बोल-कुबोल में फिर फिसले ऋषि कपूर

0

लोकप्रिय अभिनेता ऋषि कपूर। अनगिनत लोगों के दिलों पर राज करने वाले कपूर परिवार के इस पसंदीदा कलाकार की जुनूनी बातें अक्सर उन्हें विवादित बना देती हैं। कभी कभी तो लगता है कि विवादों से उनका जैसे जनम का नाता हों। फिलहाल, ताजा-ताजा एक और झोका आया है उनकी तरफ से, जिसने देशवासियों को तिलमिला दिया है। वह पाकिस्तान जाना चाहते हैं।

साभार: ट्विटर
साभार: ट्विटर
'फारुख अब्दुल्ला जी आपकी बात से पूरी तरह सहमत हूं सर। जम्मू और कश्मीर हमारा है और पीओके उनका। बस यही एक तरीका है, जिससे हम इस समस्या का समाधान कर सकते हैं। स्वीकार करता हूं। मैं 65 साल का हो गया हूं और मरने से पहले एक बार पाकिस्तान देखना चाहता हूं। मैं चाहता हूं कि मरने से पहले मेरे बच्चे भी अपनी पुश्तैनी जगह को देखें। बस करवा दीजिए।' : ऋषि कपूर

 आखिर हिंदुस्तान से ऐसा भी क्या गिला, किसी की समझ में आए भी तो कैसे आए! इतना ही नहीं, वह नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला के इसी किस्म के एक अन्य ताज़ा बयान से अपनी सहमति जताकर भी झमेले में आ फंसे हैं। गौरतलब है कि फारुख अब्दुल्ला ने कहा है कि पाक अधिकृत कश्मीर, पाकिस्तान का हिस्सा है और उसमें किसी तरह को कोई बदलाव नहीं किया जा सकता, भले ही भारत और पाकिस्तान कितनी ही लड़ाइयां क्यों न लड़ लें। 

लोकप्रिय अभिनेता ऋषि कपूर। अनगिनत लोगों के दिलों पर राज करने वाले कपूर परिवार के इस पसंदीदा कलाकार की जुनूनी बातें अक्सर उन्हें विवादित बना देती हैं। कभी कभी तो लगता है कि विवादों से उनका जैसे जनम का नाता हों। फिलहाल, ताजा-ताजा एक और झोका आया है उनकी तरफ से, जिसने देशवासियों को तिलमिला दिया है। वह पाकिस्तान जाना चाहते हैं। आखिर हिंदुस्तान से ऐसा भी क्या गिला, किसी की समझ में आए भी तो कैसे आए! इतना ही नहीं, वह नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला के इसी किस्म के एक अन्य ताज़ा बयान से अपनी सहमति जताकर भी झमेले में आ फंसे हैं। 

गौरतलब है कि फारुख अब्दुल्ला ने कहा है कि पाक अधिकृत कश्मीर, पाकिस्तान का हिस्सा है और उसमें किसी तरह को कोई बदलाव नहीं किया जा सकता, भले ही भारत और पाकिस्तान कितनी ही लड़ाइयां क्यों न लड़ लें। इस पर ऋषि कपूर ने ट्विट करते हुए लिख दिया - 'फारुख अब्दुल्ला जी आपकी बात से पूरी तरह सहमत हूं सर। जम्मू और कश्मीर हमारा है और पीओके उनका। बस यही एक तरीका है, जिससे हम इस समस्या का समाधान कर सकते हैं। स्वीकार करता हूं। मैं 65 साल का हो गया हूं और मरने से पहले एक बार पाकिस्तान देखना चाहता हूं। मैं चाहता हूं कि मरने से पहले मेरे बच्चे भी अपनी पुश्तैनी जगह को देखें। बस करवा दीजिए।' ऋषि कपूर और फारुख के इस अटपटे बोल की गूंज पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी तक हो उठी है। मानवाधिकार जनशक्ति पार्टी के लोगों ने ऋषि कपूर और फारूख अब्दुल्लाह को देशद्रोही बताते हुए न केवल पोस्टर जारी कर दिया बल्कि वाराणसी न्यायालय में उनके खिलाफ परिवाद भी दाखिल कर डाला है। यह भी

