मछली तेल सप्लीमेंट बुज़ुर्ग महिलाओं में मांसपेशियों की क्षमता बढ़ाने में कारगर

लंदन में हुए एक शोध में यह बात सामने आई है, कि मछली तेल के सप्लीमेंट बुजुर्ग महिलाओं में मांसपेशियों के काम करने की क्षमता को बढ़ाते हैं।

0

एक नए शोध में पता चला है कि मछली के तेल के सप्लीमेंट बुजुर्ग महिलाओं में मांसपेशियों के काम करने की क्षमता को बढ़ाते हैं और इस तरह उनके जीवन की गुणवत्ता भी बेहतर होती है।

फोटो साभार: .pinterest
फोटो साभार: .pinterest

ग्लासगो और अबेरदीन विश्वविद्यालयों के नेतृत्व में किया गया यह शोध दी अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन में प्रकाशित हुआ है।

इसमें अनुसंधानकर्ताओं ने पाया है कि बुजुर्ग महिलाओं के खानपान में तीन ग्राम मछली के तेल (ओमेगा तीन) के सम्लीमेंट को शामिल करके और इसके साथ ही करीब 18 महीने तक व्यायाम प्रशिक्षण करने के परिणामस्वरूप उनकी मांसपेशियों की काम करने की क्षमता में उल्लेखनीय इजाफा देखा गया।

इस शोध के दौरान मछली तेल के सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने वाली बुज़ुर्ग महिलाओं की मांसपेशियों के आकार, कार्यक्षमता और गुणवत्ता में वृद्धि देखी गई।

मछली के तेल के सप्लीमेंट ले रहे पुरूषों में इस अवधि में मांसपेशियों के आकार या कार्यक्षमता में कोई अंतर नहीं आया।

ग्लासगो विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोवस्क्युलर ऐंड मेडिकल साइंसेस के स्टुअर्ट ग्रे ने कहा है, कि ‘यह खोज महिलाओं के लिए खासतौर से लाभदायक होगी, क्योंकि पुरूषों के मुकाबले महिलाओं के चार साल अधिक जीने की ज्यादा संभावना होती है और वे अक्षमता की दहलीज को पार कर जाती हैं।'

महिलाओं की कार्यक्षमता पुरूषों के मुकाबले दस साल पहले खत्म हो जाती है।