काशी के अस्सी घाट पर हॉट एयर बैलून से कीजिए सुबह-ए-बनारस का दीदार

0

बनारस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र भी है और इसलिए वहां एडवेंचरऔर इको टूरिज्‍म को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन विभाग ने असिस्‍टेंस इंडिया एजेंसी के साथ समझौता कर हॉट एयर बलून फेस्टिवल का आयोजन किया है। 

काशी का अस्सी और उड़ता बलून
काशी का अस्सी और उड़ता बलून
बलून पर जाकर बनारस का दीदार करने के लिए पर्यटकों को 500 रुपये खर्च करने होंगे। अब लोगआसमान से भी बनारस को देखने का आनंद उठा सकेंगे।

बनारस में जिस बलून की सेवाएं शुरू की गई हैं वो टीथर्ड बलून है, जो एक स्‍थान पर ही बंधे रहकर पांच लोगों को लेकर सौ फीट की ऊंचाई तक जाता है। 

अगर आप धार्मिक नगरी वाराणसी घूमने की योजना बना रहे हैं तो आपके लिए एक खुशखबरी है। वहां पर अब हॉट एयर बलून की भी सेवा शुरू कर दी गई है। उत्तर प्रदेश में बनारस एकमात्र ऐसा जिला है जहां पर यह सेवा शुरू की गई है। इसका ट्रायल भी सफलतापूर्वक कर लिया गया है। पर्यटन मंत्रालय के सहयोग से पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) के तहत यह सेवा शुरू की गई है। सबसे हल्की मानी जाने वाली हीलियम गैस से उड़ान भरने वाला बलून बैलून तीस वर्ग मीटर के दायरे में पांच सौ फुट की ऊंचाई तक जाएगा। इसमें सैलानियों के साथ नियंत्रण के लिए पायलट रहेगा। प्‍लान के मुताबिक सारनाथ और अस्‍सी घाट को एयर बैलूनिंग स्‍टेशन के लिए चयनित किया गया है।

बनारस में पर्यटन विभाग के सहायक पर्यटन अधिकारी विकास नारायण ने नवभारत टाइम्स को बताया कि एडवेंचर (रोमांचक) और इको टूरिज्‍म को बढ़ावा देने के लिए विभाग ने असिस्‍टेंस इंडिया एजेंसी के साथ समझौता किया है। इसके ट्रायल के लिए एयर ट्रैफिक कंट्रोल से मंजूरी भी ली जा चुकी है। ट्रायल में हॉट बैलून को 100 फीट ऊंचाई तक उड़ाया जाएगा, लेकिन वह स्थिर रहेगा। इस ऊंचाई से पूरा बनारस देखा जा सकेगा। बैलून में एक साथ पांच लोग बैठ सकेंगे। दस दिनों में परिणाम सामने आने पर उस अनुसार इसे फ्लोटिंग करने की तैयारी की जाएगी।

दुनिया के सबसे पुराने शहरों में से एक और सनातन धर्म के बड़े तीर्थ काशी में हॉट एयर बैलून सेवा 24 दिसम्‍बर को अस्‍सी घाट पर बने सुबह-ए-बनारस के मंच के नीचे से शुरू की जानी थी, लेकिन उस दिन तेज हवाओं के चलते ऐसा नहीं हो पाया। आपको बता दें कि बलून पर जाकर बनारस का दीदार करने के लिए पर्यटकों को 500 रुपये खर्च करने होंगे। अब लोगआसमान से भी बनारस को देखने का आनंद उठा सकेंगे।

दरअसल बनारस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र भी है और इसलिए वहां एडवेंचरऔर इको टूरिज्‍म को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन विभाग ने असिस्‍टेंस इंडिया एजेंसी के साथ समझौता कर हॉट एयर बलून फेस्टिवल का आयोजन किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस अस्‍सी घाट पर फावड़ा चलाकर स्‍वच्‍छता मिशन का श्रीगणेश किया था वहां फेस्टिवल में लोगों की भारी भीड़ जुटी। 100 फीट की ऊंचाई पर उड़ते रंग-बिरंगे हॉट एयर बलून ने हर किसी को आकर्षित किया।

बनारस में जिस बलून की सेवाएं शुरू की गई हैं वो टीथर्ड बलून है, जो एक स्‍थान पर ही बंधे रहकर पांच लोगों को लेकर सौ फीट की ऊंचाई तक जाता है। करीब दस मिनट रूकने के बाद फिर नीचे आता है। हॉट एयर बलूनिंग का संचालन करने वाली एजेंसी अस्टिेंस इंडिया के सुनील शर्मा ने बताया कि 20 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ज्‍यादा तेज हवा चलने पर गुब्‍बारा उड़ नहीं सकता है। इसलिए पहले दिन इसकी उड़ान सफल नहीं हो पाई थी।

यह भी पढ़ें: रहस्यमय हालत में पति के लापता होने के बाद शिल्पा ने बोलेरो पर खोला चलता फिरता रेस्टोरेंट

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...