13 साल के भारतीय छात्र 'मेनसा क्लब' में शामिल, IQ प्रतियोगिता में मिले162 में से 161 अंक

0


भारतीय मूल के 13 वर्षीय स्कूली छात्र ब्रिटेन के प्रतिष्ठित आई क्यू मेनसा क्लब में शुमार हो गया है। उसने आई क्यू प्रतियोगिता में 162 में से 161 अंक प्राप्त किए थे।

रोहन के नाम से पहचाने जाने वाले वेंकट सत्या श्री रोहन चिक्कम को ‘केटल 3 बी पेपर’ और ‘कल्चर फेयर स्केल’ की परीक्षा पास करने और देश के सर्वश्रेष्ठ एक प्रतिशत प्रतिभावानों में शामिल होने के बाद इस विशिष्ट क्लब का सदस्य बनने का प्रस्ताव मिला ।

तस्वीर साभार-डेक्कनक्रॉनिकल
तस्वीर साभार-डेक्कनक्रॉनिकल

रोहन के पिता विष्णु चिक्कम ने कहा, 

‘‘ प्राथमिक शिक्षा के दौरान ही रोहन ने गणित विषय और पहेलियों को हल करने में रूचि दिखाना शुरू कर दिया था। पिछले साल रोहन ने यूनाइटेड किंगडम मैथमेटिकल चैलेंज में गोल्ड प्रमाण पत्र भी हासिल किया था। ’’

रोहन के पिता आंध्र प्रदेश से हैं जो ब्रिटेन में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर काम कर रहे हैं। उनका परिवार पिछले आठ साल से ब्रिटेन में रह रहा है। परिवार को उम्मीद है कि रोहन की प्रोद्यौगिकी में बढ़ती रूचि के चलते वह इस क्षेत्र में और भी उपलब्धियां हासिल करेगा।

उन्होंने कहा, 

‘‘ रोहन का गणित और भौतिक विज्ञान में काफी रूचि है। वह घर पर अपना समय गिटार बजाने में, जर्मन भाषा सीखने और मोबाइल एप्प बनाने में बिताता है। उसे तकनीकि क्षेत्र में काफी रूचि है। हाल ही में उसने अपना पहला मोबाइल एप्प ‘पोंग रेट्रोस्केप’ बनाया है जो अमेजन एप्प स्टोर पर उपलब्ध है। मुझे उम्मीद है कि वह इस क्षेत्र में और उपलब्धियां हासिल करेगा। ’’ 

मेनसा दुनिया की सबसे पुरानी और विशाल उच्च आई क्यू संस्था है। मान्यता और स्वीकृत प्राप्त आई क्यू जांच प्रक्रिया में सर्वश्रेष्ठ दो प्रतिशत प्रतिभावान इसकी सदस्यता हासिल कर सकते हैं।


पीटीआई