एक क्लिक में लें मनचाहे डॉक्टर से मिलने का वक्त

Ineeddoctor.in देता है डॉक्टर और अस्पताल की जानकारीफिलहाल रायपुर में दे रहे हैं सेवाएं750 से ज्यादा डॉक्टर और 800 से से ज्यादा डाइग्नोस्टिक सेंटर जुड़ेजुलाई, 2015 में शुरू हुआ Ineeddoctor.inडाइग्नोस्टिक सेंटर से मिलती है जांच में छूट

0

समय के साथ जीवन की रफ्तार भी तेज हो गई है। तभी तो बड़े शहरों के अलावा अब छोटे शहरों में भी जिंदगी पहले की तरह सामान्य नहीं रही है। ऐसे में कभी घर का कोई सदस्य बीमार हो जाए तो सबसे पहले ये चिंता खाये जाती है कि अपने आसपास कौन सा अच्छा डॉक्टर या अस्पताल मिलेगा। लोगों की इसी दिक्कत को आसान बना रहे हैं ‘INEEDDOCTOR.IN’। जो ना सिर्फ आपको अच्छे डॉक्टर या अस्पताल की जानकारी देते हैं बल्कि आप चाहेंगे तो ये डॉक्टर से मिलने का वक्त भी दिला सकते हैं।

फिलहाल ‘INEEDDOCTOR.IN’ अपनी सेवाएं छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर और उसके आसपास के इलाकों में दे रहा है। इस काम को शुरू किया है अमित अग्रवाल, अभिषेक तिवारी और आकांश गोयल ने। यूं तो देश में ई-कॉमर्स के क्षेत्र में हैल्थकेयर ऐसा क्षेत्र है जिसमें काफी लोग जुड़े हैं। आज इस क्षेत्र में कई बड़े नाम काम कर रहे हैं। लेकिन ज्यादातर ई-कॉमर्स वेबसाइट सिर्फ ये बताती हैं कि किस रोग का डॉक्टर कब और कहां बैठता है। लेकिन ‘INEEDDOCTOR.IN’ के सह-संस्थापक अमित अग्रवाल का कहना है कि “हमने देखा कि लोगों की समस्या ये नहीं है कि डॉक्टर किस अस्पताल में कब बैठता है उनकी असली परेशानी होती है डॉक्टर के पास पहुंचकर उनसे मिलने के लिए लंबा इंतजार करना।” उनके मुताबिक भले ही इसके पीछे कुछ भी कारण हों लेकिन असली दिक्कत मरीज को होती है। इन लोगों का कहना है कि वो चाहते हैं कि मरीज को डॉक्टर से मिलने के लिए कम से कम इंतजार करना पड़े। कंपनी के सह-संस्थापक अमित के मुताबिक “मैं संयुक्त परिवार में रहता हूं इसलिए मुझे परिवार के किसी ना किसी सदस्य को अक्सर डॉक्टर के पास ले जाना पड़ता था। लेकिन सबसे ज्यादा दिक्कत इस बात को लेकर होती थी कि डॉक्टर के क्लिनिक में पहुंचने के बाद घंटों अपनी बारी का इंतजार करना पड़ता था। तब मैंने सोचा कि कुछ ऐसा होना चाहिए ताकि मरीजों का उत्पीड़न ना हो।”

कंपनी के सह-संस्थापक अमित के मुताबिक मरीज के लिए किसी डॉक्टर का इंतजार करना बड़ी समस्या तो थी ही साथ ही साथ डॉक्टर को दिखाने के बाद दवाइयों और मेडिकल जांच का खर्चा भी काफी ज्यादा होता है। तब इन लोगों ने सोचा कि अगर कोई डाइग्नोस्टिक सेंटर किसी जांच में छूट देता है तो वो ग्राहकों को भी मिलनी चाहिए। इसके बाद जुलाई, 2015 में इन लोगों ने मिलकर ‘INEEDDOCTOR.IN’ की शुरूआत कर दी। आज इनके साथ रायपुर के करीब 750 से ज्यादा डॉक्टर और 800 से ज्यादा डाइग्नोस्टिक सेंटर जुड़ चुके हैं।

कैसे करते हैं काम

करीब 4 महीने पहले शुरू हुए ‘INEEDDOCTOR.IN’ से जुड़कर कोई भी व्यक्ति अपने आसपास डॉक्टर ढूंढने में मदद ले सकता है। इसके अलावा कॉल सेंटर के जरिये भी लोग अपनी परेशानी का हल पा सकते हैं। इनका अपना ऐप भी है जिसमें कई तरह की सुविधाएं हैं। इस ऐप में लाइफ ट्रेकर नाम का एक फीचर भी है जिसके जरिये मरीज किसी भी क्लिनिक में डॉक्टर से मिलने का वक्त ले सकता है। खास बात ये है कि जो लोग इनकी सेवाएं इस्तेमाल करते हैं उनको डॉक्टर तय वक्त पर ही देखते हैं। इससे मरीजों को काफी राहत मिलती है। इतना ही नहीं ये लोग जरूरत पड़ने पर मरीज को जानकारी भी देते हैं कि उनको किस बीमारी के लिए कहां जाना चाहिए, कौन सा डॉक्टर या डॉयग्नोस्टिक सेंटर उनके घर के करीब है इत्यादी। इसके अलावा ये लोग मरीज की काउंसलिंग भी करते हैं और समय-समय पर हेल्थ कैंप का भी आयोजन करते हैं।

भविष्य की योजनाएं

रायपुर जैसे शहरों में भी लोग इंटरनेट और ऐप जैसी सेवाओं का बखूबी इस्तेमाल कर रहे हैं तभी तो इनके पास हर रोज 40-50 कॉल रोज आती हैं। भविष्य में इनकी योजना टीयर2 और टीयर 3 शहरों में भी अपने इस काम को ले जाने की है। कंपनी के सह-संस्थापक अमित का कहना है कि “बड़े शहरों में इस तरह की काफी सेवाएं पहले से मौजूद हैं। ऐसे में हम चाहते हैं कि छोटे शहरों की ओर इस सेवा को ले जाएं। इसलिए अगले 3 महीनों के अंदर हमारी कोशिश पूरे छत्तीसगढ़ और उड़ीसा के कुछ हिस्सों में अपनी सेवाएं पहुंचाने की होगी, जिसके बाद हम लोग दूसरे राज्यों की ओर रुख करेंगे।”

‘INEEDDOCTOR.IN’ अपनी सेवाएं मुफ्त में देते हैं। इसके अलावा जो मरीज इनके जरिये किसी डाइग्नोस्टिक सेंटर में जांच कराने जाता है उसे 10 से 60 प्रतिशत तक छूट मिलती है। लेकिन ये निर्भर करता है मरीज के टेस्ट और डाइग्नोस्टिक सेंटर पर। कंपनी के सह-संस्थापक अमित के मुताबिक पिछले चार महीनों के दौरान करीब 5 हजार से ज्यादा लोग इनकी सेवाएं इस्तेमाल कर चुके हैं और ये संख्या हर महीने बढ़ रही है। इनकी टीम में कुल 10 सदस्य हैं। अमित का कहना है कि “इस कंपनी में शुरूआती निवेश हम तीनों संस्थापकों ने मिलकर किया था लेकिन अगले 3-6 महीनों के अंदर हम लोग निवेश की संभावनों को टटोलने की कोशिश करेंगे।”

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...