मिस इंडिया ने टॉप की ISC 12वीं की परीक्षा

फेमिना मिस इंडिया की सेकेंड रनरअप पंखुड़ी गिडवानी को ISC 12वीं की परीक्षा में मिले 97.25%

2

फेमिना मिस इंडिया की सेकेंड रनरअप पंखुड़ी गिडवानी ने ISC-2017 की 12वीं की परीक्षा में 97.25% नंबर हासिल कर टॉपर्स की लिस्ट में अपनी जगह बनाई है। इसके साथ ही लखनऊ की इस लड़की ने साबित कर दिया कि चाहे ब्यूटी हो या ब्रेन, वह किसी भी मामले में किसी से कम नहीं हैं। पंखुड़ी ने 2016 में मिस ग्रैंड इंटरनेशनल प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया था और 80 देशों के बीच में 25वां स्थान हासिल किया था। उन्होंने INIFD मिस टैलेंटेड कॉन्टेस्ट भी जीता है।

लखनऊ के ला-म‌ार्टिनियर गर्ल्स स्कूल की 12th की स्टूडेंट पंखुड़ी ने 2016 में एक और इंटरनेशनल प्रतियोगिता में भाग करने के लिए उस साल 12th का एग्जाम नहीं दिया था।

अपनी सफलता से उत्साहित होकर फेमिना मिस इंडिया की सेकेंड रनरअप पंखुड़ी गिडवानी ने अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा, 'इस बार मुझे 97.25% मार्क्स मिले। तो कुछ ऐसी बातें हैं जो मैं अपने दोस्तों को बताना चाहती हूं। 18 साल की उम्र में मैंने मिस इंडिया में हिस्सा लेने के लिए अपना बोर्ड का एग्जाम छोड़ दिया था। मिस इंडिया प्रतियोगिता में मैं सेकेंड रनअरअप रही। सेकंड रनर-अप बनने के बाद मुझे मिस ग्रैंड इंटरनेशनल के लिए ट्रेनिंग करनी पड़ी। लास वेगास में हुए उस कॉम्पिटीशन में मैं 80 देशों की कंटेस्टेंट्स के बीच 25वें स्थान पर आई। एक साल की ग्लैमरस जर्नी के बाद मुझे दोबारा स्टडीज पर फोकस करना था, जो काफी मुश्किल रहा। मैंने अपना 100 परसेंट एफर्ट लगाया और रिजल्ट सबके सामने है।'

ये भी पढ़ें,
आत्मविश्वास से लबरेज 'पूजा विजय' हकलाने के बावजूद हंसाती हैं लोगों को

पंखुड़ी आगे कहती हैं कि, 'हर वो इंसान जो ये सोचता है कि वह कुछ करना चाहता है और उसे लगता है कि वह उसे नहीं हासिल कर पाएगा, दरअसल वह कर सकता है। चाहे अकैडमिक्स में जाना हो या अपने सपने पूरे करने हों। सच्चे दिल और पूरी लगन से कुछ भी हासिल किया जा सकता है।' पंखुड़ी ने कहा कि कुछ भी इंपॉसिबल नहीं है, फिर चाहे वो आपकी पढ़ाई हो या आपके सपने। एक साल पढ़ाई से दूर ग्लैमर की चकाचौंध में रहने के बाद फिर से वापस स्कूल में आना, पढ़ना और एग्जाम देना थोड़ा मुश्किल तो लगता है, लेकिन पंखुड़ी ने हिम्मत नहीं हारी और पूरी लगन से पढ़ाई करते हुए टॉपर्स की लिस्ट में जगह बनाई।

पंखुड़ी अक्टूबर 2016 तक मिस ग्रैंड इंटरनेशनल के लिए अमेरिका में थीं। वहीं मॉडलिंग के साथ-साथ थोड़ी बहुत पढ़ाई भी कर रही थीं। साल के अंत में वह लखनऊ वापस लौटीं और अपनी चचेरी बहन के साथ पढ़ाई में लग गईं। वह भी 12th बोर्ड के लिए तैयारी कर रही थी। पंखुड़ी ने सिर्फ 3 महीने लगातार पढ़ाई पर ध्यान दिया। 

पंखुड़ी गिडवानी बताती हैं, कि उनकी टीचर्स और पेरेंट्स ने बहुत सपोर्ट किया। पंखुड़ी आर्ट्स की स्टूडेंट हैं। वह अपनी हिस्ट्री टीचर को खासतौर पर शुक्रिया अदा करती हैं, जिन्होंने उनके घर जाकर उन्हें गाइड किया और जो कि पंखुड़ी के लिए बहुत मददगार साबित हुआ।पंखुड़ी हर रोज सुबह उठकर 2-3 घंटे ढ़ाई करती थी, फिर थोड़ा ब्रेक लेकर दोबारा रिविजन के लिए बैठ जाती थीं। शाम को वे जॉगिंग और वॉकिंग के लिए भी जाती थीं। ताकी पढ़ाई का असर उनकी सेहत पर न पड़े।

ये भी पढ़ें,
विधायक की फटकार पर रोने वाली IPS ने कहा, 'मेरे आँसुओं को मेरी कमजोरी न समझना'

आगे की प्लानिंग के बारे में पूछने पर पंखुड़ी बताती हैं, कि वे मुंबई से ही मीडिया स्टडीज या परफॉर्मिंग आर्ट्स में ग्रेजुएशन करना चाहती हैं। इसके साथ ही उन्होंने बेंगलुरु और पुणे का भी ऑप्शन रख रखा है। कुल मिलाकर पंखुड़ी ने साबित कर दिया है, कि मेहनत और लगन के दम पर किसी भी सपने को साकार किया जा सकता है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी