हज़ार रुपए के बजट में 13 हज़ार यूजर्स

Holidify के सफर की अनूठी कहानी

0

स्टार्टअप्स के लिए उपयोगकर्ताओं की राय बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि ये उन्हें उत्पाद को अधिक संरचनात्मक और लक्षित तरीके से आकार देने में मदद करती है। आमतौर पर, स्टार्टअप शुरुआती उपयोगकर्ताओं को पूरी तरह से तैयार उत्पाद को दिखाने की प्रतीक्षा करते हैं, हालांकि पूरी तरह सही उत्पाद जैसी कोई चीज़ नहीं है।

स्टार्टअप्स को उपयोगकर्ताओं की राय की ताकत को कम करके नहीं आंकना चाहिए। वैचारिक स्तर पर ही उपयोगकर्ताओं की राय ले लेना सबसे अच्छा है। उपयोगकर्ताओं के सुझाव स्टार्टअप्स को शुरुआत में अपनाने वालों के ज़रूरी डेटाबेस संग्रह करने में मदद करते हैं, जो उन्हें नमूने के तौर पर प्रसारित करने की ज़रूरत होती है।

हाल ही में, हैप्पीफॉक्स के फाउंडर शलिन जैन ने स्टार्टअप्स और उद्यमियों को उत्पाद का जल्द से जल्द प्रदर्शन करने और बेचना शुरू करने पर जोर दिया था। उन्होंने कहा कि बेचना/ प्रदर्शन करना उत्पाद लॉन्च होने के पहले ही शुरू कर दो, ये तुम्हें जल्द लोगों के बीच मान्यता दिलाने में मदद करेगा।

कोविद कपूर, रोहित श्रॉफ और प्रतीक चौहान द्वारा पिछले नवंबर में शुरू की गई Holidify ने सक्रिय उपयोगकर्ताओं के मामले में पिछले 4 महीने में 150% की बढ़ोतरी देखी है। Holidify के सह-संस्थापक रोहित श्रॉफ कहते हैं, "पिछले साल दिसंबर में हमारे पास 1500 के आसपास पंजीकृत उपयोगकर्ता थे, लेकिन वर्तमान में हम सक्रिय उपयोगकर्ताओं के मामले में 13,000 के आंकड़े को पार कर गए हैं।"

आगे बढ़ने का रास्ता है प्राइवेट बीटा

रोहित कहते हैं, "हमने काफी शुरुआत से माना है कि उपयोगकर्ताओं की राय हमारे लिए बेहद अहम है, क्योंकि हम कुछ अलग करने और गंतव्य खोज की एक बहुत ही बुनियादी समस्या को हल करने की कोशिश कर रहे हैं। हमने ये भी मान लिया था कि जब तक Holidify सामने आती है तब तक इसके बारे में शब्दों का प्रसार करने के लिए हमें इंतजार नहीं करना चाहिए और एक निजी बीटा लॉन्च के साथ आगे बढ़ गए थे।

निजी बीटा चरण के दौरान, स्टार्टअप ने अलग जनसांख्यिकी और स्थानों से 500 से अधिक उपयोगकर्ताओं से लिखित रूप में सुझाव एकत्र किए। एक प्रारंभिक हलचल पैदा करने के लिए Holidify ने betali.st जैसी वेबसाइटों पर अपने उत्पाद स्थापित किए और सामाजिक प्लेटफार्मों पर शब्द प्रसारित करना शुरू कर दिया।

प्रोडक्ट अच्छा हो, तो भला कौन रोक सकता है

जहां तक यात्रा के क्षेत्र का संबंध है, शुरुआती उपयोगकर्ताओं को लाने के लिए कंटेंट सबसे ज्यादा जरूरी होता है। बहुत प्रारंभ से ही, Holidify यात्रा वृत्तांत सहित यात्रा से संबंधित कुछ अच्छी कहानियां पोस्ट करता रहा है। प्रतीक कहते हैं "हमने अपने दोस्तों से ब्लॉग में योगदान करने के लिए कहा जिसने वास्तव में अच्छी सामग्री पैदा करने में हमारी मदद की।

महाशिवरात्रि और होली जैसे त्यौहारों के आसपास ब्लॉग पोस्ट्स और सुंदर भारतीय स्थलों को दिखाने वाली ‘हाईवे’ जैसी फिल्म वायरल हो गई, जिसने पेज में आने वालों की संख्या और रजिस्ट्रेशन को दोगुना कर दिया।

औसतन, प्रत्येक उपयोगकर्ता ने तीन अलग-अलग स्थलों को ब्राउज किया और 40% के आसपास उपयोगकर्ता तीन दिन के भीतर Holidify पर लौट आए हैं। कंपनी वीकेंड छुट्टियों के पेज लांच करने की योजना बना रही है जो सप्ताहांत यात्राओं के लिए एक जगह की खोज करने की प्रक्रिया को आसान बनाएगा।

जुबानी प्रचार का अभियान चलाएं

अच्छी सामग्री की रणनीति के अलावा, मौखिक शब्दों ने Holidify को युवा भीड़ का ध्यान आकर्षित करने में मदद की। कोविद कहते हैं, "हमें उपयोगकर्ताओं से बहुत सारी सकारात्मक समीक्षाएं मिलीं। साथ ही, ऑफिस और कॉलेज कैंपस में बहुत सारे लोग हमारे बारे में बात करते थे और हमारी वेबसाइट को सोशल मीडिया में शेयर करना शुरू कर दिया, जिससे हमें वास्तव में कुछ किए बिना ही बहुत सारे उपयोगकर्ताओं को पाने में मदद मिली।”

कोविद ने बताया, “एक बार हम अपने MVP के साथ तैयार थे। हमने निजी बीटा परीक्षकों के आसपास इसे प्रसारित किया और बहुत-सी विवेचनात्मक राय प्राप्त की, जिससे ये आंकने में मदद मिली कि क्या काम कर रहा है, क्या नहीं। ज्यादातर राय सकारात्मक थी और इसने हमें और अधिक बीटा परीक्षकों को पाने में मदद की।


बाहरी कारकों की भी अहमियत है

आज लोग पहले से कहीं अधिक नए स्थानों की यात्रा में रुचि रखते हैं और उनमें से ज्यादातर लीक से हटकर गंतव्य देखते हैं। कोविद ने खुलासा किया, "बड़ी मात्रा में यात्रा से संबंधित सामग्री सोशल मीडिया में साझा की जा रही है जो और ज्यादा लोगों को यात्रा के लिए प्रेरित करती है। सस्ते हवाई टिकट और बेहतर बस और कैब बुक करने की सुविधाएं जैसे रेडबस और ओलाकैब्स ने भी हमें मदद की।”

फेसबुक विज्ञापन मदद नहीं करते

मार्केटिंग के मोर्चे पर, Holidify ने अब तक एक भी पैसा खर्च नहीं किया है। इसकी मार्केटिंग की कोशिशें अब तक सोशल मीडिया और कॉन्टेन्ट मार्केटिंग को मिलाकर मार्केटिंग की जैविक विधियों तक सीमित हैं। अब तक कुल मार्केटिंग का खर्च उद्यम के लिए 1,000 रुपये से भी कम है।

रोहित कहते हैं, "हमने Facebook विज्ञापन की कोशिश की है, लेकिन यह ज्यादा मददगार नहीं था। हालांकि, हमारे अपने यूजरबेस को महत्वपूर्ण अपडेट्स की मेल भेजना ट्रैफिक लौटाने में उपयोगी रहा है।" स्टार्टअप जल्द ही इस पर ROI देखने के लिए गूगल ऐडवर्ड्स के साथ परीक्षण करेगा।

Bootstrapping से लगते हैं पर

प्रारंभिक विचार विमर्श के लिए कई अच्छे निवेशकों और VC फर्मों की ओर से स्टार्टअप से संपर्क किया गया। रोहित कहते हैं, "हमने खुद को तैयार रखने के लिए तय किया है क्योंकि ये हमें किसी भी बाहरी हस्तक्षेप के बिना नई चीजों के परीक्षण के लिए स्वतंत्रता देता है। हमारा मुख्य फोकस उत्पाद को सुधारने पर है, लिहाजा हम अपने व्यय पर मजबूत नियंत्रण रखते हैं।

आगे का रास्ता

कंपनी अपने गंतव्य डेटाबेस के विस्तार पर काम कर रही है और अगले कुछ महीनों के भीतर यह दोगुना हो जाएगा। Holidify की चालू कैलेंडर के अंत तक एक लाख सक्रिय यूजरबेस तक पहुंचने की योजना है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...