केरल: मछली बेचने वाली लड़की ने अपनी फीस के 1.5 लाख रुपये किए दान

0

केरले के त्रिसूर की रहने वाले 21 वर्षीय हनन हामिद ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 1.5 लाख रुपये दान कर सबके सामने मिसाल कायम कर दी।

मुख्यमंत्री पी विजयन के साथ हनन
मुख्यमंत्री पी विजयन के साथ हनन
हनन एक बेहद साधारण परिवार से आती है और उसे ये पैसे आगे की पढ़ाई के लिए लोगों से दान के रूप में मिले थे। उसने अपनी पढ़ाई की परवाह न करते हुए इन पैसों को बचाव एवं राहत कार्य के लिए सौंप दिया।

केरल इन दिनों बाढ़ की भीषण तबाही से जूझ रहा है। इस स्थिति में राज्य की मदद करने के लिए पूरा देश एकजुट हो चुका है। देश के हर हिस्से से लोगों ने केरल की हरसंभव मदद की। इस मदद में एक ऐसी बच्ची ने भी अपने कदम आगे बढ़ाए जिसे कभी मछली बेचने के लिए तिरस्कार झेलना पड़ा था। केरले के त्रिसूर की रहने वाले 21 वर्षीय हनन हामिद ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 1.5 लाख रुपये दान कर सबके सामने मिसाल कायम कर दी।

हनन एक बेहद साधारण परिवार से आती है और उसे ये पैसे आगे की पढ़ाई के लिए लोगों से दान के रूप में मिले थे। उसने अपनी पढ़ाई की परवाह न करते हुए इन पैसों को बचाव एवं राहत कार्य के लिए सौंप दिया। हालांकि कई लोगों ने इसे भी पब्लिसिटी स्टंट बताया लेकि हनन ने इन पैसों को देने से पहले एक बार भी नहीं सोचा। न्यूज18 से बात करते हुए हनन ने कहा, 'बाढ़ की स्थिति को ध्यान में रखे हुए मैंने 1.50 लाख रुपये मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में जमा कर दिए। मैंने चीफ मिनिस्टर को मिलकर सीधे अपने हाथों से चेक दिया।'

इडुक्की जिले के तोडुपुझा स्थित अल अजहर कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड साइंस में पढ़ने वाली स्टूडेंट हनन अभी बीएससी केमिस्ट्री की डिग्री ले रही है। उसने कहा, 'मैं वही वापस कर रही हूं जो लोगों ने कभी जरूरत समझ कर मेरी मदद की थी। बाढ़ की वजह से न जाने कितने लोग जिंदगी के लिए तरस रहे हैं और इस हालत में मेरा फर्ज बनता है कि मैं अपने पैसे उन्हें दान कर दूं। कम से कम मैं इतना तो कर ही सकती हूं।'

केरल इन दिनों मुश्किल हालात में जी रहा है और इस हालत में कई सारे लोग मदद करने के लिए आगे आए हैं। केरल की ही एक नर्स स्वर्गीय लिनी पुतुसरी के पति ने भी अपनी सैलरी से 25,000 रुपये दान किए। लिनी की निपाह वायरस की वजह से मौमत हो गई थी।

यह भी पढ़ें: सरकारी स्कूल का यह अध्यापक स्कूल के 120 भूखे बच्चों को हर सुबह कराता है नाश्ता

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी