‘स्वयं’ एप से दस भाषाओं में 500 से अधिक कोर्स मुफ्त उपलब्ध कराएगी सरकार

0


केंद्र सरकार इस वर्ष ‘स्वयं ’ नामक एप के जरिए दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम के तहत दस भाषाओं में 500 से अधिक कोर्स छात्रों को उपलब्ध करवाएगी।

मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान सदस्यों के सवालों के जवाब में बताया, 

"मुक्त दूरस्थ शिक्षा को तकनीक से जोड़ते हुए केंद्र सरकार ने इस वर्ष ‘स्वंय’ एप के जरिए छात्रों को 500 से अधिक कोर्स उपलब्ध करवाने का फैसला किया है।" 

उन्होंने बताया कि स्वयं नामक इस एप में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान , राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान और अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों के जरिए कोर्सो को विकसित किया जाएगा।उन्होंने साथ ही बताया कि 500 से अधिक ये सभी कोर्स छात्रों को मुफ्त मुहैया कराए जाएंगे और शिक्षा के क्षेत्र में जिस क्रांति की उम्मीद की जा रही है वह इससे संभव होगी।


उन्होंने कहा कि दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम की समीक्षा एक सतत प्रक्रिया है और वर्ष 2014 में पूर्ववर्ती संप्रग सरकार ने इसे इग्नू से हटाकर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के साथ जोड़ दिया था। इस क्षेत्र को लेकर कुछ आत्मचिंतन की जरूरत है तथा सरकार यूजीसी के साथ इस दिशा में काम कर रही है।

भारतीय शिक्षा के स्तर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे निचले दर्जे का बताए जाने संबंधी राजद सदस्य पप्पू यादव की बात को पूरी तरह खारिज करते हुए मंत्री ने कहा कि बहुत से छात्र और शिक्षक ऐसे हुए हैं जिन्होंने अपने काम से अंतरराष्ट्रीय शिक्षा जगत में ख्याति पायी है। ऐसे में यह कहना अनुचित है कि भारतीय शिक्षा विश्व स्तर में निचले दर्जे की है।

हालांकि स्मृति ईरानी ने इस बात से सहमति जतायी कि भारतीय शिक्षा क्षेत्र में पाठ्यक्रमों के उन्नयन की जरूरत है। उन्होंने बताया कि इसके लिए मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ बातचीत चल रही है।


पीटीआई

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...