रेल दुर्घटनाओं पर लगेगी रोक

आईआईटी खड़गपुर ने किया एक नये उपकरण का विकास किया।

0

रेल यात्रा को सुरक्षित बनाने के लक्ष्य के साथ आईआईटी खड़गपुर के वैज्ञानिकों ने इलेक्ट्रॉनिक रेलवे इंटरलॉकिंग प्रणाली के लिए एक नये उपकरण का सफल परीक्षण किया, जो ट्रेनों को एक-दूसरे से टकराने से रोकता है।

भारतीय रेलवे के अनुसंधान, डिजाइन और मानक संगठन (आरडीएसओ) एवं सेवा सुधार समूह (एसआईजी) के साथ मिलकर संस्थान के कंप्यूटर विज्ञान और अभियांत्रिकी विभाग ने इस टूल सूट का विकास किया है।

परियोजना के प्रमुख अनुसंधानकर्ता प्रोफेसर पल्लव दासगुप्ता ने कहा है, कि इंटरलॉकिंग प्रणाली के एप्लिकेशन लॉजिक में चूक के भयावह परिणाम हो सकते हैं, इस उपकरण के विकास से इस तरह की चूक को कम करने में मदद मिलेगी।

इस उपकरण का पहले ही कई रेलवे यार्ड में सफल परीक्षण किया जा चुका है।

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि अब आगे इस परियोजना को लेकर और अध्ययन किया जायेगा और यातायात परिचालन योजना की अधिकतम सफलता और आपात स्थिति में वैकल्पिक योजना का विकास किया जायेगा।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...