व्यक्तिगत गड़बड़ी के आरोपों के बाद बिन्नी बंसल ने दिया फ्लिपकार्ट से इस्तीफा

0

बिन्नी बंसल के इस्तीफे की खबर फ्लिपकार्ट के अधिग्रहीत होने के ठीक 6 महीने बाद आई है। गौरतलब है कि 6 माह पहले ही भारत की प्रमुख ई-कॉमर्स वेबसाइट को अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट द्वारा अधिग्रहण कर लिया गया था।

वॉलमार्ट ने 16 अरब डॉलर में फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी हासिल की थी। फ्लिपकार्ट का वर्तमान मूल्य 20 अरब डॉलर है। जिसमें से 2 अरब डॉलर वास्तविक निवेश है। 

फ्लिपकार्ट के संस्थापक और सीईओ बिन्नी बंसल ने व्यक्तिगत गड़बड़ी करने के आरोप के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वॉलमार्ट ने एक बयान जारी कर इस बात की पुष्टि की। बयान में कहा गया, 'फ्लिपकार्ट और वॉलमार्ट द्वारा एक स्वतंत्र जांच की गई। बिन्नी ने आरोपों से सीधे इनकार कर दिया।' बिन्नी बंसल के इस्तीफे की खबर फ्लिपकार्ट के अधिग्रहीत होने के ठीक 6 महीने बाद आई है। गौरतलब है कि 6 माह पहले ही भारत की प्रमुख ई-कॉमर्स वेबसाइट को अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट द्वारा अधिग्रहण कर लिया गया था।

वॉलमार्ट ने अपने बयान में आगे कहा, 'बिन्नी ने अपने आरोपों से इनकार कर दिया, लेकिन यह हमारी जिम्मेदारी थी कि जांच सही तरीके से हो। हालांकि जांच में बिन्नी के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला, लेकिन बिन्नी का तरीका सही नहीं था और उन्होंने जिस तरह से प्रतिक्रिया दी उसमें पारदर्शिता की कमी थी। इस वजह से हमने उनके इस्तीफे के फैसले को स्वीकार कर लिया।' मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो फ्लिपकार्ट में बिन्नी की 5-6 फीसदी की हिस्सेदारी है।

बिन्नी को फ्लिपकार्ट का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बताते हुए वॉलमार्ट ने कहा कि हाल फिलहाल के मामलों के चलते बिन्नी का ध्यान भंग हो रहा था और इसलिए उन्होंने इस्तीफा देने का फैसलसा कर लिया। वॉलमार्ट ने अपने बयान में यह भी कहा कि बिन्नी कुछ दिनों से परिवर्तन के दौर से गुजर रहे हैं और वे वॉलमार्ट के साथ एक योजना पर काम भी कर रहे हैं जो कि अब तेज हो गया है। बिन्नी के जाने के बाद कल्याण कृष्णमूर्ति फ्लिपकार्ट के सीईओ रहेंगे और वे फ्लिपकार्ट में रहते हुए मिंत्रा और जबॉन्ग का भी काम देखते रहेंगे।

वॉलमार्ट ने 16 अरब डॉलर में फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी हासिल की थी। फ्लिपकार्ट का वर्तमान मूल्य 20 अरब डॉलर है। जिसमें से 2 अरब डॉलर वास्तविक निवेश है। शेष धन को बाकी हितधारकों को खरीदने में खर्च किया गया। वित्तीय वर्ष 2017-18 में कंपनी ने 7.5 अरब डॉलर का सकल व्यापार मूल्य दर्ज किया था जिसमें 4.6 अरब डॉलर की शुद्ध बिक्री थी।

यह भी पढ़ें: गरीब दिव्यांगों को कृत्रिम अंग बांटने के लिए स्कूली बच्चों ने जुटाए 40 लाख रुपये

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...