माईक्रो एटीएम से खुले सहुलियतों के द्वार, छत्तीसगढ़ के ग्रामीण ले रहें है बैंकिंग सुविधाओं का लाभ

0

यह लेख छत्तीसगढ़ स्टोरी सीरीज़ का हिस्सा है...

आईडीएफसी के माइक्रो एटीएम ग्रामीणों को अपने ग्राम पंचायत मुख्यालय एवं गांवों के आस-पास ही बैंकिंग सुविधाओं का लाभ प्रदान कर उनके लिए सहुलियतों का द्वार खोल दिया है।

माइक्रो एटीएम का लाभ लेते ग्रामीण
माइक्रो एटीएम का लाभ लेते ग्रामीण
इसके माध्यम से अब हमें आवश्यकता पड़ने पर किसी समय आसानी से पैसा प्राप्त होने से हमे समय के बचत के साथ-साथ झंझटों से भी मुक्ति मिल रही है। 

आईडीएफसी के माईक्रो एटीएम छत्तीसगढ़ के सुदूर ग्रामों में निवासरत एवं समाज के आम वर्ग के लोगों के लिए कई मामलों में बहुउपयोगी साबित हो रहा है। आईडीएफसी के माइक्रो एटीएम ग्रामीणों को अपने ग्राम पंचायत मुख्यालय एवं गांवों के आस-पास ही बैंकिंग सुविधाओं का लाभ प्रदान कर उनके लिए सहुलियतों का द्वार खोल दिया है। इस एटीएम सुविधा के माध्यम से नरेगा, पेंशन, एलपीजी गैस की सब्सिडी, मानदेय आदि की राशि सीधे हितग्राहियों के आईडी के माध्यम से उनके खाते में जमा हो रहा है।

इसके अलावा आईडीएफसी के माईक्रो एटीएम के माध्यम से पैसा जमा, निकासी आदि की सुविधा भी ग्रामीणों को मिल रही है। इस माईक्रो एटीएम की सबसे बड़ी विशेषता किसी भी बैंक के एटीएम से राशि निकाली जा सकती है। मानपुर विकासखंड के 36 ग्राम पंचायतों में माईक्रो एटीएम की सुविधा मिलने से सुदूर वनांचलों के ग्रामीणों को अब बैंक से संबंधित कार्यों के लिए बार-बार बैंकों के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। इसके अलावा राशि की आवश्यकता पड़ने पर ग्रामीण किसी भी समय आसानी से राशि निकाल रहें है। छाया इन्टर प्राइजेस मानपुर के संचालक क्षितिज रावटे ने बताया कि उनके सामान्य सेवा केन्द्र में आईडीएफसी के माईक्रो एटीएम के माध्यम से प्रतिदिन 100 से 150 हितग्राही लेन-देन करते हैं। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्रों में प्रतिदिन 5 लाख रूपए तक का लेनदेन हो जाता है।

ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित माईक्रो एटीएम के माध्यम से प्रतिदिन न्यूनतम 30-40 लोग 1 लाख रूपए तक का लेन-देन कर रहें है। आईडीएफसी के माईक्रो एटीएम लगने के बाद ग्रामीणों को मिले फायदों के संबंध में जानकारी देते हुए मानपुर विकासखंड दूरस्त एवं वनांचल ग्राम पंचायत मदनवाड़ा के आश्रित ग्राम मुंजाल निवासी कृषक सान सिंह आईडीएफसी के माईक्रो एटीएम को आम नागरिकों के लिए बहुउपयोगी एवं सुविधा जनक बताया। उन्होंने बताया कि आईडीएफसी से माईक्रो एटीएम की सुविधा मिलने से उनके अलावा अन्य ग्रामीणों को बैंक से संबंधित कार्यों के लिए बैंकों का चक्कर लगाना नहीं पड़ता है। आवश्यकता पड़ने पर किसी भी समय आईडीएफसी के माईक्रो एटीएम के माध्यम से समय पर पैसा मिल जाता है।

ग्राम पंचायत भर्रीटोला के ग्राम फूलकोहड़ों निवासी चंपालाल ने बताया कि आईडीएफसी के माईक्रो एटीएम कई सारी परेशानियों से मुक्ति दिलाकर ग्रामीणों को अनेक सुविधा प्रदान कर रही है। इसके माध्यम से अब हमें आवश्यकता पड़ने पर किसी समय आसानी से पैसा प्राप्त होने से हमे समय के बचत के साथ-साथ झंझटों से भी मुक्ति मिल रही है। ग्राम तोलुम निवासी साधूराम ने बताया कि अब इमरजेन्सी के समय पैसे की आवश्यकता होने पर आसानी से गांव में ही पैसा मिल जाता है। इसमें खास बात यह कि किसी भी बैंक के किसी भी एटीएम से भी तत्काल पैसा निकल जाता है। इस तरह से आईडीएफसी के माईक्रो एटीएम स्थापित होने से ग्रामीणों को अनेक सुविधा प्रदान कर उनके लिए अत्यंत लाभकारी सिद्ध हो रहा है।

"ऐसी रोचक और ज़रूरी कहानियां पढ़ने के लिए जायें Chhattisgarh.yourstory.com पर..."

यह भी पढे़ं: भारत की यह कंपनी बनाती है इस्राइल पुलिस की वर्दी, फिलिपीन्स आर्मी का भी मिला काम

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...