100 करोड़ रुपये के निवेश के साथ भारतीय ईकॉमर्स बाजार में प्रवेश करेगी UAE स्थित फीजीकार्ट 

2

Phygicart.com के भारत में प्रवेश से साबित होता है कि फ्लिपकार्ट-वॉलमार्ट डील से भारतीय ईकॉमर्स बाजार एक सौदा नहीं हुआ है। मौजूदा ई-टेलर्स सिर्फ खुदरा बाजार की सतह को कब्जाने में कामयाब हुए हैं।

फीजीकार्ट के को फाउंडर्स
फीजीकार्ट के को फाउंडर्स
Phygicart को 2016 में दुबई से आंत्रप्रेन्योर अनिश के. जॉय और जॉली एंटनी ने शुरू किया था और फर्म के पास अब सभी सातों अमीरात में 20,000 से अधिक पार्टनर स्टोर हैं।

दुबई स्थित ईकॉमर्स और डिरेक्ट मार्केटिंग कंपनी Phygicart.com ने गल्फ में अपनी सफलता के झंडे गाड़ने के बाद भारत में 100 करोड़ रुपये के शुरुआती निवेश के साथ अपना बिजनेस शुरू करने की घोषणा की है। डिजिटल और फिजिकल मार्केटिंग में हाईब्रिड मैथड को फॉलो करने वाली फिजीकार्ट इसी महीने केरल से पूरे भारत में अपने बिजनेस की शुरुआत करेगी। इस कंपनी में विविध रूप से 4,000 करोड़ रुपये वाले बॉबी चेमैनूर इंटरनेशनल ग्रुप के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक बॉबी चेमैनूर निवेश करेंगे। यह समूह वैश्विक स्तर पर अपने प्रमुख ब्रांड बॉबी चेमैनूर इंटरनेशनल ज्वैलर्स के तहत 44 ज्वैलरी शोरूम चलाता है।

Phygicart.com के भारत में प्रवेश से साबित होता है कि फ्लिपकार्ट-वॉलमार्ट डील से भारतीय ईकॉमर्स बाजार एक सौदा नहीं हुआ है। मौजूदा ई-टेलर्स सिर्फ खुदरा बाजार की सतह को कब्जाने में कामयाब हुए हैं। यहां ऑनलाइन खुदरा बाजार भारत में कुल खुदरा उद्योग के तीन प्रतिशत से भी कम है और शोध फर्म ईमार्केटर ने भविष्यवाणी की है कि भारतीय 2021 तक ईकॉमर्स पर 71.94 बिलियन डॉलर खर्च करने वाले हैं। Phygicart को 2016 में दुबई से आंत्रप्रेन्योर अनिश के. जॉय और जॉली एंटनी ने शुरू किया था और फर्म के पास अब सभी सातों अमीरात में 20,000 से अधिक पार्टनर स्टोर हैं।

भारत में, फर्म को केरल स्थित ज्वेलर बॉबी चेमैनूर प्रमोट कर रहे हैं। निवेश का इस्तेमाल कंपनी के अपने उत्पादों को बनाने के लिए किया जाएगा, जिसके लिए यह अहमदाबाद में एक संयोजन इकाई स्थापित करने की योजना बना रहे हैं। साथ ही अन्य ब्रांडों के साथ टाई-अप करने की भी योजना है।

अनिश के. जॉय कहते हैं, "हम कुछ अन्य ब्रांडों को टेक ओवर करने के लिए चर्चा कर रहे हैं। यह मॉडल एक व्यक्ति को उपभोक्ता बनने में सक्षम बनाता है और साथ ही साथ पार्टनर भी बनता है। इसके अलावा हमारे पार्टनर्स के साथ लाभ भी साझा करता है। यह पहल इनोवेटिव प्रोडक्ट के साथ आने वाले छोटे और मध्यम उद्यमों को अवसर प्रदान करने के लिए भी है।"

कंपनी के पास इलेक्ट्रॉनिक्स से कॉस्मेटिक्स, फूड से लेकर वेलनेस और ड्रेस मटेरियल तक 5,000 से अधिक प्रोडक्ट्स हैं। एक ग्राहक फर्म की वेबसाइट पर लॉग इन करके सीधे अपने प्रोडक्ट को ऑर्डर कर सकता है। आपको बता दें कि इंडिया फोरे 2022 तक अमेरिका और नेपाल समेत 7 देशों में ऑपरेशनल फुटप्रिंट का विस्तार करने और कारोबार में 1 बिलियन डॉलर तक पहुंचने के लिए फिजीकार्ट की योजनाओं का हिस्सा है।

यह भी पढ़ें: स्कूलों में बच्चों को पहुंचाने के लिए 'मास्टर जी' बन गए बस ड्राइवर

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी