रिक्शावालों के साथ मिलकर शुरू की कंपनी

हम रिक्शा चालक के अंदर के उद्यमी को प्रोत्साहित करतें हैं- जनार्दन प्रसाद, Autowale सीओओ

0

Autowale भारत में उन डायल-आ-रिक्शा कंपनीयों में से एक है जो इस इंडस्ट्री में टिका ही नहीं बल्कि लाभ भी कमाया है.....इस बात को जोर देकर Autowale के सीओओ जनार्दन प्रसाद, योरस्टोरी के साथ टेलिफोन और ईमेल के माध्यम से हुई बातचीत में कहते हैं| कंपनी ने पिछले साल 0.5 मिलियन अमरीकी डालर का फण्ड जुटाया है| जिसे वे पुणे और बैंगलोर में इन्वेस्ट कर रहे हैं| वह कहते हैं, “हमने अभी तक 75000 से अधिक कस्टमर्स को सेवा दी है और लगातार देते जा रहे हैं| यह पूरी यात्रा Autowale टीम के लिए उतार-चढ़ाव वाली रही है| लेकिन हमारो लक्ष्य भारत में Autowale बिज़नस को लाभदायक बनाना था|”

जनार्दन प्रसाद और मुकेश झा
जनार्दन प्रसाद और मुकेश झा

आपने रणनीति के संदर्भ में एक उद्यमी के रूप में क्या पाठ सीखा?

अलग-अलग कंपनीयों की अलग-अलग रणनीति होती है| जो एक इंडस्ट्री में काम करती है, वह दूसरी इंडस्ट्री में काम नहीं करती| एक उद्यमी के रूप में, सबकों सुनना लेकिन अपना रास्ता चुनना और निर्णय लेना आपकी इंडस्ट्री के लिए बेहतर होता है| उदाहरण के लिए, हम पुणे में तेजी से बढ़ रहे थे लेकिन बहुत अधिक रेट से| हमने इस पर नियन्त्रण किया और 6 महीनें में इसे लाभदायक बनाया| अब, हम अपने बिज़नस को लेकर और भी कॉंफिडेंट हैं|

बैंगलोर में पायलट के बाद Autowale क्यों पीछे हटे?

पुणे में काफी बढ़ने के बाद हमने बैंगलोर में पायलट को मान्य किया| ऑटोवाले की डायल-आ-रिक्शा मॉडल भारत के अन्य शहर में भी काम कर सकता है| जब यह एक बार मान्य हो गया हमने इसे कमर्शियली लांच नहीं किया, क्योंकि हमें बैंगलोर के लिए बड़े सेट-अप की आवश्यकता थी, जिसे हम फण्ड के अगले दौर में करेंगे| बैंगलोर में सफलता के बाद हम पुणे को लाभदायक बनाने में लग गये| एक उद्यमी के रूप में, आप को हर समय प्रयोग करते रहने चाहिए| जिस तरह के बिज़नस में हम हैं उसमे हमें शहर में जाकर शहर को समझना पड़ता है|

आपकी डायल-आ-रिक्शा मैट्रिक्स की चाभी|

यह भारत में अरबों डॉलर की इंडस्ट्री है, जिसमे लाखों रिक्शा सड़क पर अयोग्यता से चल रहे हैं| हमारा ध्यान अधिक से अधिक ग्राहकों की सेवा और इस प्रणाली को अधिक कुशल बनाने में केंद्रित है| हमने चालक की कमाई की क्षमता बढ़ाई है| हमारे 20 प्रतिशत से अधिक ड्राइवरों प्रति माह से अधिक रुपये 25,000-30,000 कमाते हैं, जिसने ड्राइवरों के साथ एक मजबूत काम किया है| हमने चालकों को खाली चलना कम कर दिया है| हमारे रिक्शा 30% खाली चलते हैं| जहाँ तक हम जानते हैं, रेडियो-कैब भारत में 40 प्रतिशत तक खाली चलती हैं|

फण्ड का उपयोग|

नया क्षेत्र होने के कारण, हमने फण्ड का उपयोग दीर्घकालीन बिज़नस के लिए किया| पिछले साल हमने वृद्धि पर ध्यान केंद्रित किया और एक अच्छी दर से बढ़े, और इस साल हमने लाभ पर ध्यान केंद्रित किया| Autowale पर हम पहले से अधिक लाभ कमा रहे हैं| अगर हम वर्तमान गति से बढ़ते रहेंगे तो विकास के अगले चरण में पहुँच जायेंगे| पिछले साल उठाये फण्ड से हम ये ही हासिल करना चाहते थे|

क्या आप शहरों में ड्राइवरों की अधिक आपूर्ति देखते हैं?

