स्टार्ट-अप के लिए अच्छी ख़बर, रिलायंस इंडस्ट्रीज पूंजी निवेश को तैयार...

आरआईएल की भारत को स्टार्ट-अप क्षेत्र में वैश्विक मंच पर लाने के लिए बड़ी पहल

0

पीटीआई


रिलायंस इंडस्ट्रीज मूल्यवान स्टार्ट-अप कंपनियां विकसित करने वातावरण तैयार करने के लिए और पूंजी डालने का इच्छुक है ताकि भारत को 2022 तक इस क्षेत्र में इस्रायल और सिलिकॉन वैली :अमेरिका: की टक्कर का मंच बनाया जा सके।

आरआईएल के स्टार्ट-अप त्वरण कार्यक्रम ‘जेननेक्स्ट इनोवेशन हब’ ने माइक्रोसाफ्ट वेंचर्स के साथ भागीदारी की है और इस सप्ताह दूसरे चरण में 10 स्टार्टअप को शामिल किया है जिनमें दो इस्रायली कंपनियों को भी शामिल किया गया है।

आरआईएल नियंत्रित उद्यमपूंजी इकाई जेननेक्स्ट वेंचर्स के प्रबंधक भागीदार विवेक राय गुप्ता ने पीटीआई-भाषा से कहा ‘‘हमने शुरआती कदम बढ़ाया है और उम्मीद है कि हम अपने देश को 2022 तक सिलिकॉन वैली और इस्रायल के बराबर ला सकेंगे।’’ उन्होंने हालांकि यह नहीं कहा कि कंपनी ने इस उद्देश्य से कंपनी ने कितनी राशि अलग रखी है या और कितना खर्च किया जा सकता है।

उन्होंने कहा ‘‘हम यह सुनिश्चित करने के लिए इच्छुक हैं कि हमारे दायरे में वैश्विक कंपनियां हैं। हम विभिन्न संस्कृतियों से बहुत कुछ सीख सकते हैं जहां निवेश का तरीका अलग है।’’ आरबीआई अपने कारोबारी दायरे में स्टार्ट-अप के लिए एक विशिष्ट मंच तैयार करना चाहती है तो करीब पांच अरब डालर का होगा।

गुप्ता ने कहा कि स्टार्ट-अप कंपनियों ने लाजिस्टिक्स, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन और कापरेरेट सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में आरआईएल से जुड़ना शुरू कर दिया है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...