बस ड्राइवर के बेटे ने सरकारी स्कूल में पढ़कर 12वीं में लाए 97 पर्सेंट, जेईई भी किया क्वॉलिफाई

0

हमेशा की तरह इस बार भी कुछ ऐसे बच्चों के टॉप करने की खबरें आई हैं जिन्होंने सीमित संसाधनों में अपनी मेहनत के बलबूते अपनी काबिलियत का परचम लहरा दिया। सबसे पहले आपको दिल्ली परिवहन निगम में बस ड्राइवर के बेटे प्रिंस की सफलता के बारे में बताते हैं। प्रिंस ने इस बार 12वीं की परीक्षा में 97 प्रतिशत नंबर हासिल किए।

प्रिंस और प्राची अपने-अपने माता-पिता के साथ
प्रिंस और प्राची अपने-अपने माता-पिता के साथ
सिसोदिया ने कॉमर्स स्ट्रीम में टॉप करने वाली प्राची को भी बधाईयां दी जिसने 96.2 प्रतिशत नंबर हासिल किए। प्राची भी एक साधारण परिवार से आती है और उसके पिता एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। प्राची नने इकॉनोमिक्स में 100 में से 100 और मैथ्स में 99 नंबर मिले। 

सीबीएसई ने दसवीं और बारहवीं के नतीजे जारी कर दिए हैं। दसवीं में तो कुल चार बच्चों ने इस परीक्षा में संयुक्त रूप से टॉप किया है। लेकिन हमेशा की तरह इस बार भी कुछ ऐसे बच्चों के टॉप करने की खबरें आई हैं जिन्होंने सीमित संसाधनों में अपनी मेहनत के बलबूते अपनी काबिलियत का परचम लहरा दिया। सबसे पहले आपको दिल्ली परिवहन निगम में बस ड्राइवर के बेटे प्रिंस की सफलता के बारे में बताते हैं।। प्रिंस ने इस बार 12वीं की परीक्षा में 97 प्रतिशत नंबर हासिल किए। प्रिंस को 500 में से 485 नंबर मिले। उसे मैथ्स में 100, इकॉनोमिक्स में 99 और केमिस्ट्री में 98 नंबर मिले।

प्रिंस ने अपनी पढ़ाई ऐसी परिस्थितियों में की जहां बहुत अधिक सुविधाएं नहीं थी। उसने कहा, 'मैं एक डीटीसी ड्राइवर का बेटा हूं और मुझे कभी उम्मीद नहीं थी कि इतने अच्छे नंबर आएंगे। अब लोग मुझे फोन कर बधाइयां दे रहे हैं और मीडिया से भी इंटरव्यू के लिए लोग आ रहे हैं।' दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर प्रिंस की फोटो साझा करते हुए उसे बधाई दी। सिसोदिया ने कहा, 'सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे एक खास आर्थिक और सामाजिक तबके से आते हैं। लेकिन हमारे टीचर और स्कूल किसी भी मामले में प्राइवेट स्कूलों से कम नहीं है।'

प्रिंस ने आईआईटी-जेईई की मेन्स परीक्षा भी पास कर ली है। अब वह इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजिनियरिंग की पढ़ाई करना चाहता है। इसके साथ ही सिसोदिया ने कॉमर्स स्ट्रीम में टॉप करने वाली प्राची को भी बधाईयां दी जिसने 96.2 प्रतिशत नंबर हासिल किए। प्राची भी एक साधारण परिवार से आती है और उसके पिता एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। प्राची ने इकॉनोमिक्स में 100 में से 100 और मैथ्स में 99 नंबर मिले। सिसोदिया ने दिल्ली के सरकारी स्कूलों की तारीफ की। इस बार 168 स्कूलों में 100 प्रतिशत बच्चों ने सफलता हासिल की। पिछली बार सिर्फ 112 सरकारी स्कूलों ने 100 प्रतिशत रिजल्ट दिया था।

यह भी पढ़ें: ऑटो ड्राइवर की बेटी ने दसवीं में हासिल किए 98 प्रतिशत, डॉक्टर बनने का सपना

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...