगी। ’’

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...