तो क्या वीडियो गेम खेलने वाले ज्यादा बुद्धिमान होते हैं?

0

मल्टीमीडिया और वीडियो गेम खेलने वालों में आमतौर पर ये टेंडेंसी देखी गई है कि वो एक अजीब तरह की सनक के साथ अपने खेल में लीन रहते हैं। वो इतना एकाग्रचित्त होकर खेलते हैं, मानों ध्यानमग्न हों। जब कोई काम इतना ध्यानपूर्वक किया जा रहा हो तो उसमें बेहतर परफॉर्मेंस बढ़ ही जाती है। तेजी से भागती गेम्स की गतिविधियों को हल करने के लिए एक तेज दिमाग की जरूरत होती है।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
तो क्या वीडियो गेम खेलने वाले लोग वाकई आईक्यू से भी तेज होते हैं? इसी सवाले के जवाब में यूनिवर्सिटी ऑफ़ यॉर्क के शोधकर्ताओं ने दो लोकप्रिय वीडियो गेम और बुद्धिमानियों के उच्च स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने के लिए युवा लोगों के बीच एक कड़ी की खोज की है।

न्यूयॉर्क में डिजिटल रचनात्मकता लैब (डीसी लैब्स) में किए गए अध्ययनों में पाया गया कि कुछ एक्शन स्ट्रेंथिव वीडियो गेम्स आईक्यू टेस्ट जैसी कार्य कर सकते हैं। शोधकर्ताओं के निष्कर्ष पत्रिका पीएलओएस वन में प्रकाशित किए गए हैं। न्यूयॉर्क के शोधकर्ताओं ने जोर दिया है कि कंप्यूटर गेम खेलने वाले युवा चतुर हैं या नहीं। वे कुछ ऑनलाइन गेम में रणनीति और बुद्धि के कौशल के बीच एक संबंध स्थापित करते हैं।

मल्टीमीडिया और वीडियो गेम खेलने वालों में आमतौर पर ये टेंडेंसी देखी गई है कि वो एक अजीब तरह की सनक के साथ अपने खेल में लीन रहते हैं। वो इतना एकाग्रचित्त होकर खेलते हैं, मानों ध्यानमग्न हों। जब कोई काम इतना ध्यानपूर्वक किया जा रहा हो तो उसमें बेहतर परफॉर्मेंस बढ़ ही जाती है। तेजी से भागती गेम्स की गतिविधियों को हल करने के लिए एक तेज दिमाग की जरूरत होती है। तो क्या वीडियो गेम खेलने वाले लोग वाकई आईक्यू से भी तेज होते हैं? 

इसी सवाले के जवाब में यूनिवर्सिटी ऑफ़ यॉर्क के शोधकर्ताओं ने दो लोकप्रिय वीडियो गेम और बुद्धिमानियों के उच्च स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने के लिए युवा लोगों के बीच एक कड़ी की खोज की है। न्यूयॉर्क में डिजिटल रचनात्मकता लैब (डीसी लैब्स) में किए गए अध्ययनों में पाया गया कि कुछ एक्शन स्ट्रेंथिव वीडियो गेम्स आईक्यू टेस्ट जैसी कार्य कर सकते हैं। शोधकर्ताओं के निष्कर्ष पत्रिका पीएलओएस वन में प्रकाशित किए गए हैं। न्यूयॉर्क के शोधकर्ताओं ने जोर दिया है कि कंप्यूटर गेम खेलने वाले युवा चतुर हैं या नहीं। वे कुछ ऑनलाइन गेम में रणनीति और बुद्धि के कौशल के बीच एक संबंध स्थापित करते हैं।

