दाम कम और वाई-फाई सबके लिए हर पल, ‘Wingage’

मुंबई में संचालित हो रहा है ‘Wingage’जनवरी, 2015 में शुरू हुई ‘Wingage’5 लाख रुपये से की शुरूआतअसाधारण कीमत में कई फीचर देता है ‘Wingage’

0

इंटरनेट वो जरिया है जिसके कारण दुनिया बहुत तेजी से सिमटती जा रही है। यही वजह है कि फ्री वाई-फाई अब प्रचलित शब्द बनते जा रहा है। वाई-फाई हॉटस्पॉट सेवा रेस्टोरेंट, कॉफी शॉप, जिम और बुक स्टोर के लिए अब आम हो गई है। हालांकि इस सेवा को देने के लिए रिटेल इंडस्ट्री को सार्वजनिक वाई-फाई प्रबंधन प्रणाली का इस्तेमाल करना पड़ता है। जिसका इस्तेमाल और देखरेख काफी खर्चीला है। पर्याप्त प्रोत्साहन की कमी के बावजूद रिटेल कोरोबारी फ्री वाई-फाई की सुविधा अपने ग्राहकों को देते हैं।

‘Wingage’ टीम के सदस्य
‘Wingage’ टीम के सदस्य

इन्ही दिक्कतों को देखते हुए विशाल चौधरी और अनुराग छविकर ने रिटेल कारोबारियों के लिए वाई-फाई पर आधारित इनोवेटिव सलूशन का विकास किया और इसका नाम रखा ‘Wingage’। इन लोगों ने सार्वजनिक वाई-फाई प्रबंधन प्रणाली के तहत रिटेल कारोबारी, कस्टमर डाटा और सोशल मीडिया को आपस में जोड़ने की कोशिश की। ये क्लॉउड आधारित प्लग एन प्ले पब्लिक वाई-फाई सिस्टम है। इसकी मदद से कोई भी रिटेल कारोबारी अपने परिसर में सार्वजनिक वाई-फाई की सुविधा बिना किसी दिक्कत या झंझट के लगा सकता है। इसके लिए उसे ज्यादा दाम भी नहीं चुकाने पड़ते। इस सुविधा में सुरक्षा संबंधी सरकार की गाइडलाइन का पूरा ध्यान भी रखा जाता है।

कंपनी के सह-संस्थापक और ‘Wingage’ के सीईओ विशाल चौधरी का कहना है कि उन्होने सोशल मीडिया लॉग इन के जरिये वाई-फाई लॉग इन प्रक्रिया को जोड़ा है। जहां पर ग्राहक वाई फाई की सेवा पाने के लिए सोशल मीडिया के पेज को ना सिर्फ लाइक कर सकता है बल्कि उसको फॉलो भी कर सकता है। इस प्रक्रिया में खास ग्राहकों का डाटा इनके वेब पोर्टल में जमा हो जाता है और रिटेल कारोबार में इस डाटा का इस्तेमाल कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट के लिए होता है। इस प्रक्रिया से सोशल मीडिया में कारोबारियों की मुफ्त में पब्लिसिटी होती है। जिसका प्रमोशन ग्राहक करते हैं।

फिलहाल मुंबई के 20 अलग अलग स्थानों में ‘Wingage’ मौजूद है। इनके पास फिलहाल 11 ग्राहक हैं। इन ग्राहकों में DiBellaCoffee, Moshes Cafe, Tea Trails और iThink Fitness शामिल हैं। दिसंबर, 2013 में दोनों सह-संस्थापकों एड-स्पान्सर फ्री वाई फाई सेवा की शुरूआत की थी। जहां पर ग्राहक फ्री-वाईफाई के लिए वीडियो एड देखना पड़ता था। ये एक दोतरफा बिजनेस मॉडल था। जहां पर विज्ञापन के जरिये आय होती है लेकिन इसमें आय की स्थिरता नहीं होने के कारण दोनों ने संस्थापकों ने ये काम कुछ ही महिनों में बंद कर दिया।

जनवरी, 2015 में 5 लाख रुपये के शुरूआती निवेश के साथ कंपनी ने फ्री वाई-फाई सेवा को एक बार फिर शुरू किया। इस बार से SAAS मॉडल पर आधारित बिजनेस मॉडल था। इस बिजनेस मॉडल के तहत हर महिने तय आमदनी होती ही है। साथ ही वाई-फाई की लागत को कम करता है, ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों को ये अपने साथ जोड़ता है और ग्राहकों का डाटा इकट्ठा करने में ये मददगार साबित होता है। विशाल कैफे एंड रेस्टोरेंट के मालिक के मुताबिक वो वाई-फाई में आने वाली लागत के बोझ से बच गए हैं।

हालांकि इस क्षेत्र में बड़े खिलाड़ियों की भरमार है जैसे सिस्को, एयरटेल, रिलायंस जीओ इत्यादी। लेकिन काफी समय तक इन लोगों के एकाधिकार को अब स्टार्टअप भी चुनौती देने लगे हैं। जैसे Bhaifi, Whizz और ‘Wingage’। ‘Wingage’ ने भले ही हाल में इस क्षेत्र में दखल दिया हो लेकिन कई नये फीचर और असाधारण कीमतों ने इसको अलग पहचान दी है।

BhaiFi वाई-फाई हॉटस्पॉट सेवा कैफे, गेस्ट हाउस और रेस्टोरेंट में देता है। इसके लिए कारोबारियों को विशेष प्रकार का राउटर खरीदना पड़ता है जिसमें BhaiFi का सॉफ्टवेयर इंस्टॉल होता है। वहीं ‘Wingage’ का दावा है कि फीचर के मामले में उसके पास प्रतिस्पर्धात्मक लाभ की स्थिति है। कंपनी के सह-संस्थापक विशाल का कहना है कि उनकी अनूठी सुविधाएं और प्राइस मॉडल बाजार में उनको मजबूत प्रतियोगी के तौर पर स्थापित करता है। अब इन लोगों की योजना कुछ नये उत्पाद बाजार में उतारने की है। जिसमें ऐप आधारित वाई-फाई सेटअप, इन स्टोर वाई-फाई लोकेशन की खोज, मनोरंजन के लिए ऑफलाइन वाई-फाई, ई-लर्निंग के लिए ऑपलाइन वाई-फाई की सुविधा शामिल है।