जारी हुई भारत की 8 सबसे अमीर महिला अरबपति उद्यमियों की लिस्ट

0

भारत में बिजनेस के क्षेत्र में मुकाम बनाने वाली ये महिलाएं न केवल देश की प्रगति की प्रतीक हैं बल्कि साबित भी कर रही हैं कि महिलाएं पुरुषों से किसी भी मामले में कम नहीं हैं।

इस फर्म ने रिसर्च करके कई तरह की लिस्ट बनाई हैं। उन्हीं में से एक है भारत में बिजनेस के क्षेत्र में अपना मुकाम बनाने वाली महिलाओं की लिस्ट।

डेटा ऐनालिटिक्स फर्म 'मु सिग्मा' की पूर्व सीईओ अंबिगा सुब्रमण्यन इस सूची में चौथे स्थान पर होने के साथ ही देश लिस्ट में सबसे युवा अमीर महिला हैं। 42 साल की उम्र में उनकी कुल संपत्ति 2,500 करोड़ आंकी गई है। 

चीन की प्रतिष्ठित और काफी फेमस रिसर्च फर्म ग्रुप हुरुन रिपोर्ट ने गुरुवार को सबसे अमीर शख्सियतों की सूची जारी की है। हारून इंजिया भारत में 1,000 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति वाले लोगों की लिस्ट तैयार करता है। इस फर्म ने रिसर्च करके कई तरह की लिस्ट बनाई हैं। उन्हीं में से एक है भारत में बिजनेस के क्षेत्र में अपना मुकाम बनाने वाली महिलाओं की लिस्ट। एक ऐसे दौर में जब महिला सशक्तिकरण को देश के विकास का प्रमुख कारक माना जाता है, भारत में बिजनेस के क्षेत्र में मुकाम बनाने वाली ये महिलाएं न केवल देश की प्रगति की प्रतीक हैं बल्कि साबित भी कर रही हैं कि महिलाएं पुरुषों से किसी भी मामले में कम नहीं हैं। यहां हम आपको उन आठ महिलाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें इस लिस्ट के लिए चुना गया है।

किरण मजूमदार शॉ

भारतीय उद्यमी किरण मजूमदार भारत की सबसे बड़ी बायोफार्मा कंपनी की चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। 64 साल की उम्र में किरण की कुल संपत्ति 15,400 करोड आंकी गई है। यह कंपनी जेनेरिक दवाएं बनाती है जिसकी पहुंच अमेरिका और यूके के मार्केट तक है। इस कंपनी की शुरुआत सिर्फ 10 हजार रुपये से की गई थी। किरण को बायोसाइंस के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान और समर्पण और इस क्षेत्र में अनुसंधान के लिए फ्रांस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है। फोर्ब्स द्वारा तैयार की गई भारत के टॉप 100 अरबपतियों की लिस्ट में उनका 63वां स्थान है।

वेंबू राधा

हुरुन की लिस्ट में दूसरा स्थान सॉफ्टवेयर प्रॉडक्ट्स बनाने वाली कंपनी जोहो की डायरेक्टर वेंबू राधा का है। 44 वर्ष की राधा ने 1997 में देश के प्रतिष्ठित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से पढ़ाई की है।

शीला गौतम

लिस्ट में तीसरा स्थान गद्दे बनाने वाली कंपनी शीला फोम की चेयरपर्सन शीला गौतम को मिला है। उनकी कुल संपत्ति 2,600 करोड़ आंकी गई है। 85 साल की शीला आज भी मजबूती से काम करने में तत्पर रहती हैं। उद्यमी होने के साथ ही वह राजनीति में भी कदम रख चुकी हैं। स्वतंत्रता सेनानी के परिवार में जन्म लेने वाली शीला गौतम ने 1971 में शीला फोम की स्थापना की थी। वह समाज की भलाई के लिए किए जाने वाले कामों में भी हमेशा से आगे रही हैं। समाज सेवा ने ही उन्हें राजनीति में आने के लिए प्रेरित किया। वह बीजेपी से जुड़ी हैं और चार बार लोकसभा की सदस्य रह चुकी हैं। आज भी वह अपनी कंपनी को मार्गदर्शन देती रहती हैं।

अंबिगा सुब्रमण्यन

डेटा ऐनालिटिक्स फर्म 'मु सिग्मा' की पूर्व सीईओ अंबिगा सुब्रमण्यन इस सूची में चौथे स्थान पर होने के साथ ही देश लिस्ट में सबसे युवा अमीर महिला हैं। 42 साल की उम्र में उनकी कुल संपत्ति 2,500 करोड़ आंकी गई है। उनके स्टार्ट अप की टोटल वैल्यू एक बिलियन डॉलर है। पिछले साल कंपनी 'मु सिग्मा' के फाउंडर और अपने पूर्व पति धीरज राजाराम से तलाक के बाद उन्होंने इस कंपनी में अपने 24 प्रतिशत शेयर बेच दिए थे। सुब्रमण्यन और राजाराम की मुलाकात 90 के दौर में चेन्नई के गिंडी में स्थित इंजिनियरिंग कॉलेज में हुई थी। जहां वे दोनों इलेक्ट्रिकल इंजिनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे। फोर्ब्स मैग्जीन ने अंबिका सुब्रमण्यन को देश की सबसे पावरफुल बिजनेसवूमन के अवॉर्ड से नवाजा है। उन्होंने अमेरिकी कंपनी मोटोरोला से अपने करियर की शुरुआत की थी जहां वे 8 सालों तक रहीं।

शकुंतला शेट्टी

लिस्ट में पांचवां नंबर आता है शकुंतला शेट्टी का। उद्यमी देवी शेट्टी की पत्नी शकुंतला शेट्टी हेल्थकेयर फैसिलिटी प्रदान करने वाली कंपनी नारायण रुदायलाय का कामकाज संभालती हैं। इस कंपनी के पास 23 अस्पतालों का नेटवर्क है। इतना ही नहीं कंपनी के 8 हार्ट रिसर्च सेंटर हैं। इसकी स्थापना 2000 में हुई थी। उनके 62 वर्षीय पति देवी प्रसाद शेट्टी देश के जाने माने डॉक्टर हैं और उन्होंने अब 15,000 से ज्यादा हार्ट सर्जरी को सफलतापूर्वक अंजाम दिया है। शकुंतला शेट्टी की कुल संपत्ति 2100 करोड़ रुपये है।

प्रभा अरोड़ा

देश की मशहूर फार्मा कंपनी मैनकाइंड फार्मा की डायरेक्टर प्रभा अरोड़ा इस लिस्ट में छठे स्थान पर हैं। उनकी कुल संपत्ति 1,700 करोड़ के करीब है। मैनकाइंड देश की सबसे तेजी से उभरती हुई फार्मा कंपनी है। इसकी गिनती देश की टॉप-10 फार्मा कंपनियों में शुमार होती है। इस कंपनी को प्रभा अरोड़ा ने अपने भाई आर. सी. जुनेजा और राजीव जुनेजा के साथ मिलकर की थी। 20 लोगों से शुरू की गई इस कंपनी का रेवेन्यू 4,650 करोड़ हो गया है।

उर्शिला केड़कर

कॉक्स ऐंड किंग्स की फाउंडर और प्रमोटर उर्शिला केड़कर ने इस लिस्ट में सातवीं जगह बनाई है। उनकी कुल संपत्ति 1,400 करोड़ की है। वह एनसीआर बेस्ड हॉलिडे प्लानिंग स्टार्ट अप वीआरहॉलिडेज की प्रमोटर भी हैं। इसे मेक माई ट्रिप के तीन पूर्व कर्मचारियों द्वारा 2011 में लॉन्च किया गया था। उर्शिला ने मुंबई यूनिवर्सिटी से इकॉनमिक्स में अपनी पढ़ाई की है। इसके बाद उन्होंने प्रैट यूनिवर्सिटी, न्यूयॉर्क से ग्राफिक्स डिजाइनिंग का कोर्स किया था। कॉक्स ऐंड किंग्स जॉइन करने से पहले वह मुंबई में अपना खुद का ग्राफिक डिजाइन प्रॉडक्शन हाउस चलाती थीं।

गुंडावरम वानजा देवी

हैदराबाद स्थित बीज कंपनी कावेर सीड की गुंडावरम वानजा देवी इस लिस्ट में आखिरी पायदान पर हैं। उनकी कुल संपत्ति 1,200 करोड़ है। वह शुरू से ही इस कंपनी के साथ जुड़ी हैं। वह कंपनी की एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर हैं। इस कंपनी की स्थापना 1976 में उनके पति जीवी भास्कर राव ने की थी। 

यह भी पढ़ें: BMTC की सराहनीय पहल, बस अड्डों पर स्तनपान के लिए होगा अलग कमरा

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी