मोबाइल में लोड करो ‘सैवी मोब’ एप्स, रहने की चिंता छोड़ो

होटल बुकिंग में मददगारसस्ते और बढ़िया होटल की गारंटी ‘सैवी मोब’15 से ज्यादा शहरों में ‘सैवी मोब’ की सेवाएं

0

आज के दौर में लोग खूब यात्राएं करते हैं। कई बार अंतिम क्षणों में होने वाली यात्रा को टाला नहीं जा सकता तब दिक्कत आती है हवाई टिकट और रहने के लिए होटल की। अंतिम घंटों में हवाई टिकट पाने के लिए यूं तो कई सारे ऑनलाइन और मोबाइल ऐप के विकल्प मौजूद हैं लेकिन किसी अच्छे और सस्ते होटल में जगह पाना किसी जद्दोजहद से कम नहीं होता। तो दूसरी ओर लो बजट एयरलाइंस के लिए भी अपना खर्चा निकालना मुश्किल हो रहा है इसलिए वो भी ‘होटल और पैकेज डील’ को ज्यादा तव्वजो दे रहे हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए सैवी मोब उन लोगों के लिए बढ़िया पसंद बन रहा है जो अंतिम पलों में यात्रा तो करते हैं लेकिन उनके पास रहने का ठिकाना नहीं होता।

सैवी मोब के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी बिक्रम सोहल कहते हैं “सैवी मोब होटलों के कमरों की बिक्री और राजस्व बढ़ाने में मददगार साबित हो सकता है। अप्रैल में जब सैवी मोब की शुरूआत हुई थी उसके बाद से होटलों के रेवन्यू में उन लोगों ने इजाफा किया, जो अंतिम क्षणों में यात्रा का फैसला लेते हैं।” जानकारों का कहना है कि भारत और चीन में मोबाइल बाजार तेजी से बढ़ रहा है और 2016 तक करीब 1 बिलियन लोग व्यापार के लिए मोबाइल का इस्तेमाल करेंगे।

सैवी मोब बुकिंग ऐप सभी एप्पल और एनरोइड फोन के लिए बनाया गया है। फिलहाल इसकी सेवा देश के 15 से ज्यादा शहरों में उपलब्ध है और इसका 125 से ज्यादा होटलों के साथ इसका करार है। सोहल का दावा है कि सैवी मोब के माध्यम से बुकिंग करने पर होटल के कमरों के दाम 20 से 30 प्रतिशत कम तक मिल जाते हैं। सोहल का कहना है कि वो इस बड़े बाजार के लिए खास रणनीति तैयार कर रहे हैं उनके मुताबिक “हम एक खास तरह का ट्रैवल प्रोडक्ट तैयार कर रहे हैं ताकि देश के 300 मिलयन लोगों को इसके साथ जोड़ा जा सके, यो उन लोगों के लिए होगा जिनको कीमत और दूसरी चीजों के लेकर खास ब्रांड के प्रति भरोसा नहीं है। ऐसे लोग कम कीमत में अच्छा मूल्य चाहते हैं।”

मजबूत टीम

सोहल ने अपना पेशेवर करियर अमेरिका में प्रोडक्ट मैनेजर के तौर पर शुरू किया था। उस दौरान डॉट कॉम ऊंचाईयों को छू कर गिर रहा था। “ मैंने अपने करियर की शुरूआत में ही कई उतार-चढ़ाव देखे हैं, जिसको मैंने ना सिर्फ महसूस किया बल्कि उसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।“ इसके बाद सोहल ने डिजिटल तकनीक के क्षेत्र में काम किया साथ ही कॉरोपेरट सैक्टर से भी अपना जुड़ाव रखा। “अंत में मैंने फैसला लिया कि मुझे खुद का काम शुरू करना चाहिए इस तरह मैंने हांगकांग में सीएनएन ट्रैवल कंपनी में महाप्रबंधक के तौर पर नौकरी छोड़ सैवी मोब सेवा शुरू की।”

बिक्रम सोहेल
बिक्रम सोहेल

सैवी मोब को गप्पन अन्नामलाई ने शुरू किया था। सोहल के मुताबिक “ये हमारी एकसाथ दूसरी पारी थी इससे पहले हम एओएल में साथ थे तब एओएल के पास विनेम्प, एआईएम, ऑटोब्लॉक आदि प्रमुख ग्राहक थे। अब हम दोनों और हमारी तकनीकी टीम लगातार मोबाइल ट्रैवल बुकिंग पर काम कर रहे हैं।”

सोहल कहते हैं कि “दूसरे ‘ओवर द एयर ऑपरेटर्स’ के मुकाबले हमारा मॉडल काफी हट कर है। होटलों को लेकर हमारे प्रस्ताव दूसरों से काफी अलग हैं और हमारा विश्वास है कि हम इस क्षेत्र में शुरूआत से हैं जिसका फायदा निश्चित तौर पर हमको मिलेगा। इतना ही नहीं ट्रैवल बुकिंग बाजार तेजी से बढ़ रहा है और ये अब दहाई अंकों तक पहुंच गया है। सैवी मोब मोबाइल बुकिंग का प्लेटफॉर्म हमारी यात्रा की शुरूआत भर है। हमारे आगे लंबा और मजेदार रास्ता है जहां पर हम नये उत्पादों को लांच कर सकते हैं।“

सोहल हमें सैवी मोब के भविष्य की एक झलक दिखाते हैं – ‘ज्यादा होटल, ज्यादा शहर, बढ़िया दाम और नई सुविधाएं होटल उद्योग के संचालन में क्रांतिकारी बदलाव ला सकते हैं।’

सैवी मोब की टीम का हर सदस्य ना सिर्फ जिम्मेदारी से अपने काम को देखता है बल्कि वो उत्साहित भी है। टीम के सदस्यों को ये अच्छी तरह पता है कि यात्रियों के साथ-साथ होटल संचालकों के लिए उनको कैसा उत्पाद तैयार करना है। इस संबंध में टीम के अंदर और बाहर काफी विचार विमर्श होता है। इसमें ना सिर्फ ग्राहक शामिल होते हैं बल्कि होटल संचालकों की राय भी पूछी जाती है। अब सैवी मोब बिक्री, विपणन, ऑप्स, पीआर जैसे कई नए उत्पादों के विकास पर काम कर रही है ये एक ऐसी सूची है जो खत्म नहीं होती। सोहल कहते हैं कि “मेरा आशय है कि अगले पांच सालों के दौरान युवाओं के बीच ट्रैवल एक ब्रांड के रूप में पहचाना जाए।”

योर स्टोरी के पाठकों के लिए ‘सैवी मोब’ खास ऑफर देती है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...