आत्मविश्वास ही आप को दूर तक लेकर जाता है

शीर्ष पर रहने के लिए GE की communication leader गरिमा वर्मा के 2 सलाह

0

गरिमा वर्मा मार्च 2011 में जीई(GE) में शामिल हुई और 4500 से अधिक इंजीनियरों और वैजानिकों के साथ जॉन एफ वेल्च टेक्नोलॉजी सेंटर, जीई का पहला और सबसे बड़ा अनुसंधान और विकास केंद्र में, संचार के सभी पहलुओं का नेतृत्व किया|

उन्होंने एकीकृत संचार नेतृत्व में 25 सालों के अनुभवों कों, कॉर्पोरेट संचार, ब्रांड निर्माण, मार्केटिंग, परिवर्तन प्रबंधन, विविधता और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी में एक साथ लायी| उन्होंने वैश्विक काम के वातावरण में व्यापर का विकास, कर्मचारी की भागीदारी और सांस्कृतिक परिवर्तन के लिए, कॉर्पोरेट संचार और लोगों के नेतृत्व में अपनी विशेषज्ञता दिखायी|

JFWTC में गरिमा, आतंरिक और बाह्य संचार, कार्यक्रम, कर्मचारी को काम पर लगाना और नेतृत्व संचार की उत्तरदायी है| वह GE के कॉर्पोरेट कल्याण कार्यक्रम, HealthAhead की आयोजक भी हैं|

GE से पूर्व, उन्होंने फिडेलिटी निवेश, माइक्रोलैंड और सन माइक्रोसिस्टम्स के संचार समारोह में नेतृत्व के पदों पर कार्य किया है| गरिमा कार्यरत वकील और पारिस्थितिकी तंत्र को प्रभावित करने वाले उद्योग की नेता भी है| उन्होनें अपना स्नातक कंप्यूटर साइंस में बिट्स पिलानी(BITS pilani) और स्नातकोतर एडवरटाइजिंग और मास कम्युनिकेशन में ज़ेवियर इंस्टिट्यूट ऑफ़ कम्युनिकेशन, मुंबई से किया|

हरस्टोरी(herstory) ने बैंगलोर में GE कैंपस में गरिमा के साथ कुछ वक्त बिताया और उनके प्रोफेशनल जीवन से दो घटनाओं के बारे में जाना जो कि अलग ही थे| उन्होंने हमें बताया कि कैसे इन घटनाओं ने देखने के नजरियें को आकर दिया और और जीई(GE) में शीर्ष पद के लिए उनका नेतृत्व किया|

तुम कहाँ से आते हो, यह मत भूलना

मैं 2004 में फिडेलिटी इन्वेस्टमेंट में थी| फिडेलिटी का मुख्य कार्यालय बोस्टन में था और मुंबई में उनकी एक टीम भी थी| मुझे याद है बोस्टन में एक सहकर्मी ने कहा कि हम भारतीय आज भी बदलने के लिए हाथियों का इस्तेमाल करते हैं| दोनों टीमों में एक-दूसरे की संस्कृति को बढानें की आवश्यकता थी तो हमनें बोस्टन के मुख्य कार्यालय में ‘India day’ मनाने का निर्णय लिया|

मुझे याद है मै अपनी यात्रा के लिए वेस्टर्न कपडें और गाउन पैक कर रही थी तो मेरी माँ ने मुझे कुछ साड़ी भी पैक करने के लिए कहा क्योंकि उनके हिसाब से यह मेरी भारतीय पहचान को प्रदर्शित करेगा| मैंने साड़ी पैक की, पर मैं साड़ी पहने लिए निश्चित नही थी|

हालाँकि, एक दिन बोस्टन में मैंने अपना माइंड बदला और साड़ी पहनी| मैं बहुत घबराई हुई थी क्योंकि उस कार्यक्रम में मैं ही भारतीय परिधान में थी| मैं 175 लोगों की भीड़ में अलग से दिखाई दे रही थी|

कार्यक्रम के बाद फिडेलिटी इन्वेस्टमेंट के सीईओ नेड जॉनसन, दुनिया के अमिर आदमियों में से एक, ने मेरे साथ डिनर पर 45 मिनट का समय गुजारा| बहुत से लोग इस अवसर के लिए मरते हैं| हमारी बातचीत उनके प्रश्न, “जो परिधान आप ने पहना है वह कौन सा है?” से शुरू हुई| उसके बाद मैंने उन्हें साड़ी के बारे में बताया और हमने भारत के वस्त्र उद्योग और संस्कृति के बारे में बात की| मैंने उन्हें साड़ी कैसे ओढ़ते है?, के बारे में बताया| उन्होंने मुझसे भारत घुमाने के लिए और भारत से साड़ी लाने को कहा| मैं खुश हूँ कि वह भारत आये और मैंने उनकी अच्छी खातिरदारी की|

कभी-कभी अवसर अपने आप आते है| बस आप को ईमानदार और सरल बनना होता है और आप को नही भुलना चाहिए कि आप कहा से आते हो| उस दिन से आज तक, मैं जहाँ भी जाती हूँ, आत्म-विश्वास के साथ भारतीयता अपने साथ ले कर चलती हूँ|

‘आप मीटिंग में अपने पहले 7 सेकंड में क्या करोगे?’

कुछ साल पहले, करियर के शुरुआत में, मेरा चीफ एग्जीक्यूटिव के साथ बहुत ही बुरा अनुभव रहा| मैं जिस आर्गेनाइजेशन के लिए काम करती थी उस के चीफ एग्जीक्यूटिव के साथ में लिफ्ट में अटक गयी| हम 7th फ्लोर पर थे, और दोनों को ग्राउंड फ्लोर में जाना था| उन्होंने मुझसे पूछा कि मैं क्या करू?, लेकिन मैं बहुत डरी और घबराई हुई थी| मैंने एक शब्द नही बोल पायी|

वह अनुभव एक बड़ा सबक था| तब से मैं अपने एलीवेटर पिच के लिए तैयार रहती हूँ| आपको पता नही कि अगली बार आप के साथ एलीवेटर में कौन होगा?

अधिकांश लोग दूसरों के बारे में पहले 7 सेकंड्स में ही धारणा बना लेते है| अगर आप के पहले 7 सेकंडस ख़राब हैं, फिर आप क्या करते हैं यह मायने नही रखता है|

मैं सभी प्रोफेशनलस, विशेष रूप से युवाओं को उनकें ‘पर्सनल एलीवेटर पिच’ पर काम करने को कहती हूँ| आप का अपने पर आत्मविश्वास ही आप को दूर तक लेकर जायेगा|

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...