जियो की पेशकश से प्रभावित हो सकती हैं दूरसंचार कंपनियां

रिलायंस जियो द्वारा अपनी मुफ्त सेवाओं की अवधि तीन महीने और बढाने से नोटबंदी की मार झेल रही मौजूदा दूरसंचार कंपनियों की पीड़ा और अधिक बढ़ने की संभावना है।

0

घरेलू रेटिंग एजेंसी इकरा ने कहा है, कि रिलायंस जियो द्वारा अपनी मुफ्त सेवाओं की अवधि तीन महीने और बढाने से मौजूदा दूरसंचार कंपनियों की पीड़ा और अधिक बढ़ जायेगी, जो कि पहले ही नोटबंदी की मार झेल रहे हैं और आने वाली दो तिमाहियों में उनकी आय का सात प्रतिशत तक घट सकता है।

फर्म ने एक बयान में कहा है, ‘बढ़ी प्रतिस्पर्धा के बीच जबकि मौजूदा कंपनियों के मार्जिन पर पहले ही दबाव है, रिलायंस जियो द्वारा अपनी नि:शुल्क सेवाओं की अवधि बढाए जाने से वायस व डेटा खंड की आय और घटेगी।’ एकरा के एसोसिएट हेड हर्ष जगनानी ने एक बयान में कहा है, कि ‘नोटबंदी से यह प्रतिकूल असर और गहराने की उम्मीद है और दूरसंचार कंपनियों की विशेषकर प्रीपेड खंड की आय प्रभावित हो सकती है।’ इसके अनुसार दूरसंचार क्षेत्र पहले ही 4.25 लाख करोड़ रुपये के ऋण के बोझ तले दबा हुआ है और रिलांयस जियो की मुफ्त सेवाओं से इसकी पीड़ा और बढ़ने वाली है, जिसके चलते इसकी आय 5.7 प्रतिशत तक घट सकती है।

उल्लेखनीय है कि रिलायंस जियो ने पांच सितंबर को अपनी 4जी सेवाओं की औपचारिक शुरुआत की और 31 दिसंबर 2016 तक डेटा सहित सारी सेवाएं मुफ्त देने की घोषणा की। कंपनी ने अब यह अवधि 31 मार्च 2017 तक कर दी है।

उधर दूसरी तरफ रिलायंस जियो ने कहा है, कि उसका 4 जी डिवाइस अब बाजार में उपलब्ध है जिसके जरिए कोई भी 2जी व 3जी स्मार्टफोन धारक उसकी सभी सेवाओं का इस्तेमाल कर सकता है। कंपनी ने एक जारी बयान के अनुसार जियोफाई 4जी पोर्टेबल वायस व डेटा डिवाइस है जो कि हाटस्पाट के रूप में काम करता है और इसके जरिए फोन काल करने के साथ साथ वीडियो कॉल व जियो के सभी एप्प का इस्तेमाल किया जा सकता है। यानी अगर ग्राहक का फोन 4जी नहीं है तो भी वह रिलायंस जियो की सभी सेवाओं का इस्तेमाल कर सकेगा।

जियोफाई में सिम लगाकार फोन को एक्टिवेट करना होता है। इसके बाद 2जी या 3जी स्मार्टफोन पर जियो 4जी वायस एप्लीकेशन डाउनलोड कर उसे जियो नेटवर्क से कनेक्ट करना होता है। 

कंपनी का कहना है कि इस डिवाइस के जरिए जियो के ग्राहक इंटरनेट, वायसकाल, वीडियोकाल व एसएमएस सहित कंपनी की विभिन्न सेवाओं का इस्तेमाल कर सकता है भले ही उसका फोन 4जी वोल्टी नहीं हो।

उल्लेखनीय है कि मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस जियो के पास देश भर में 4जी दूरसंचार सेवा उपलब्ध कराने का लाइसेंस है। कंपनी ने पांच सितंबर को अपनी सेवाओं की औपचारिक शुरआत की थी और हाल ही में घोषणा की कि उसके ग्राहकों की संख्या पांच करोड़ से अधिक हो गई है। कंपनी फिलहाल 31 मार्च 2017 तक अपनी सभी सेवाएं मुफ्त दे रही है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...