केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए पेटीएम यूजर्स ने 48 घंटे में दान किए 10 करोड़ रुपये

0

बीते कुछ दिनों में कई राज्य की सरकारों, बिजनेसमैन, एनजीओ ने काफी पैसे इकट्ठा कर केरल के मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में दान किए। देश के आम नागरिक भी पीछे नहीं रहे और खुले दिल से केरल की मदद की। पेटीएम यूज करने वाले लोगों ने सिर्फ 48 घंटे में 10 करोड़ रुपये सीएम रिलीफ फंड में दान किए।

पेटीएम के अलावा शाहरुख खान के एनजीओ मीर फाउंडेशन ने 21 लाख रुपये राहत एवं बचाव कार्य के लिए दिए। टीवीएस मोटर कंपनी ने भी केरल मुख्यमंत्री कोष में 1 करोड़ रुपये दान किए हैं। 

बीते कुछ दिनों से केरल में भारी बारिश से बाढ़ जैसे भयावह हालात पैदा हो गए। इस भीषण तबाही में 350 से ज्यादा लोगों की जान चली गई और लाखों लोग बेघर हो गए। बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए पूरा देश एकजुट हो गया है। बीते कुछ दिनों में कई राज्य की सरकारों, बिजनेसमैन, एनजीओ ने काफी पैसे इकट्ठा कर केरल के मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में दान किए। देश के आम नागरिक भी पीछे नहीं रहे और खुले दिल से केरल की मदद की। पेटीएम यूज करने वाले लोगों ने सिर्फ 48 घंटे में 10 करोड़ रुपये सीएम रिलीफ फंड में दान किए।

पेटीएम ने ट्विटर पर जानकारी साझा करते हुए बताया कि सिर्फ 48 घंटे में 10 करोड़ रुपये इकट्ठा कर लिए गए। यह दान लगभग 4 करोड़ उपभोक्ताओं द्वारा दिया गया है। पेटीएम के मुताबिक, 'हम यह बताते हुए गर्व महसू कर रहे हैं कि सिर्फ 48 घंटे के अंदर ही 4 लाख पेटीएम यूजर्स ने 10 करोड़ रुपये दान किए।' केरल में बाढ़ के हालात उत्पन्न होने के बाद ही अपने ऐप में 'केरल फ्लड्स' के नाम से एक ऑप्शन दे दिया था, जिस पर सिर्फ एक क्लिक में मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में सीधे पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं।

पेटीएम के अलावा शाहरुख खान के एनजीओ मीर फाउंडेशन ने 21 लाख रुपये राहत एवं बचाव कार्य के लिए दिए। टीवीएस मोटर कंपनी ने भी केरल मुख्यमंत्री कोष में 1 करोड़ रुपये दान किए हैं। पश्चिम बंगाल सरकार ने भी 10 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है। बीजेपी शासित मध्य प्रदेश और राजस्थान की सरकारों ने भी केरल के लिए 10-10 करोड़ रुपये देने की घोषमा की। कई सांसद और विधायकों ने अपने स्तर पर बाढ़ पीड़ितों की मदद करने के लिए आगे आए हैं।

पंजाब के कांग्रेस विधायक और सांसदों ने अपनी एक महीने की तनख्वाह दान करने का फैसला किया है। हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर ने भी इस मुश्किल हालात में केरल को 5 करोड़ रुपये देने की बात कही है। केरल में आई ये बाढ़ पिछले सौ सालों में ऐसी पहली त्रासदी है, जिसमें लोगों की जानमाल और सार्वजनिक संपत्ति का भी भारी नुकसान हुआ। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब तक लगभग 150 पुल पूरी तरह से नष्ट हो गए।

केरल में बाढ़ के कारण 7,24,649 लोगों को राहत शिविरों में शरण लेनी पड़ी है। बाढ़ पीड़ितों के लिए 5,645 राहत शिविर बनाए गए हैं। बचाव कार्य में सेना भी पूरी तरह से लोगों की मदद कर रही है। करीब 1 लाख जवान आर्मी, नेवी, एयरफोर्स, कोस्टगॉर्ड, NDRF, SDRF के लोगों को बचाने में जुटे हैं। अभी तक सेना और अन्य एजेंसियों के द्वारा करीब 38 हजार से ज्यादा लोगों को बचाया जा चुका है। इस स्थिति में आपकी दुआओं और मदद की सख्त जरूरत है। उम्मीद है हम सभी बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए दिल खोलकर आगे आएंगे।

यह भी पढ़ें: 'हमारी पहचान' बना रहा दिल्ली को महिलाओं के लिए सुरक्षित

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...