102 साल की यह महिला ऐथलीट, साल-दर-साल गढ़ रही नए वर्ल्ड रिकॉर्ड्स

क्या आप जानते हैं 102 साल की इस महिला ऐथलीट की कहानी...

0

ईडा ने अपने बेटों की मौत के सदमे से उबरने के लिए अपनी ऊर्जा को ऐथलेटिक्स की ओर मोड़ा और अपने पैशन की मदद से वह ज़िंदगी के जख़्मों को काफ़ी हद तक भरने में कामयाब भी रहीं।

1915 में पैदा हुईं ईडा कीलिंग, 60 मीटर और 100 मीटर रेस के '95-99' और '100 से अधिक उम्र' वाले वर्गों में मास्टर्स वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर हैं। ईडा कीलिंग ने 2011 में मैनहैटन ट्रैक मीट में 29.86 सेकेंड्स में 60 मीटर की रेस पूरी करके वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। इस वक़्त उनकी उम्र 95 साल थी।

उम्र के किसी भी पड़ाव पर इंसान अपने पैशन को चुन सकता है और अपनी सीमाएं ख़ुद तय कर सकता है। आज हम आपको एक ऐसी महिला की कहानी बताने जा रहे हैं, जिन्होंने 67 साल की उम्र में ऐथलेटिक्स को चुना और आज वह 102 साल की हैं और उनके नाम पर कई वर्ल्ड रिकॉर्ड्स दर्ज हैं। हम बात कर रहे हैं, 102 वर्षीय अमरीकी महिला ईडा कीलिंग की, जो साल-दर-साल नए वर्ल्ड रिकॉर्ड्स बना रही हैं। ईडा ने अपने बेटों की मौत के सदमे से उबरने के लिए अपनी ऊर्जा को ऐथलेटिक्स की ओर मोड़ा। अपने पैशन की मदद से वह अपनी ज़िंदगी के जख़्मों को काफ़ी हद तक भरने में कामयाब रहीं।

1915 में पैदा हुईं ईडा कीलिंग, 60 मीटर और 100 मीटर रेस के '95-99' और '100 से अधिक उम्र' वाले वर्गों में मास्टर्स वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर हैं। ईडा कीलिंग ने 2011 में मैनहैटन ट्रैक मीट में 29.86 सेकेंड्स में 60 मीटर की रेस पूरी करके वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। इस वक़्त उनकी उम्र 95 साल थी। इसके बाद 2014 में उन्होंने 58.9 सेकेंड्स में 100 मीटर की रेस पूरी करके एक और वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। इस वक़्त उनकी उम्र 99 साल थी। ईडा इतने पर भी रुकी नहीं। इन सब उपलब्धियों की फ़ेहरिस्त में एक और पन्ना जोड़ते हुए वह 100 साल की उम्र में 100 मीटर की दौड़ पूरी करने वाली पहली महिला बनीं। 2016 में ईडा ने यह उपलब्धि अपने नाम की।

ईडा सलाह देती हैं कि हमें स्वाद को नहीं बल्कि स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए अपनी डाइट तैयार करनी चाहिए। ईडा एक हफ़्ते में तीन से चार दिन वर्कआउट करती हैं। जिम में वह स्ट्रेंथ सेशन्स अटेंड करती हैं, रनिंग और बाइकिंग करती हैं। इसके साथ-साथ वह प्रैक्टिस रन भी करती हैं, जिसमें वह 40 मिनट की वॉर्म-अप ड्रिल करती हैं और सिंगल 60-मीटर रन भी पूरा करती हैं।

ईडा हमेशा से ही एक ऊर्जावान और उत्साही महिला रही हैं, लेकिन अपनी उर्जा को ऐथलेटिक्स की दिशा में मोड़ने की प्रेरणा उन्हें अपनी बेटी, शेले से मिली। बेटी के ज़ोर देने पर ईडा ने एक स्थानीय 5 हज़ार मीटर की दौड़ में हिस्सा लिया। ईडा की बेटी शेले एक स्पोर्ट्स कोच हैं। पहली रेस में अपनी मां को ले जाने से पहले शेले ने उनसे झूठ बोला था। उन्होंने अपनी मां को बताया था कि वे एक मिनी-रन के लिए जा रहे हैं। वेन्यू पर पहुंचने के बाद ही ईडा को पता चला कि उन्हें 5 हज़ार मीटर की दौड़ में हिस्सा लेना है। हालांकि, यह उनके लिए सिर्फ़ एक सरप्राइज़ था, शॉक नहीं। उन्होंने दौड़ में हिस्सा लिया और उसे सफलतापूर्वक पूरा किया।

'एल्योर' से बात करते हुए ईडा ने कहा कि सभी को अपने शरीर से प्यार करना चाहिए और उसका ख़्याल रखना चाहिए। साथ ही, हमें अपने शरीर का बेहतर से बेहतर इस्तेमाल करना चाहिए, उन्होंने आगे कहा। ईडा कहती हैं कि वक़्त और उम्र के साथ-साथ उनकी रफ़्तार कम ज़रूर हुई है, लेकिन सबसे ज़रूरी है कि हम चलते रहें। दिलचस्प है कि पैदल चलने के लिए वह केन (छड़ी) का इस्तेमाल करती हैं, लेकिन ट्रैक पर दौड़ने के लिए उन्हें ऐसे किसी सहारे की ज़रूरत नहीं पड़ती। इस संबंध में 'क्लीवलेंड' से बात करते हुए, उन्होंने एकबार कहा था कि केन (छड़ी) के साथ चलने में कई मिनटों का वक़्त लगता है, जबकि ट्रैक पर चैपियन्स के साथ दौड़ने में सिर्फ़ कुछ सेकेंड्स खर्च होते हैं।

ये भी पढ़ें: 9 दिनों तक -35 डिग्री में पैदल चलकर, इस मां ने कुछ इस तरह दिया अपने बच्चे को जन्म

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी