‘कबाली’ का उत्साह बता रहा है कि रजनीकांत के दीवाने और उनकी दीवानगी में कोई कमी नहीं

0

दक्षिण के फिल्मों के महानायक रजनीकांत की बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘कबाली’ आज देश भर में रिलीज हुई और उनको दिवानगी की हद तक चाहने वालों ने नाचते-गाते हुए सिनेमाघरों का रूख किया। भोर में ही सिनेमाघरों का रूख करने वाले कई प्रशंसकों ने रजनीकांत के बड़े कटआउट पर हजारों लीटर दूध चढ़ाया।

यह देश और विदेश के करीब 5,000 स्क्रीन पर रिलीज हुई है। निर्देशक पा रंजीत की इस फिल्म के कुछ विशेष शो आज सुबह भी चलाए गए। फिल्म तमिलनाडु के एक हजार स्क्रीन पर रिलीज हुई। भारत के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, मलेशिया और सिंगापुर में भी यह फिल्म रिलीज हुई है।

मशहूर सिनेमा घरों के बाहर अभिनेता के कटआउट और बैनर भी लगाए गए है। अपनी खास स्टाइल के लिए विख्यात रजनीकांत की इस फिल्म के रिलीज के मौके पर दिखने वाली दिवानगी का गवाह बनने के लिए जापान से भी उनके कुछ प्रशंसक यहां पहुंचे हैं।

कई स्थानों पर इस फिल्म की कामयाबी के लिए विशेष प्रार्थन का आयोजन किया गया जो इस बात का सबूत है कि ‘लिंगा’ सहित उनकी पिछली दो फिल्मों के नाकाम होने के बावजूद रजनीकांत की लोकप्रियता पर कोई असर नहीं हुआ।

प्रशंसक ‘कबाली दा’ और फिल्म के कुछ दूसरे संवाद बोलते नजर आए। कई लोगों ने दिन के दूसरे शो के निए टिकटें खरीदीं क्योंकि फिल्म का कुछ हिस्सा वह देख नहीं पाए। तमिल में बनी यह फिल्म हिंदी और तेलुगू में डब की गई है। मुंबई, हैदराबाद, बेंगलुरू और केरल के कई शहरों में सिनेमाघर हाउसफुल रहे।

रजनीकांत की पिछली फिल्म ‘लिंगा’ के बॉक्स ऑफिस पर असफल रहने के बाद से ही इस फिल्म का उनके प्रशंसक काफी बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। कई स्थानों पर कुछ लोगों और संस्थानों द्वारा सारी टिकट बुक करवा लेने की वजह से कुछ प्रशंसक नाराज भी दिखे। लेकिन व्यापक रूप से सिनेमा घरों के बाहर लोग खुश नज़र आए।

फिल्म के निर्माता कलैपुलि एस थानु हैं। अमेरिका समेत कई देशों में फिल्म पहले ही रिलीज हो चुकी है। फिल्म ‘कबाली’ का ‘नेरूपुड्डा’ गीत पहले ही हिट हो चुका है। फिल्म का संगीत संतोष नारायण ने दिया है। इसमें.राधिका आप्टे धन्सिका और कलैआरासन भी मुख्य भूमिकाओं में हैं। इस बीच बेंगलूरू से फिल्म की विशेष स्क्रीनिंग देखने आए लोगों ने समय और स्थान में किए गए बदलाव को लेकर भी शिकायत की। प्रशंसकों के लिए यह विशेष व्यवस्था एयर एशिया ने की थी।

चेन्नई के सिनेमा घर में उन्हें फिल्म रजनीकांत के साथ दिखाने का वादा किया गया था, लेकिन बाद में स्क्रीनिंग का स्थान बदल दिया गया। कंपनी ने अपनी ग़लती मानते हुए प्रशंसकों को मुआवजा देने की बात कही है। ‘लिंगा’ के वितरण के समय कथित रूप से फिल्म वितरण कंपनी को हुए नुकसान के मुआवजे़े की मांग कर रही फर्म ने ‘कबाली’ की रिलीज रोकने की याचिका दायर की थी जिसे कल मद्रास उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया जिसके बाद आज फिल्म रिलीज हुई।

उधर, पुड्डुचेरी की उप राज्यपाल किरण बेदी ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत अपने मकानों में शौचालयों का निर्माण कराने वाले ग्रामीणों को ‘कबाली’ फिल्म का मुफ्त टिकट दिया। राज निवास के सूत्रों ने बताया कि बेदी ने 147 ग्रामीणों को मुफ्त में टिकट दिए। ... पीटीआई

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...