घर बैठे लें ऑनलाइन फिटनेस टिप्स

25 हजार से ज्यादा फीटनेस फ्रीक जुड़ेसालाना 25 प्रतिशत बढ़ रहा है फिटनेस का बाजार500 से ज्यादा पार्टनर

0

फिटनेस किसी की भी जिंदगी का अहम हिस्सा होता है। मुंबई में पैदा हुई और वहीं पढ़ाई लिखाई पूरी करने वाली नेहा मोटवानी भी अपनी फिटनेस को लेकर कॉन्शस रहती थी, लेकिन आज वो फिटनेस के प्रति उत्साहित रहने वाले भारतीयों के लिए Fitternity.com लेकर आई है। इस वेबसाइट के माध्यम से वो लोगों को फिट रहने के ना सिर्फ गुर बताती हैं, बल्कि जरूरत पड़ने पर वो फिटनेस से जुड़ी दिक्कतों का समाधान भी करती हैं। नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज से मैनेजमेंट की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होने वेलिंगकर इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च से एमबीए किया। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होने एओन हेविट कंपनी में तीन साल नौकरी की। लेकिन उनका मन कुछ ऐसा करना चाहता था जिसमें उनकी दिलचस्पी हो और Fitternity.com उनको बेहतर विकल्प लगा।

नेहा मोटवानी
नेहा मोटवानी

नेहा के मुताबिक फिटनेस के प्रति उत्साहित लोगों को मुख्यत: चार प्रमुख समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

फिटनेस गतिविधियों के बारे में व्यापक जानकारी का अभाव - लोगों में कसरत, भोजन, खेल आदि के बारे में जानकारी की काफी कमी है। फिलहाल लोग स्थानीय सर्च इंजन और एक दूसरे से सुनी सुनाई बातों पर विश्वास करते हैं।

बंटा हुआ और अविश्वसनीय फिटनेस ज्ञान और सलाह - फिटनेस के प्रति उत्साही लोगों के पास उपलब्ध स्वास्थ्य सामग्री की विश्वसनीयता और प्रासंगिकता का अभाव है और जो है वो भारतीयों को ध्यान में रख कर तैयार नहीं किया गया है और इसमें व्यावहारिकता का अभाव है।

सामुदायिक जुड़ाव और प्रेरणा में कमी – फिटनेस के लिए समान विचारधारा वाले लोगों को साथ जोड़ना एक बड़ी दिक्कत है। इस समस्या का हल ढूंढने में काफी दिक्कत होती है।

बढ़िया फिटनेस उत्पादों और सेवाओं की अनुपलब्धता – फिटनेस के क्षेत्र में बढ़िया उत्पाद और सेवाओं की काफी कमी है। इतना ही नहीं फिट रहने के लिए क्या करना सही है और क्या गलत, इसको लेकर काफी भ्रम है।

इन्ही बातों को ध्यान में रख नेहा को Fitternity.com का आइडिया आया। जहां पर फिटनेस को लेकर उत्साही लोग ना सिर्फ फिटनेस से जुड़ी गतिविधियों को जान सकते हैं बल्कि वो इससे जुड़े उत्पादों की जानकारी भी लेते हैं। ये अपने आप में एक विश्ववसनीय फिटनेस सेंटर, और ई-स्टोर है। नेहा के मुताबिक “हम सालों से फिटनेस बाजार को एक खास जगह पर देखते हैं। Fitternity.com के माध्यम से हम इसे भुनाने की कोशिश कर रहे हैं और बाजार में लोगों को फिटनेस के विकल्प,फिटनेस से जुड़ी विश्वसनीय सामग्री और सेवाओं को देने की कोशिश कर रहे हैं।” इसकी स्थापना से पहले 5 शहरों में रिसर्च की गई और इसमें 600 से ज्यादा लोगों को शामिल किया गया। जिसके बाद Fitternity.com की स्थापना हुई। लोगों के लिए फिटनेस रहने के लिए विकल्प खोजना बड़ी समस्या है। इसी को ध्यान में रखते हुए एक सर्च इंजन तैयार किया गया जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति फिटनेस से जुड़ी अपनी समस्या का हल पा सकता है। इस सर्च इंजन को तैयार करने से पहले जिम, स्टूडियो, ट्रेनर,नूट्रिशनिस्ट आदि लोगों से काफी बातचीत की गई। टीम को एहसास था कि उसकी साख सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा है। इसलिए उन्होने तजुर्बेकार लोगों को अपने साथ शामिल किया जिनके पास फिटनेस को लेकर काफी जानकारी है।

