कार को 'सुपर कार' बनाने के लिए ओला ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलाया हाथ

0

ओला के साथ इस पार्टनरशिप के तहत माइक्रोसॉफ्ट के माइक्रोसाफ्ट क्लाउड, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और प्रॉडक्टिविटी टूल का इस्तेमाल करेगी, ताकि ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाया जा सके और कारों के रखरखाव में सुधार हो।

ओला प्ले (फाइल फोटो)
ओला प्ले (फाइल फोटो)
इस सिस्टम से कार में बैठने का अनुभव, प्रोडक्टिविटी में सुधार, एडवांस नेविगेशन सिस्टम और मेंटेनेंस जैसी सुविधाएं मिलेंगी। इससे काफी कुछ बदलाव आएगा।

 सत्या नाडेला ओला के साथ साझेदारी करने के लिए दो दिन के लिए इंडिया आए हुए थे। भविश अग्रवाल ने इस भागीदारी की मोटी रूपरेखा सामने रखी जिसके तहत एआई एवं आईओटी जैसी नई प्रौद्योगिकी की शक्तियों का उपयोग किया जाएगा।

माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर, कैब बुकिंग सर्विस देनेवाली कंपनी ओला दुनिया भर में कार निर्माताओं के लिए एक नया कनेक्टेड व्हीकल प्लेटफॉर्म तैयार कर रही है। इस रणनीतिक साझेदारी के रूप में, ओला ने घोषणा की है कि माइक्रोसॉफ्ट उसका प्राथमिक क्लाउड प्रोवाइडर होगा। ओला प्ले के इस्तेमाल में माइक्रोसॉफ्ट ऐजर का इस्तेमाल किया जाएगा। कंपनी की मौजूदा कनेक्टेड कार प्लेटफॉर्म भी माइक्रोसॉफ्ट ही है। इसके तहत दुनियाभर के कार विनिर्माताओं के लिए अत्याधुनिक कनेक्टेड वीइकल प्लेटफॉर्म तैयार किया जाएगा।

ओला के साथ इस गठजोड़ के तहत माइक्रोसॉफ्ट के माइक्रोसाफ्ट क्लाउड, आर्टिफिशल इंटेलिजंस (एआई) एवं प्रॉडक्टिविटी टूल का इस्तेमाल करेगी ताकि ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाया जा सके और कारों के रखरखाव में सुधार हो। इस सिस्टम से कार में बैठने का अनुभव, प्रोडक्टिविटी में सुधार, एडवांस नेविगेशन सिस्टम और मेंटेनेंस जैसी सुविधाएं मिलेंगी। इससे काफी कुछ बदलाव आएगा। वाहन कंपनियों के साथ एक करने के लिए, दोनों कंपनियां वैश्विक रूप से कार निर्माताओं के लिए इस प्लेटफॉर्म को लेकर सहयोग करेंगी।

दोनों कंपनियां अपने इस ऑफर को वैश्विक स्तर पर कार मैन्युफैक्चरर्स के सामने भी रखेंगी। ओला के को फाउंडर एवं सीईओ भविश अग्रवाल ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि दोनों कंपनियों के इस तरह से साथ काम करने से विशेषकर भारत एवं अन्य देशों में भविष्य की मोबिलिटी को ओर बल मिल सकता है। उन्होंने ट्वीट किया, 'भविष्य के कनेक्टेड वीइकल प्लैटफॉर्म तैयार करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट और सत्य नडेला के साथ भागीदारी को लेकर बेहद उत्साहित हूं।'

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नाडेला ने इस साझेदारी के बारे में कहा, 'आज के जमाने की कारें काफी तेजी से कंप्यूटिंग डिवाइस की तरह बनती जा रही हैं। हम ओला के साथ अधिक इंटेलिजेंट, कनेक्टेड और प्रॉडक्टिव सर्विस देकर ग्राहकों को संतुष्ट करेंगे।' सत्या नाडेला ओला के साथ साझेदारी करने के लिए दो दिन के लिए इंडिया आए हुए थे। भविश अग्रवाल ने इस भागीदारी की मोटी रूपरेखा सामने रखी जिसके तहत एआई एवं आईओटी जैसी नई प्रौद्योगिकी की शक्तियों का उपयोग किया जाएगा।

इस गठजोड़ में माइक्रोसॉफ्ट वरीय क्लाउड प्रदाता होगा तथा उसके अजूर क्लाउड प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल ओला प्ले में भी होगा। ओला के ट्विटर हैंडल से कहा गया, कनेक्टेड वर्ल्ड को कनेक्टेड कार की जरूरत है। माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर हम भविष्य के यातायात की कल्पना कर रहे हैं। ओला प्ले के ग्राहक इस सिस्टम के जरिए ऑफिस 365, स्काइप और वॉइस असिस्टेड कंट्रोल जैसे प्रॉडक्टिव टूल का इस्तेमाल क पाएंगे। इसके लगने से कार इंटेलिजेंट व्हीकल में बदल जाएगी। इसमें स्मार्ट नेविगेशन सिस्टम, संभावित ब्रेकडाउन जैसी सुविधा भी मिलेगी।

यह भी पढ़ें: कॉर्पोरेट की नौकरी छोड़ फूड स्टाल लगाती हैं MBA राधिका

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...