ऑटोवाले हमेशा से ही अधिक मांग में रहे हैं और मैं आशा करता हूँ कि यह लगातार जारी रहे| इसके अलावा, हम सभी ड्राइवरों को शामिल नहीं करना चाहते हैं| हम सिर्फ कुछ अच्छे चालकों के साथ काम करना चाहतें हैं| हम रिक्शा चालक के अंदर के उद्यमी को प्रोत्साहित करते हैं और अपने बिज़नस के लक्ष्यों को उनके लक्ष्यों के साथ संरेखित करते हैं| हम उन चालकों के साथ काम करते हैं जो बदलाव में विश्वास करते हैं और बढ़ना चाहते हैं|

एक ऑटो रिक्शा चालक बोर्ड पर कैसे आता है?

हम ड्राइवरों के कौशल और इरादों के परीक्षण और जाँच के लिए इंटरव्यू आयोजित करते हैं| हम इसके अनुपालन पर भी ध्यान केंद्रित करते हैं| सभी ड्राइवरों आरटीए द्वारा अधिकृत है और सभी के पास वैध लाइसेंस, परमिट, बीमा, और मीटर है| इसके माध्यम से हम सुनिश्चित करते हैं कि कस्टमर्स सेवा पर भरोसा करें, और हम अन्य ड्राइवरों के लिए गलत उम्मीद की स्थापना नहीं कर रहे हैं|

सोशल मीडिया के साथ आपके अनुभव|

यदि आपके सोशल मीडिया पेज आप के बिज़नस में ब्रांड, विपणन, मुद्रीकरण आदि के संदर्भ में लाभदायक है तो इस पर ध्यान देते हैं| यदि आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को मुद्रीकरण करने में सक्षम नहीं हैं, तो आप कम्युनिकेशन के दूसरें स्रोतों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं| उदाहरण के लिए, Autowale में, एक निश्चित समय के बाद हमने एहसास किया कि कस्टमर सेगमेंट फेसबुक पर सक्रिय नहीं है और जो सक्रिय हैं वो सकारात्मक प्रतिक्रिया देने में सक्षम नहीं हैं| ई-कॉमर्स कंपनियों ने सोशल मीडिया पर बहुत ध्यान दिया है, लेकिन Autowale तरह की कंपनी के पास कस्टमर्स के लिए अलग कम्युनिकेशन चैनल होने चाहिए|

रिक्शा चालकों के बारे में कोई पहले से बनी राय जो गलत साबित हुई हो?

Autowale शुरू करने से पहले, हमें चेतावनी दी थी कि रिक्शा चालकों को संभालना कठिन हैं, वे ज्यादातर अशिक्षित और बेईमान हैं| लेकिन जब हमने ड्राइवरों के साथ बातचीत शुरू की तो हमें एहसास हुआ कि उनमें से ज्यादातर ईमानदार हैं और उनकी अपनी नैतिकता है| हम ज्यादातर उन ड्राइवरों के साथ काम करते हैं जिनका अपना परिवार है| अगर हम ड्राइवरों को बेहतर प्रदर्शन करने के लिए सही मंच देते हैं तो वे एक सम्मानजनक और आरामदायक जीवन जीना चाहते हैं|

मीडिया अब तक क्या भूमिका निभाई है?

मीडिया किसी भी बिज़नस के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है| वे उत्साहजनक कहानियों को लिखते हैं, उनके शब्द तेजी से चारों ओर फैलते हैं और विकास के विभिन्न चरणों में एक कंपनी के लिए विश्वसनीयता लाते हैं| सभी कस्टमर्स उनके माध्यम से आते हैं| हालांकि, जब इंडस्ट्री अच्छा नहीं कर रही होती तो वे कंपनी का मूल्यांकन करने के बजाय, उनको प्रोत्साहित करने में एक बेहतर भूमिका निभा सकते हैं|