शोधकर्ताओं ने 'मल्टीप्लेयर ऑनलाइन बैटल एरेनाज' (एमओबीए) पर ध्यान केंद्रित किया। एक्शन स्ट्रक्चर गेम्स जो आम तौर पर पांच व्यक्तियों के दो विरोधी टीमों के साथ-साथ मल्टीप्लेयर 'फर्स्ट प्रेसिजन शूटर' गेम्स भी शामिल करते हैं। इन प्रकार के खेल दुनिया भर के सैकड़ों लाख खिलाड़ियों के बीच बेहद लोकप्रिय हैं। यॉर्क के मनोविज्ञान और कंप्यूटर विज्ञान विभाग ने दो अध्ययन किए सबसे पहले उन विषयों का एक समूह की जांच की गई जो एमओबीए लीग ऑफ लीजेंड्स में बेहद अनुभवी थे। लाखों खिलाड़ियों के लिए ये सबसे लोकप्रिय रणनीतिक वीडियो गेम में से एक थे। इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने सामरिक गेम लीग ऑफ लीजेंड्स और मानक पेपर और पेंसिल इंटेलिजेंस टेस्ट में प्रदर्शन के बीच एक संबंध देखा। दूसरे अध्ययन में चार खेलों के बड़े डाटासेट्स का विश्लेषण किया गया: एमओबीए (लीग ऑफ लीग्स एंड डिफेंस ऑफ द एजेंट्स 2 (डीओटीए 2) और दो 'फर्स्ट पर्सन नेमर्स' (डेस्टिनी और युद्धक्षेत्र)। पहले व्यक्ति निशानेबाजों (एफपीएस) दुश्मन और अन्य लक्ष्यों के साथ, खिलाड़ी को उस क्रिया को देखते हुए जैसे कि वे चरित्र को नियंत्रित कर रहे हैं।

डीसी लैब्स के निदेशक और न्यूयॉर्क में आईजीजीआई कार्यक्रम में सह लेखक प्रोफेसर पीटर कालिंग के मुताबिक, इस अत्याधुनिक अनुसंधान से खेल और रचनात्मक उद्योगों के भविष्य पर पर्याप्त प्रभाव पड़ने की क्षमता है। इससे खेलों के लिए एक उपकरण के रूप में स्वास्थ्य और मनोविज्ञान में अनुसंधान आगे बढ़ेंगे। आईजीजीआई कार्यक्रम में 48 उत्कृष्ट पीएचडी छात्र उद्योग के साथ और विषयों के साथ काम कर रहे हैं।कौशल और खुफिया के बीच इस संबंध में ये खोज एक नया डेटा स्रोत खोलता है। 

ईपीएसआरसी सेंटर फॉर इंटेलिजेंट गेम्स और गेम इंटेलिजेंस (आईजीजीआई) के साथ एक पीएचडी छात्र एथनेसियस कोककिनिकिस, जो कि न्यूयॉर्क में शोध कार्यक्रम, अध्ययन में प्रमुख लेखक भी हैं, के मुताबिक, फर्स्ट पर्सन शूटर (एफपीएस) खेल के विपरीत, जहां गति और लक्ष्य सटीकता एक प्राथमिकता है, मल्टीप्लेयर ऑनलाइन बैलेंस एरेनाज, स्मृति और रणनीतिक फैसले जैसे कई कारकों पर एक साथ ध्यान देते हैं। शायद इन कारणों के लिए हमें एमओबीए में कौशल और खुफिया के बीच एक मजबूत सहसंबंध मिला।इस दूसरे अध्ययन में, उन्होंने पाया कि हजारों खिलाड़ियों वाले बड़े समूहों के लिए, एमओबीए और आईक्यू प्रदर्शन में समान तरीके से व्यवहार करते हैं।शोधकर्ताओं का कहना है कि लीग ऑफ लीजेंड्स और डिफेंस ऑफ एजेंट्स 2 (डीओटीए 2) और एक उच्च बुद्धि जैसी एक्शन स्ट्रैटेजी वीडियो गेम में क्षमता के बीच के संबंध, शतरंज जैसे अन्य पारंपरिक रणनीतिक खेलों में देखा जाने वाला संबंध है। 

यूनिवर्सिटी ऑफ साइकोलॉजी और डिजिटल क्रिएटिविटी लैब के यूनिवर्सिटी ऑफ यूनिवर्सिटी के इसी लेखक प्रोफेसर एलेक्स वैड के मुताबिक, लीग ऑफ़ लीजेंड्स और डीओटीए 2 जैसी गेम जटिल, सामाजिक रूप से-इंटरैक्टिव और बौद्धिक रूप से सामर्थ्य की मांग करते हैं। हमारा शोध बताता है कि इन खेलों में आपका प्रदर्शन आपकी बुद्धि को दर्शाता है। अतीत में हुए अनुसंधानों ने इस तथ्य की ओर इशारा किया है कि शतरंज जैसे रणनीतियों के खेल में जो लोग अच्छे हैं, वो ही आईक्यू परीक्षणों में अत्यधिक अंक प्राप्त करते हैं। हमारे शोध ने बताया है कि मल्टीमीडिया गेम खेलने वाले लोग भी काफी बुद्धिमान होते हैं। पूरे ग्रह में लाखों लोग हर दिन ये गेम खेलते हैं।

ये भी पढ़ें: कठिन मानसिक हालातों में दिमाग कैसे करता है काम ?

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी