मेडिकल जांच कराने के लिए सही लैब ढूंढ़ने में मदद कर रहा यह स्टार्टअप

ऑनलाइन पोर्टल 3h Care.in डायग्नोस्टिक्स के क्षेत्र में एक अग्रणी संस्था के तौर पर उभरी है जो लोगों को तुलनात्मक मूल्य सुविधा के साथ किफायती खर्च पर बेहतरीन लैब तलाशने में मदद कर रही है...

1

हमारे देश में कई लोग जीवन के किसी न किसी दौर में गलत डायग्नोसिस का शिकार हो जाते हैं या किसी ऐसे डॉक्टर के चक्कर में पड़ जाते हैं जो उनके लक्षणों को लेकर उन्हें डरा देते हैं। रोगों के लक्षण तो सही चिकित्सा से दूर किए जा सकते हैं लेकिन गलत डायग्नोसिस जीवन पर भारी पड़ सकता है।

3h Care.in की फाउंडर रुचि गुप्ता
3h Care.in की फाउंडर रुचि गुप्ता
 इस पोर्टल के जरिये लैब तक जाकर अपॉइनमेंट लेने और अपनी बारी आने का इंतजार करने या रिपोर्ट प्राप्त करने की जरूरत खत्म हो गई है, बल्कि जांच की रिपोर्ट भी आपको मेल द्वारा ही भेज दी जाती है।

अगर आपको कुछ टेस्ट कराने की सलाह दी गई है और आप नए सिरे से अपनी नियमित दिनचर्या शुरू करने को लेकर पहले से घबराए रहते हैं तो लंबी कतार में इंतजार करने के बारे में सोचकर ही आप विचलित हो सकते हैं। जब आप किसी ऐसे डायग्नोस्टिक सेंटर पर जाते हैं जहां आपको संबंधित टेस्ट कराने की सुविधा ही नहीं मिल पाती है तो आप क्या करेंगे? आपको उक्त टेस्ट कराने के लिए फिर से उचित डायग्नोस्टिक सेंटर की तलाश करनी पड़ेगी और अपना कीमती वीकेंड जाया करना पड़ जाएगा।

3h Care.in की संस्थापक और सीईओ डॉ. रुचि गुप्ता के मुताबिक, मनमाफिक क्षेत्र में बेहतरीन डायग्नोस्टिक सेंटर ढूंढ़ना अब आसान हो गया है। ऑनलाइन पोर्टल 3h Care.in डायग्नोस्टिक्स के क्षेत्र में एक अग्रणी संस्था के तौर पर उभरी है जो लोगों को तुलनात्मक मूल्य सुविधा के साथ किफायती खर्च पर बेहतरीन लैब तलाशने में मदद कर रही है और उन्हें कतार में इंतजार करने के झंझट से मुक्ति दिला रही है। ऑनलाइन रहते हुए कोई भी व्यक्ति और हर कोई एक ही क्लिक से देश के हजारों लैब में किसी एक पसंदीदा लैब का चयन कर सकता है। एक ही छत 3h Care.in के नीचे निम्नलिखित विशेषताओं वाली लैब की तलाश की जा सकती हैः

अत्यंत विश्वसनीय

चूंकि डॉक्टर का इलाज पूरी तरह से लैब टेस्ट के परिणामों पर निर्भर करता है इसलिए डायग्नोस्टिक लैब द्वारा दिए गए परिणामों की विश्वसनीयता सबसे महत्वपूर्ण होती है। डायग्नोस्टिक लैब्स की मान्यता समेत संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराते हुए ऑनलाइन पोर्टल ने डायग्नोसिस कराने वाले मरीजों के लिए एक अनुकूल क्षेत्र तैयार किया है। यहां तक कि सुरक्षात्मक हेल्थ चेकअप कराने वाले लोगों की तादाद भी 3h Care.in के आने के बाद से बढ़ी है जो मरीजों और टेस्टिंग लैब के बीच की खाई को मिटाते हुए लोगों तक पहुंच बनाने और उनमें जागरूकता पैदा करने वाली एकमात्र संस्था बन गई है।

मनपसंद जगह जांच कराएं

महानगरों में ज्यादातर लोग कामकाजी होते हैं जिस कारण उन्हें मनपसंद जगह पर हेल्थ चेकअप कराने का वक्त बमुश्किल मिल पाता है। अपनी पसंद के मुताबिक समय और अपने क्षेत्र का चयन करते हुए जांच कराने का कार्यक्रम निर्धारित करने के लिए उपलब्ध इस ऑनलाइन टेक्नोलॉजी का बहुत सारे लोगों ने लाभ उठाया है। इसमें खर्च पारदर्शिता एक प्रमुख विशेषता है जो आपको सबसे किफायती मूल्य से वाकिफ करती है और सभी डायग्नोस्टिक लैब्स के ऑफर इसमें बताए जाते हैं।

