अमेजन को टक्कर देने के लिए अब फ्लिपकार्ट भी बेचेगा रिफर्बिश्ड फोन

0

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो फ्लिपकार्ट इसी साल दिवाली से रिफर्बिश्ड फोन बेचना शुरू कर देगा। अमेजन पहले से ही अपने रिफर्बिश्ड सेक्शन के जरिए ऐसे फोनों को ऑरिजिनल से 25% कम दाम पर बेचता है।

फोटो साभार: सोशल मीडिया
फोटो साभार: सोशल मीडिया
ऑनलाइन साइट्स पर हैंडसेट रिटर्न के बढ़ते मामले और गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) के बाद अच्छा दाम नहीं मिलने के कारण कंपनी ने रिफर्बिश फोन बेेचने की योजना बनाई है।

ये सभी फोन फ्लिपकार्ट सर्टिफाइड होंगे जो रिफर्बिश्ड मॉडल्स, ऑनलाइन मार्केटप्लेस और रिटेल स्टोर्स दोनों पर बेचे जाएंगे। अंदाजा लगाया जा रहा है कि इन सभी फोनों की कीमत वास्तविक फोन से 25-35 प्रतिशत कम होगी। 

देश में ई-कॉमर्स व्यवसाय से जुड़ी कंपनियों में एक दूसरे को पछाड़ने में होड़ मची है। अमेजन के बाद अब फ्लिपकार्ट ने भी अपनी साइट के जरिए रिफर्बिश्ड फोन को बेचने का फैसला किया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो फ्लिपकार्ट इसी साल दिवाली से रिफर्बिश्ड फोन बेचना शुरू कर देगा। अमेजन पहले से ही अपने रिफर्बिश्ड सेक्शन के जरिए ऐसे फोनों को ऑरिजिनल से 25% कम दाम पर बेचता है। ये सभी फोन रेगुलर ब्रैंड जैसे शाओमी, वन प्लस, सैमसंग, लेनेवो, मोटो और यहां तक कि ऐपल के भी कुछ फोन होते हैं।

ऑनलाइन साइट्स पर हैंडसेट रिटर्न के बढ़ते मामले और गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) के बाद अच्छा दाम नहीं मिलने के कारण कंपनी ने रिफर्बिश सेगमेंट में एंट्री की योजना बनाई है। ये सभी फोन फ्लिपकार्ट सर्टिफाइड होंगे जो रिफर्बिश्ड मॉडल्स, ऑनलाइन मार्केट प्लेस और रिटेल स्टोर्स दोनों पर बेचे जाएंगे। अंदाजा लगाया जा रहा है कि इन सभी फोनों की कीमत वास्तविक फोन से 25-35 प्रतिशत कम होगी। सूत्रों की मानें तो फ्लिपकार्ट पॉपुलर ब्रांड्स जैसे लेनोवो, मोटोरोला, सैमसंग ऑन सीरीज, पैनासोनिक, माइक्रोमैक्स और सोनी एक्सपीरिया के रिफर्बिश हैंडसेट बेच सकती है।

अमेजन के एक सीनियर ऑफिसर के मुताबिक भारत में लोग वाजिब दाम में बेहतरीन स्मार्टफोन खरीदना चाहते हैं। अमेजन पर दोबारा तैयार किए गए यानी कि रीफर्बिश्ड वन प्लस-2 फोन की कीमत सिर्फ 18,650 रुपये है, जबकि 16जीबीऐपल आईफोन-5S सिर्फ19,779 रुपये में खरीदा जा सकता है। ऑनलाइन बिजनेस एक्सपर्ट की मानें तो इंडिया में रिफर्बिश्ड फोन का बाजार फिलहाल 1.29 लाख करोड़ रुपये सालाना है। 2014 में यह 12,000 करोड़ रुपये के करीब था यानी रिफर्बिश्ड फोन के बाजार में सालाना 30 फीसदी की दर से वृद्धि हो रही है। 2020 तक यह 3.23 लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा छू सकता है। पिछले एक सालों में रिफर्बिश्ड सामान की मांग में दोगुना का इजाफा हुआ है।

पढ़ें: जो करता था कभी चोरी, वो आज है 700 बेसहारा लोगों का मसीहा

रिफर्बिश्ड फोन क्या होते हैं?

रिफर्बिश्ड फोन वे फोन होते हैं जो ग्राहकों द्वारा किसी भी कारण से वापस कर दिए जाते हैं। कई बार कंपनियां कुछ तकनीकी खराबी या डिजाइन संबंधी खामी की वजह से बाजार से वापस मंगवा लेती हैं। कई मामलों में ग्राहक भी तकनीकी खामियों की शिकायत लेकर अपना फोन निर्माता कंपनी को लौटा देते हैं। ई-कॉमर्स कंपनियां इन फोनों को दुरुस्त कर या नई पैकिंग में कर के उन्हें अपने प्लेटफॉर्म के जरिए बेचती हैं। 

रिफर्बिश्ड कैटिगरी में आ जाने के बाद फोन या किसी भी सामान के दाम में सीधे 25% की गिरावट आ जाती है। कई बार ये फोन ग्राहकों को आधे दाम में भी मिल जाते हैं। नॉर्मल नए फोन की तरह ही इन सभी फोनों पर भी 6 महीने से लेकर 1 साल की वॉरंटी होती है। जिन लोगों को कम दाम में नए फोन पाने की चाहत होती है वे रिफर्बिश्ड सामानों को खरीद सकते हैं।

पढ़ें: कैलकुलेटर रिपेयर करने वाले कैलाश कैसे बन गये 350 करोड़ की कंपनी के मालिक

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Manshes Kumar is the Copy Editor and Reporter at the YourStory. He has previously worked for the Navbharat Times. He can be reached at manshes@yourstory.com and on Twitter @ManshesKumar.

Related Stories

Stories by मन्शेष कुमार