स्टार्टअप्स की मजबूती के लिए और निवेशकों को आगे आना होगा-रजत टंडन

0

पीटीआई


मोदी के स्टैंडअप और स्टार्टअप इंडिया की पहल के बाद हर बड़ी कंपनी अपनी-अपनी भागीदारी तलाश रही है। आईटी कंपनियों के शीर्ष निकाय नैसकॉम के उपाध्यक्ष रजत टंडन का कहना है कि भारत में एंजेल निवेशक को आगे आना होगा ताकि स्टार्टअप्स में विश्वास जग सके और उदीयमान स्टार्ट-अप्स को काम करने के लिए पैसे मिल सकें।

नैसकॉम के उपाध्यक्ष रजत टंडन ने पीटीआई भाषा को बताया, ‘‘ एक सफल स्टार्ट-अप माहौल के लिए पर्याप्त संख्या में एंजेल निवेशकों की जरूरत है जो शुरुआती चरण से उदीयमान उद्यमियों को वित्तीय सहायता उपलब्ध करा सकें। लेकिन भारत में यह नहीं हो रहा है और इसकी भारी कमी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हाई नेटवर्थ वाले लोगों और कंपनियों के कार्यकारियों को इस दिशा में आगे आना चाहिए।’’ नैसकॉम की हाल ही एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 4,200 से अधिक नयी पीढ़ी की कंपनियों के साथ वैश्विक स्टार्ट माहौल में भारत तीसरे पायदान पर है।

टंडन ने कहा, ‘‘ अमेरिका जैसे देशों में स्थिति बिल्कुल भिन्न है। लोग कुछ अच्छी कंपनियों में निवेश की प्रतीक्षा में रहते हैं। हमें भी ऐसा ही कुछ करना चाहिए।’’ ‘‘ भारत में निवेशकों के बीच अपना पैसा डूबने के जोखिम को लेकर भय व्याप्त रहता है और साथ ही इस तरह के निवेश के लिए नीति की भी कमी है। निवेशक इस तरह की कंपनियों में क्यों पैसा लगाए। उन्हें कर लाभ एवं कई अन्य लाभ दिए जाने की जरूरत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हम इस बारे में सरकार को पहले ही कई चीजें लिख चुके हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि सरकार इस दिशा में सही कदम उठा रही है और हमें इस साल के अंत तक कुछ ठोस परिणाम सामने आने की उम्मीद है।’’