भारतीयों को यौन तंदुरुस्ती से संबंधित उत्पादों के प्रति जागरुक करते Ohmysecrerts.com

विनोद रेड्डी ने अगस्त 2013 में यौन उत्पादों को भारतीय उपभोक्ताओं तक पहुंचाने के लिये शुरू की थी यह आॅनलाइन सेवाइस ई-काॅमर्स आधारित वेबसाइट पर 50 रुपये से लेकर 15 हजार रुपये तक के उत्पाद हैं उपलब्धवर्ष 2020 तक इन यौन उत्पादों का बाजार 9 हजार करोड़ रुपये से अधिक के होने का है अनुमानफिलहाल भारतीय उपभोक्ताओं को इन उत्पादों को खरीदने के लिये प्रेरित करना है एक बड़ी चुनौती

0

भारत की सबसे बड़ी ई-विक्रेता ‘फ्लिपकार्ट’ ने हाल ही में ‘यौन तंदुरुस्ती’ या ‘सेक्सुअल वेलनेस’ को अपने पहले से उपलब्ध उत्पादों की श्रेणी में शामिल किया है। हालांकि फ्लिपाकर्ट के अवसर को पहचानने से बहुत पहले ही चेन्नई आधारित Ohmysecrerts.com ने 1500 करोड़ से अधिक के यौन स्वास्थ्य के इस भारतीय बाजार को पहचानते हुए इसमें अपने कदम रख दिये थे।

ओहमायसीक्रेट्स के संस्थापक विनोद रेड्डी का अनुमान है कि वर्ष 2020 तक यौन उत्पादों का बाजार बढ़कर करीब 9 हजार करोड़ रुपये के आसपास तक पहुंच जाएगा। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के उत्पादों की अपनी विस्तृत श्रृंखला के साथ ओहमायसीक्रेट्स इस तेजी से उभरते हुए बाजार में अपनी हिस्सेदारी पाने के लिये तैयार दिख रहा है।

अपने एक व्यापारिक दौरे के दौरान विनोद के मन में यौन स्वास्थ्य से संबंधित उत्पादों के बारे में विचार आया और उन्होंने अगस्त 2013 में इसकी शुरुआत कर दी। विनोद कहते हैं, ‘‘अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यौन उत्पादों का बाजार एक बहुत तेजी से उभरता हुआ बाजार है ओर जब हमने इसे भारत में भी अपनाने के बारे में विचार किया तो सिर्फ ई-काॅमर्स के रूप में एकमात्र स्पष्ट समाधान हमारे सामने था’’ इसके बाद वे इन उत्पादों को लेकर भारतीय बाजार की गहराई से समीक्षा करने के लिये निकल पड़े और साथ ही साथ वे इनसे संबंधित आपूर्तिकर्ताओं की तलाश करने के अलावा अपने लिये गोदाम इत्यादि भी ढूंढने लगे। ओहमायसीक्रेट्सका न्यूयाॅर्क में अपना वैश्विक उत्पााद स्त्रोत कार्यालय होने के अलावा भारत में अपना गोदाम भी है।

यह वेबसाईट अपने उपभोक्ताओं को यौन वृद्धि उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला उपलब्ध करवाती है जिनमें मुख्य रूप से खाद्य पदार्थ, मालिश के तेल, जैल, चिकनाई वाली वस्तुए और अंतःवस्त्रों के अलावा अन्य कई उत्पाद शामिल हैं। इस वेबसाइट पर उत्पाद 500 रुपये से लेकर 15 हजार रुपये तक की कीमत में उपलब्ध हैं। इस साइट के माध्यम से पाइपड्रीम्स, अर्थली बाॅडी, जेलिक इंक, स्लिक्विडस और किंग्समैन इंडस्ट्रीज़ जैसे कुछ अंतर्राष्ट्रीय यौन कल्याण कंपनियों के उत्पाद भी उपभोक्तओं तक पहुंचाए जाते हैं।

विनोद को अपने इस स्टार्टअप को एक पहचान दिलवाने के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ी और वे कहते हैं कि अब उपभोक्ता एक धीमे लेकिन स्थिर अनुपात में उनकी इस वेबसाइट की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। वे कहते हैं, ‘‘औरसतम प्रतिदिन करीब 15 हजार से अधिक उपभोक्ता हमारी वेबसाइट पर इन उत्पादों की तलाश में आते हैं। हालांकि इन उत्पादों की श्रेणी बहुत विशाल है लेकिन चूंकि उपभोक्ताओं ने कभी इस प्रकार के उत्पादों को खुले बाजार में नहीं देखा है इसलिये इस क्षेत्र में अभी उपभोक्ताओं के बीच जागरुकता की बेहद कमी है। यही वजह है कि उपभोक्ताओं के इनके बारे में शिक्षित करना हमारे लिये एक बहुत बड़ी चुनौती साबित हो रहा है।’’ इस साइट पर बिकने वाले विभिन्न उत्पादों में आनंद बढ़ाने वाले उत्पादों की बिक्री सबसे ऊपर है। लगभग 70 प्रतिशत से अधिक उपभोक्ताओं के चयन के साथ कैश-आॅन-डिलीवरी भुगतान के लिये पसंदीदा विकल्प बनकर सामने आया है।

देश के तीन प्रमुख मेट्रो शहर दिल्ली, मुंबई और बैंगलोर के उपभोक्ता इनसे खरीददारी करने के मामले अव्वल है और इस साइट को खरीददारी के लिये अपनाने वाले अधिकतर उपभोक्ता 30 से 50 वर्ष के आयुवर्ग के बीच के होते हैं। ओहमायसीक्रेट्स अपने लक्षित उपभोक्ताओं तक पहुंचने के लिये मुख्य रूप से डिजिटल मार्केटिंग और सोशल मीडिया पर ही निर्भर हैं। चेन्नई से संचालित होनेे वाली ओहमायसीक्रेट्स में 10 कर्मचारियों के अलावा बोर्ड में शामिल तीन निदेशक हैं जो इस वेबसाइट को सफलतापूर्वक संचालित कर रहे हैं।

इंटरनेट पर इस तरह के यौन तंदुरुस्ती के उत्पादों को अगर आप ऐसे ही बैठे-बैठे तलाशेंगे तो आपके सामने कामसूत्रडाॅटकाॅम, दैट्सपर्सनलडाटकाॅम और आईएमबेशर्मडाॅटकाॅम जैसी भारतीस वेबसाइट के विकल्प खुलकर सामने आ जाएंगे। इनमें से दैट्सपर्सनलडाटकाॅम मुंबई स्थित एक उपक्रम है जिसे जनवरी में समीर सरैया ने स्थापित किया था और आईएमबेशर्मडाॅटकाॅम जुलाई 2013 में दो भारतीय-अमेरीकियों राज अर्मानी और सलीम राजन के द्वारा शुरू किया गया था। आईएमबेशर्मडाॅटकाॅम ने तो एक मशहूर नाम सनी लियोन को अपना ब्रांड अम्बेसडर नियुक्त किया है।

विनोद रेड्डी
विनोद रेड्डी

भारतीय महाद्वीप के बिल्कुल उलट अगर हम अंतर्राष्ट्रीय फलक पर नजर डालें तो वहां इस प्रकार के यौन तंदुरुस्ती से संबंधित उत्पादों के बाजार का कोई निधार्रित सीमांकन नहीं है। विदेशों में सेक्स से संबंधित प्रत्येक वस्तु चाहे वह उत्पाद हों, फिल्में हों, पोर्नोग्राफी हो, सेक्स चैट हो या ओर कुछ हो सबकुछ एक ही छाते के अंदर आते हैं और इसी वजह से वहां इस बाजार के आकार को मापना एक असंभव सा काम हो जाता है। अगर इन सभी चीजों को एक साथ रखकर देखा जाए यूरोप विश्व में यौन उत्पादों का सबसे बड़ा बाजार है जहां जर्मनी सबसे आगे है और इस श्रेणी में अमरीका दूसरे स्थान पर आकर ठहरता है।

ओहमायसीक्रेट्स के सामने सबसे बड़ी चुनौती भारतीय उपभोक्ताओं को इन उत्पादों को खुले तौर पर स्वीकार करते हुए इन्हें खरीदने के लिये प्रेरित करना है। इन यौन उत्पादों के प्रति जागरुक उपभोक्ता भी अधिकतर अपने विदेश दौरों के दौरान ही इनकी खरीददारी करना पसंद करते हैं।

इसके अलावा बाजार में प्रतिस्पर्धा को और बढ़ाते हुए कामसूत्र और ड्यूरेक्स जैसे बड़े नाम भी अब अपने ई-काॅमर्स आधारित स्टोर खोलते जा रहे हैं और अपने उत्पादों को आॅनलाइन बेच रहे हैं। साथ ही अब हेल्थकार्ट और होमशाॅप18 जेसी अन्य ई-काॅमर्स वेबसाईटें भी अब यौन तंदुरुस्ती की श्रेणी वाले इन उत्पादों को अपने उपभोक्ताओं को उपलब्ध करवा रहे हैं।

अब अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसे ई-काॅमर्स के मुख्यधारा के खिलाड़ी इन उत्पादों को विभिन्न श्रेणियों में बेच रहे हैं तो इस बात की उम्मीद की जा सकती है कि इस श्रेणी को लेकर भारतीय उपभोक्ता पहले से और भी अधिक शिक्षित और जागरुक होने में कामयाब होंगे। हालांकि यह अभी भविष्य के गर्भ में ही है कि एक ऐसे देश में जहां कोई भी सेक्स के बारे में खुलकर बात करने को तैयार ही नहीं होता है वहां ओहमाईसीक्रेट्स जैसा व्यापार अपने पांव जमाने में कामयाब होता है या नहीं।

Worked with Media barons like TEHELKA, TIMES NOW & NDTV. Presently working as freelance writer, translator, voice over artist. Writing is my passion.

Stories by Nishant Goel