Fitternity.com अपने ग्राहकों को दो वर्गों में बांटता है:-

1- वो लोग जो फिट रहना चाहते हैं लेकिन उनके पास सही चीजों का अभाव है।

2- वो लोग फिट रहने के लिए ज्यादा मेहनत करना चाहते हैं।

नेहा का दावा है कि “ये फिट रहने के लिए की जाने वाली खोज को आसान बनाता है। ये अकेला ऐसा मंच है जो फिटनेस से जुड़ी तमाम जानकारियां एक जगह मुहैया कराता। जैसे फोटो, वीडियो,फिटनेस से जुड़े लोगों के विचार। इसके अलावा जिम मालिक और ट्रेनर,नूट्रिशनिस्ट Fitternity.com का इस्तेमाल कर नये ग्राहकों को अपने साथ जोड़ सकते हैं।” ग्राहकों की संतुष्टी के लिए Fitternity.com बढ़िया डील, कॉम्बो ऑफर और बढ़िया उत्पाद भी देता है।

Fitternity.com के साथ तकरीबन 25 हजार से ज्यादा लोग जुड़े हुए हैं। कंपनी को अब तक करीब 1 करोड़ रुपये की आय हो चुकी है और अगले साल इसे 12 करोड़ रुपये तक ले जाने का लक्ष्य रखा गया है। फिलहाल कंपनी का ध्यान अपने कारोबार के विस्तार पर है। इसके लिए Fitternity.com के संस्थापकों ने मोबाइल ऐप के सहारे लोगों तक ज्यादा जानकारी, देश भर में अपनी सेवाएं बढ़ाकर और फिटनेस से जुड़े और लोगों को अपने साथ जोड़ने के लिए काम शुरू कर दिया है। नेहा के मुताबिक “अब तक ई-कॉमर्स से जुड़ी कई कंपनियां फिटनेस से जुड़े उत्पाद बेच रही है लेकिन Fitternity.com पहला और अकेला फिटनेस बाजार है जो अपने ग्राहकों को फिटनेस से जुड़े ना सिर्फ उत्पाद बेचता है बल्कि उनको अपनी सेवाएं भी देता है।” फिलहाल Fitternity.com यूजीसी के माध्यम से अपना कार्यक्षेत्र बढ़ रहा है। अपने खास टूल फाइंडर को इस्तेमाल में आसान और मोबाइल के लायक बना रहा है साथ ही स्वास्थ्य और फिटनेस से जुड़े कार्यक्रमों में भाग ले रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा फिटनेस के शौकिन लोगों का साथ मिले।

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक फिटनेस के ये बाजार लगातार 25 प्रतिशत सालाना की दर से बढ़ रहा है। साल 2015 के अंत तक इसके 1 ट्रिलियन रुपये तक पहुंचने की उम्मीद है। इसके पीछे युवाओं की बढ़ती आमदनी, स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता और बदलती लाइफ स्टाइल है। Fitternity.com के पास 500 बी2बी पार्टनर हैं जो अपनी सेवाएं इस मंच पर दे रहे हैं और ये संख्या लगातार बढ़ रही है। जिम मालिक और ट्रेनर भी मानते हैं कि फिटनेस के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए ये एक बढ़िया प्लेटफॉर्म है।