सहवाग नहीं जानते थे ‘टाइम’ पत्रिका का नाम, सचिन ने नहीं खाया था बतख़ का मास

0

पीटीआई

अमेरिका की मशहूर पत्रिका ‘टाइम’ का पत्रकार एक बार वीरेंद्र सहवाग का साक्षात्कार करना चाहता था, लेकिन भारत के इस स्टार बल्लेबाज ने शुरू में इसलिए बात करने से मना कर दिया था, क्योंकि वह उस समय नहीं जानते थे कि इस तरह की कोई पत्रिका भी निकलती है।

सहवाग ने यह खुलासा स्टैंड अप कामेडियन विक्रम साठे के कार्यक्रम ‘वाट द डक’ में किया, जिसे व्यूक्लिप के जरिये देखा जा सकता है। सहवाग ने बताया कि एक समय टाइम पत्रिका उनका इंटरव्यू करने के लिये बेताब थी, लेकिन वह इस पत्रिका के बारे में नहीं जानते थे।

सहवाग बताते हैं, ‘‘मेरे गृहनगर नजफगढ़ में टाइम मैगजीन कोई नहीं पढ़ता है।’’

यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार इस कार्यक्रम में सहवाग के अलावा सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, गौतम गंभीर, हरभजन सिंह, इरफान पठान और जहीर खान जैसे खिलाड़ियों से मैदान के किस्सों, ड्रेसिंग रूम में चलने वाले मजाक और उनकी पसंद नापसंद के बारे में बात की गयी है।

इस कार्यक्रम में सचिन तेंदुलकर ने बताया कि कैसे 1999 विश्व कप से पहले अंधविश्वास के कारण उन्होंने बतख :डक: का मांस नहीं खाया था। इरफान पठान ने अपने घर बनने वाली बिरयानी की खासियत बतायी है, तो जहीर खान ने छींटाकशी की कला कैसे सीखी इसका खुलासा किया है।