सरकारी डाटा बैंक में आनलाईन मूलभूत ब्योरे मुहैया कराएँ एमएसएमई इकाइयाँ!

0

सरकार ने सूक्ष्म, लघु और मंझोले उपक्रमों (एमएसएमई) के लिए नए नियम अधिसूचित किए हैं, ताकि वे तय प्रारूप के अनुसार अपने विवरण प्रस्तुत कर सकें।

सूक्ष्म, लघु एवं मंझोले उपक्रम विकास (सूचना मुहैया कराने संबंधी) नियम, 2016 के मुताबिक इन उपक्रमों को केंद्र सरकार के डाटा बैंक के लिए आनलाईन मूलभूत ब्योरे मुहैया कराने की जरूरत है।

इन जानकारियों में आधार संख्या, उद्योग आधार संख्या, पैन नंबर, उपक्रम सामाजिक खंड, अधिकृत व्यक्ति के नाम और परिचालन का स्वरूप आदि शामिल है।

अतिरिक्त अनिवार्यता खंड में उपक्रमों से यह भी जानकारी मांगी गई है कि क्या वे अपने संगठन-फैक्ट्री के लिए सौर उर्जा का उपयेाग करते हैं या करना चाहते हैं या फिर क्या उनका संयुक्त उद्यम है या फिर ऐसा करने की योजना बना रहे हैं आदि।

पीटीआई

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...