मलेशिया में दो महिलाएं बनीं शरिया हाईकोर्ट की न्यायाधीश

0

मलेशिया में दो महिलाओं को इस्लामिक शरिया हाईकोर्ट का न्यायायधीश नियुक्त किया गया है । नूर हुदा रोसलान (40) और नेनी शुहैदा शम्सुद्दीन (41) को सेलेनगोर के सुल्तान शरफुद्दीन इदरीस शाह ने नियुक्ति का आधिकारिक पत्र प्रदान किए।

नूर और नेनी ने कहा कि यह न्यायपालिका का सकारात्मक विकास है। मुस्लिम बहुल मलेशिया के न्यायपालिका के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ कि महिलाओं को शरिया अदालत का न्यायाधीश नियुक्त किया गया है।

नेनी ने कहा कि मलेशिया ने महिलाओं के खिलाफ सभी तरह के भेदभाव को खत्म करने वाले संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। शरिया हाईकोर्ट ने शरिया मामलों को देखता है और इसके न्याय क्षेत्र में सिर्फ मुस्लिम समुदाय होता है। उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि भविष्य में और महिलाओं को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।’’ (पीटीआई)

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...