सभी के लिए आसान पहुंच

बुजुर्गों के लिए आम तौर पर खाली पेट जांच कराने के लिए सुबह-सुबह डायग्नोस्टिक सेंटर तक जाना मुश्किल हो जाता है। इस पोर्टल के जरिये लैब तक जाकर अपॉइनमेंट लेने और अपनी बारी आने का इंतजार करने या रिपोर्ट प्राप्त करने की जरूरत खत्म हो गई है, बल्कि जांच की रिपोर्ट भी आपको मेल द्वारा ही भेज दी जाती है। यह वेबसाइट आपको एक ही जगह आसान पहुंच और भविष्य में परामर्श के लिए आपके संपूर्ण डाटा को संग्रहित रखने की सुविधा भी देती है।

सर्वश्रेष्ठ डायग्नोस्टिक सेंटर चुनते वक्त निम्नलिखित पहलुओं को ध्यान में रखने की जरूरत हैः

अनुभव और दक्षताः लैब में ढूंढी जाने वाली यह सबसे महत्वपूर्ण विशेषताओं में से एक है। अनुभवी मेडिकल प्रैक्टिसनर और कुशल टेक्निकल टीम होने के कारण जांच के सटीक नतीजे मिलते हैं। पैथोलॉजिस्ट को चिकित्सा विशेषज्ञता से भी बखूबी वाकिफ होना चाहिए और खुद भी कुशल होना चाहिए। डायग्नोस्टिक क्लिनिक के साथ संबंध विकसित करने के लिए ग्राहकों पर ध्यान देना महत्वपूर्ण होता है।

रिपोर्ट एकत्रित करने की कुशलताः यह बहुत जरूरी होता है कि बिना किसी त्रुटि के टेस्ट रिपोर्ट होनी चाहिए क्योंकि गलत इलाज का बहुत गंभीर परिणाम हो सकता है। लैब में उपलब्ध सभी उपकरण दुरुस्त होने चाहिए।

रिपोर्ट की समयबद्धता: रिपोर्ट सही समय पर तैयार होना चाहिए। रिपोर्ट देने में देरी से डायग्नोसिस में देर होती है जिससे कई बार गंभीर परेशानियां या कुछ मामलों में तो मौत भी हो सकती है।

इस्तेमाल होने वाली टेक्नोलॉजी और प्रोटोकॉल सभी टेस्ट लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से कराए जाने चाहिए क्योंकि इसी आधार पर उच्च क्वालिटी की और सटीक डायग्नोस्टिक सेवाएं मिल सकती हैं। जांच शुल्क यथोचित होना चाहिए ताकि प्रत्येक आय सीमा वाले लोग यह सेवा प्राप्त कर सकें। डायग्नोस्टिक टेस्ट में किसी तरह की मानवीय भूल की जगह नहीं होती है। डायग्नोस्टिक सेंटर को हाइजीन, साफ-सफाई और व्यवस्थित डॉक्यूमेंटेशन के लिए अंतरराष्ट्रीय मानकों और प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए।

स्वास्थ की सबसे अच्छे तरीके से देखभाल करने की जरूरत होती है और इस तरह की खासियत होने का मकसद लोगों को सबसे अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं और सुविधाएं प्राप्त करने में मदद करना होता है। यह पोर्टल कॉल, चैट और मेल के जरिये अलग-अलग मानदंडों पर निर्णय लेने की क्षमता भी मुहैया कराता है। बहुत कम लोगों को अलग-अलग सेंटरों द्वारा बेहतरीन सेवा के साथ होम कलेक्शन सेवा के बारे में जानकारी होती है। भारत में पहली बार यह आॅनलाइन हेल्थ पोर्टल लोगों को क्या, कहां, कब या कैसे टेस्ट कराने की संपूर्ण जानकारी मुहैया कराता है, ग्राहकों की प्रतिक्रिया लेता है और एक मिनट से भी कम समय में जांच के लिए बुकिंग समाधान करता है। भारतीय लोगों के समक्ष आने वाली चुनौतियों को दूर करते हुए 3h Care.in स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र की समस्त जरूरी सुविधाएं मुहैया कराता है। 

यह भी पढ़ें: खोए हुए बच्चों का पता लगाने के लिए ‘रीयूनाईट’ एप हुआ लांच

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी