'पद्मभूषण' डॉ. अशोक सेठ की कामयाबी के पीछे है नाकामी की नायब कहानी

'कार्डियोलॉजिस्ट' डॉ. अशोक सेठ की लोकप्रियता और प्रसिद्धि भारत-भर में ही नहीं बल्कि दुनिया-भर में व्याप्त है ...

0

डॉ. अशोक सेठ की कहानी भी कामयाबी की बहुत-ही सुंदर और शानदार कहानी है। ये कहानी भी लोगों को प्रेरणा देने वाली है, अच्छे काम करने के लिए प्रोत्साहित करने वाली है। डॉ. सेठ की कहानी के कई सारे पहलु बेहद रोचक और रोमांचक भी है। जीवन को सफल बनाने के मंत्र भी डॉ. अशोक सेठ की कहानी में छिपे हुए हैं।

डॉ. सेठ ने कई ऐसे काम किये हैं, जो कि उनके पहले किसी अन्य भारतीय ने नहीं किये। वे अब तक 50 हज़ार से ज्यादा एंजियोग्राफी और 25 हज़ार से ज्यादा एंजियोप्लास्टी कर चुके हैं, लेकिन उनके डॉक्टर बनने की राह नहीं थी आसान। अशोक सेठ को एमबीबीएस की सीट हासिल करने के लिए काफी मुश्किलें झेलनी पड़ी थीं। तीसरे एटेम्पट में मिली थी उन्हें एमबीबीएस की सीट। पहले और दूसरे एटेम्पट में एमबीबीएस की सीट न मिलने पर हुए थे बहुत ही निराश।

डॉ. सेठ की कामयाबी के पीछे है नाकामी की एक नायब कहानी, वीडियों में आप भी सुनें...

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...