नोटबंदी का नहीं पड़ेगा रोजगार पर कोई प्रभाव : कलराज मिश्र

देश की 80 प्रतिशत आबादी को रोजगार देने वाले सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) पर नोटबंदी का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

0

देश की 80 प्रतिशत आबादी को रोजगार देने वाले सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) पर नोटबंदी का बहुत बुरा असर पड़ने की आशंकाओं के बीच केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री कलराज मिश्र का कहना है, कि शुरू में इस क्षेत्र के लिये मुश्किलें होंगी लेकिन इससे इस क्षेत्र में रोजगार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा

एमएसएमई मंत्री कलराज मिश्र ने ‘पीटीआई से साक्षात्कार में कहा, 

नोटबंदी की वजह से एमएसएमई को शुरुआत में कुछ दिक्कत हो सकती हैं, लेकिन मुद्रा का प्रवाह ठीक होने के बाद इस क्षेत्र के लिये भी यह कदम मददगार साबित होगा।

नोटबंदी की वजह से एमएसएमई में काम करने वाले बड़ी संख्या में लोगों के बेरोजगार हो जाने की भारतीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग महासंघ (एफआईएसएमई) की आशंका के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा,

हम उनमें विश्वास जगाने की कोशिश कर रहे हैं। हमारे अधिकारी काम में जुटे हैं और इस मुश्किल का हल निकाल लिया जाएगा। नोटबंदी से एमएसएमई क्षेत्र में रोजगार पर कोई असर नहीं पड़ेगा। नोटबंदी देश से काला धन खत्म करने के लिये केन्द्र द्वारा लिया गया बड़ा निर्णय है और शुरुआती परेशानियां होने के बावजूद देश के आम लोग इस कदम का समर्थन कर रहे हैं। 

केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री का यह आश्वासन ऐसे वक्त में आया है जब नकदी की जबर्दस्त किल्लत की वजह से सूक्ष्म, लघु एवं मंझोले उद्योगों में काम करने वाले देश के आठ करोड़ में से बड़ी संख्या में कामगारों के बेरोजगार होने की आशंका व्यक्त की जा रही है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...