पीएम मोदी ने किया फिनटेक फेस्टिवल का उद्घाटन, भारतीय युवाओं की तारीफ की

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार रात दो दिन के दौरे पर सिंगापुर पहुंचे। यह फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी पर दुनिया का सबसे बड़ा उत्सव है। पीएम मोदी ने कहा कि मैं सभी फिनटेक कंपनियों और स्टार्टअप्स से कहना चाहता हूं कि भारत आपके लिए बेहतरीन जगह है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे युवा ऐसे ऐप्स विकसित कर रहे हैं जो सभी के लिए कागज रहित, नकद रहित, मौजूदगी रहित और सुरक्षित लेन-देन को संभव बना रहे हैं।

सिंगापुर में फिनेटेक फेस्टिवल की शुरुआत हो गई। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्रर मोदी ने ऑनलाइन ग्लोबल फिनटेक मार्केटप्लेस एपीआइएक्स का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि वे इस पर गर्व महसूस करते हैं कि वे इस फेस्टिवल को संबोधित करने वाले वे पहले ऐसे शख्स हैं, जो किसी देश की सरकार के मुखिया हैं। उन्होंने कहा कि ये भारत के युवाओं का सम्मान है। इस दौरान मोदी ने कहा कि युवाओं की ऊर्जा पर भरोसा करने से ही दुनिया की तस्वीर बदलेगी।

मोदी ने कहा कि सिंगापुर फिनटेक उत्सव में मुख्य भाषण देना काफी अधिक सम्मान की बात है। यह भविष्य पर निगाहें टिकाए भारतीय युवाओं का सम्मान है। उन्होंने कहा, 'मैंने यहीं पर इस वर्ष जून में भारत का रूपे कार्ड तथा भारत के विश्व स्तरीय यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस या यूपीआई का उपयोग वाले रकम भेजने वाले विश्व के प्रथम अंतर्राष्ट्रीय मोबाइल एप को लांच किया था। आज मुझे फिनटेक कम्पनियों तथा वित्तीय संस्थानों को जोड़ने वाले वैश्विक प्लेटफॉर्म लांच करने का सम्मान प्राप्त होगा। इसका प्रारंभ आसियान तथा भारतीय बैंकों और फिनटेक कम्पनियों से होगा। '

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार रात दो दिन के दौरे पर सिंगापुर पहुंचे। यह फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी पर दुनिया का सबसे बड़ा उत्सव है। पीएम मोदी ने कहा कि मैं सभी फिनटेक कंपनियों और स्टार्टअप्स से कहना चाहता हूं कि भारत आपके लिए बेहतरीन जगह है। उन्होंने कहा, 'मैने 2014 में संयुक्त राष्ट्र में कहा था कि हमें मानना होगा कि विकास और सशक्तिकरण का विस्तार फेसबुक, ट्विटर या मोबाइल फोन की गति से ही होगा। भारत में इसने शासन संचालन और सार्वजनिक सेवाओं की डिलीवरी में बदलाव ला दिया है। नवाचार, आशा और अवसरों की भरभार हो गयी है। इसने कमजोर को सशक्त बनाया है और हाशिए पर रह रहे लोगों को मुख्यधारा में ला दिया है। इसने आर्थिक पहुंच को पहले से अधिक लोकतांत्रिक बना दिया है।'

मोदी ने यहां दुनिया के सबसे बड़े बैंकिंग सॉल्यूशन में से एक ‘एपिक्स’ को लॉन्च किया। यह सॉल्यूशन भारत समेत दुनिया के उन 23 देशों के लोगों के लिए बनाया गया है, जिनके पास बैंक खाते नहीं हैं। यह दो अरब लोगों को जोड़ेगा। एपिक्स को हैदराबाद, कोलंबो और लंदन के विशेषज्ञों ने बनाया है। एपिक्स भारत और आसियान के सभी 10 देशों समेत 23 राष्ट्रों में दूरदराज के इलाकों में रहने वाले लोगों को जोड़ेगा। एपिक्स सभी 23 देशों की बैंकों को हर तरह का तकनीकी सपोर्ट मुहैया कराएगा ताकि वे जरूरतमंद लोगों के बैंक खाते खोल सकें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे युवा ऐसे ऐप्स विकसित कर रहे हैं जो सभी के लिए कागज रहित, नकद रहित, मौजूदगी रहित और सुरक्षित लेन-देन को संभव बना रहे हैं। यह विश्व का सबसे बड़ा एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस सेट इंडिया स्टैक का कमाल है। हमारा फोकस सबके विकास और सबसे अधिक हाशिए पर खड़े व्यक्ति के विकास पर होना चाहिए। हमें बैंकिंग सुविधाओँ से वंचित विश्व के 1.7 बिलियन लोगों को औपचारिक वित्तीय बाजार में लाना होगा।

यह भी पढ़ें: गरीब दिव्यांगों को कृत्रिम अंग बांटने के लिए स्कूली बच्चों ने जुटाए 40 लाख रुपये

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...