गौरतलब होगा कि कपूर खानदान का पुश्तैनी मकान पाकिस्तान के पेशावर में है। वर्ष 1918 में पृथ्वीराज कपूर के पिता दीवान बसेश्वरनाथ कपूर ने वहां मकान बनवाया मगर देश के विभाजन के वक्त कपूर परिवार भारत आ गया। ऋषि कपूर अपने जमाने में चॉकलेटी हीरो के रूप में जाने जाते थे। उन्होंने तमाम सुपर हिट फ़िल्में दी हैं। इस दौरान कई अवार्ड भी उनके नाम रहे। वह शो मैन राज कपूर के मंझले बेटे हैं। वर्ष 2008 में उनको फिल्म फेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है। वह आज भी बॉलीवुड के सक्रिय-लोकप्रिय अभिनेता हैं। फिल्म बॉबी जोकि मेरा नाम जोकर का रीमेक थी, इसमें उनके पिता की पहली पसंद राजेश खन्ना थे, लेकिन पैसे ना होने के कारण उन्हें इस फिल्म में अपने बेटे यानि ऋषि कपूर को साइन करना पड़ा। नीतू से शादी होने से पहले उन्होंने यास्मीन नाम की लड़की को डेट किया था। उनका अपनी पहली कोस्टर डिंपल कपाड़िया से भी अफेयर रह चुका है। नीतू से उन्होंने पांच साल लम्बे अफेयर के बाद शादी रचाई थी। अपनी चालीस साल के फ़िल्मी करियर में उन्होंने पहली बार फिल्म 'अग्निपथ' में निगेटिव रोल अदा किया था।

वह अक्सर सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक ट्वीट्स करते रहते हैं। एक बार उन्होंने एक बच्चे की न्यूड तस्वीर पोस्ट कर दि, जिसमें वह बच्चा बिना कपड़ों के हेडफोन लगाए खड़ा था। मुंबई की एक गैरसरकारी संस्था जय हो फाउंडेशन के जनरल सेक्रटरी और ऐडवोकेट आदिल खत्री ने इस मामले में ऋषि कपूर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी थी। इसी तरह गोहत्या और गोमांस पर किए गए ट्वीट के बाद उनकी जमकर आलोचना हुई। यह मामला महाराष्ट्र सरकार द्वारा राज्य में गोहत्या पर पाबंदी लगाने से जुड़ा था। ऋषि कपूर ने उसके विरोध में बयान दे दिया था। 

उनके विवादित ट्विट का सिलसिला कोई एक-दो दिन, हालफिलहाल का नहीं, पिछले कुछ सालों से अंतहीन सा हो चला है। एक बार उन्होंने महिला वर्ल्ड कप को लेकर ट्वीट किया कि 'मैं सौरव गांगुली के उस एक्ट के दोबारा घटने का इंतजार कर रहा हूं, जो 2002 में भारत ने इंग्लैंड को हराने के बाद लॉर्डस की बालकनी में किया था, YO...।' उनके इस ट्वीट पर एक यूजर्स ने कमेंट लिखा कि उन्हें ऐसा नहीं लिखना चाहिए। उन्हें महिलाओं के प्रति सम्मान दिखाना चाहिए। एक ने लिखा कि सर आपको यह तस्वीर यूज नहीं करनी चाहिए। उस यूजर्स ने ऋषि को एक तस्वीर ट्वीट करते हुए कहा आप इस तस्वीर को यूज कर सकते थे लेकिन बावजूद इसके उन्होंने माफी नहीं मागीं। इसी तरह उन्होंने एक बार राजेश खन्ना और डिंपल कपाडिया की बेटी ट्विंकल खन्ना को ट्वीट के जरिये बर्थ-डे की शुभकामनाएं दीं, तब भी सोशल मीडिया पर बवाल मच गया था।

ये भी पढ़ें: तीस करोड़ का चंदा और कमल हासन का सबक

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

पत्रकार/ लेखक/ साहित्यकार/ कवि/ विचारक/ स्वतंत्र पत्रकार हैं। हिन्दी पत्रकारिता में 35 सालों से सक्रीय हैं। हिन्दी के लीडिंग न्यूज़ पेपर 'अमर उजाला', 'दैनिक जागरण' और 'आज' में 35 वर्षों तक कार्यरत रहे हैं। अब तक हिन्दी की दस किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं, जिनमें 6 मीडिया पर और 4 कविता संग्रह हैं।

Stories by जय प्रकाश जय