'जैन सॉफ्टवेयर फाउंडेशन' को मिला मध्य भारत की सबसे तेजी से बढ़ने वाली आईटी कंपनी का पुरस्कार

जैन सॉफ्टवेर डेवलपर एक ऐसी कंपनी है, जो साइबर सिक्योरिटी को लेकर कई तरह के सामाजिक कार्यों की मुहीम में अपनी सहभागिता निभाती है।

0

जैन सॉफ्टवेर डेवलपर एक ऐसी कंपनी है, जो साइबर सिक्योरिटी को लेकर कई तरह के सामाजिक कार्यों की मुहीम में अपनी सहभागिता निभाती है। कम्पनी की इस सहभागिता को ध्यान में रख कर ही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जैन सॉफ्टवेर डेवलपर साइबर सिक्योरिटी के साथ-साथ सॉफ्टवेयर एवं वेब डेवलपमेंट में उत्कृष्ट कार्य के लिए मध्य भारत की सबसे तेजी से बढ़ने वाली IT कंपनी का पुरस्कार जैन सॉफ्टवेर फाउंडेशन के सीइओ सोहिल जैन को दिया है। 

जैन सॉफ्टवेर फाउंडेशन के सीइओ सोहिल जैन, छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से पुरस्कार ग्रहण करते हुए
जैन सॉफ्टवेर फाउंडेशन के सीइओ सोहिल जैन, छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से पुरस्कार ग्रहण करते हुए
जैन सॉफ्टवेयर फाउंडेशन युवाओं को अपनी प्रतिभा को निखारने के लिए हमेशा एक सुनहरा अवसर प्रदान करती है और साथ ही मेधावी छात्रों को आर्थिक सहयोग देती है।

जैन सॉफ्टवेर फाउंडेशन के सीईओ सोहिल जैन मध्य भारत के सबसे युवा सीईओ हैं। सोहिल लंबे समय तक गूगल में कार्यरत रहे और जब उन्हें लगा कि अब वह समाज से जुड़कर कुछ करना चाहते हैं, तो उन्होंने जैन फाउंडेशन नाम की एक सॉफ्टवेयर कंपनी खोल दी। इस कंपनी के अंतर्गत वे कई ऐसे काम करते हैं, जो सामाजिक परिवेश में सुधार की श्रेणी में रखे जाते हैं। सोहिल ने अपनी आईआईटी मुंबई की मास्टर्स डिग्री को ज़ाया नहीं जाने दिया और कुछ ऐसा कर दिखाया, जैसा कि वे करना चाहते थे। 

जैन सॉफ्टवेयर फाउंडेशन कंपनी पिछले 5 साल से काम कर रही है। इनकी टीम वेबसाइट्स में सबसे अच्छी आईटी परियोजनाओं, सॉफ्टवेयर, एंड्रॉयड के साथ-साथ आईओएस मुहैया कराने के लिए पूरी तरह से तत्पर है।

यह कंपनी सरकारिक तौर पर ही नहीं बल्कि गैर सरकारी संगठनों के साथ मिलकर भी काम करती है। कंपनी संगठनों की व्यापारिक ज़रूरतों को ध्यान में रखकर इनकी आवश्यकतानुसार उत्पाद उपलब्ध करवाती है। कंपनी के सीईओ सोहिल का कहना है, कि 'हम चाहते हैं समाज के हर हिस्से में हमारे अभियान से लाभ प्राप्त हो। डिजिटलीकरण के माध्यम से समाज की भलाई करना ही हमारा पहला उद्देश्य है।हम नियमित सामाजिक दायित्व के साथ-साथ अधिक से अधिक सामाजिक गतिविधियों के लिए अपनी सेवा और जिम्मेदारियों को हमेशा जारी रखेंगे।'