मिलिए एक ऐसे सर्जन से जो ज्योतिष-शास्त्र के आधार पर मरीज़ के ऑपेरशन का समय चुनते हैं

डॉक्टर रंगनाथम दूसरे कई सर्जनों के उलट ज्योतिष-शास्त्र में विश्वास रखते हैं ... बेहिचक और बेख़ौफ़ वे कहते हैं कि ज्योतिष-शास्त्र मी मदद से मरीजों का इलाज करने में आसानी होती है 

0

मस्तिष्क और रीढ़ से जुड़े करीब उन्नीस हज़ार ऑपरेशन कर चुके जाने-माने न्यूरो-सर्जन डॉ. रंगनाथम की एक और बड़ी ख़ास और बेहद दिलचस्प बात है। वो ये कि , दूसरे कई डॉक्टरों के उलट, वे ज्योतिष-शास्त्र में विश्वास रखते हैं। वे ज्योतिष-शास्त्र के आधार पर मरीज़ के ऑपेरशन का समय चुनते हैं।

रंगनाथम कहते हैं,"भारत में कई काम ज्योतिष के आधार पर किये जाते हैं। बच्चों का अक्षर-अभ्यास करवाने के लिए ज्योतिष शास्त्र के आधार पर सही समय निकाला जाता है। हर शादी के लिए मुहूर्त तय किया जाता है। यहाँ तक कि भारत में राजनेता चुनाव के समय अपना नामांकन भी सही मुहूर्त के आधार पर ही करते हैं। ऐसे में ऑपेरशन के लिए ज्योतिष शास्त्र के आधार पर सही समय चुनना कहाँ से गलत होगा।" लेकिन, रंगनाथम अपनी बातों में ये बात जोड़ने से नहीं चूकते कि इमरजेंसी केसों में मुहूर्त नहीं देखा जाता। जान बचाना ज़रूरी होता है। रंगनाथम ने बताया कि कई मरीज़ मंगलवार के दिन ऑपरेशन करवाने को अमंगल मानते हैं। इतना ही नहीं कई लोग अमावस्या के दिन ऑपरेशन नहीं करवाते। महिलाएं भी पीरियड्स के समय ऑपरेशन से इंकार कर देती हैं।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...