एक छोटे से विचार से बड़ी तकनीक बनने की कहानी , इनविजिबल चेयर

0

ज्यादा घंटों तक खड़ा होना अक्सर सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। खासकर जब आप लगातार काम कर रहे हों। खड़े रहकर काम करने की बात करें गोदाम, फैक्ट्री जैसी तंग जगह पर सभी कर्मचारियों को सीट उपलब्ध करवाना मुश्किल होता है। ऐसी स्थिति किसी भी समय परेशानी की सबब बन सकती है। जिसका परिणाम स्वास्थ्य पर ज्यादा खर्च, कर्मचारीयों की थकावट और कमर्चारी की काम से लम्बे समय तक छुट्टी हो सकती है। जो एक व्यावसायिक खतरा लगता है। क्या ऐसी कुर्सी के बारे कभी सोचा है जो तभी आपके पास प्रकट हो, जब आपको बैठने की जरुरत हो और बाकी समय वहां ना दिखे, जिससे फैक्ट्री आदि की तंग जगह में आने-जाने ने रुकावट ना पैदा ना हो?

Bryran Anastisiades और Keith Gunura ने Noonee नाम से अपना स्टार्टअप शुरू किया है। उन्होंने ऐसी इलेक्ट्रोमैकेनिकल रोबोटिक चेयर पेटेंट (पेंडिंग) कराने भेजी है, जो बिना बाधा दिये शरीर से जुड़ी रहती है। यह एक ऐसी कुर्सी है जो मौजूद तो नहीं है पर जरुरत के समय उपस्थित भी हो जाती है। बस एक बटन दबाते ही कुर्सी अपना रूप लेने लगती है और आपके पैरों के बाहर जुड़ जाती है।

Noonee के पुराने सीईओ और सह-संस्थापक Keith Gunura सीएनएन से बात करते हुए बताते हैं, “मुझे यह विचार सत्रह साल में आया, तब मैं ब्रिटेन की पैकेजिंग फैक्ट्री में काम करता था। मेरी चाहत थी कि एक उपकरण हो जिसकी मदद से कहीं भी और कभी भी बैठा जा सकता हो। घन्टों खड़े रहने की वजह से अंततः पीठ के निचले हिस्सों में दर्द शुरू हो गया था, कुछ कर्मचारियों के तो चटक भी आ गयी थी। वहां कुर्सियां बहुत कम उपलब्ध थीं, क्योंकि उनकी वजह से बहुत जगह घिर जाती थी। मैंने सोचा कि क्यों ना मैं एक बाधा ना देने वाला पट्टा शरीर पर पहन लूं।”

इस स्टार्टअप को Venture Kick की ओर से अच्छी फंडिंग भी मिली है। Venture Kick एक स्विट्ज़रलैंड की संस्था है जो Swiss Federal Supervisory Board of Foundation के तहत कार्य करती है।

इस डिवाइस की सबसे अच्छी बात यह है कि यह चलते या दौड़ते हुए बाधा उत्पन्न नहीं करती है। यह जाँघों से बंधी होती है और आम हरकत पर जमीन से नहीं टकराती है। वर्तमान में यह बिना बैटरी के चौबीस घंटे चल सकती है। यह डिवाइस कार्बन फाइबर से बनी है और इसका वजन सिर्फ दो किलो है।

जैसे ही यह डिवाइस ज्यादा बननी शुरू होंगी, यह कर्मचारियों के लिए स्थिति बदलकर रख देगी, जिससे उत्पादन बढने में मदद करेगी। बड़ी चोटों और दुर्घटनाएं अपने आप कम हो जायेंगी और सबसे अहम् थकान का एक बड़ा कारण समाप्त हो जाएगा।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...