इस चाइल्ड जीनियस का आईक्यू तो अल्बर्ट आइंस्टीन से भी तेज! 

अल्बर्ट आइंस्टीन से भी ज्यादा तेज़ दिमाग का चाइल्ज जीनियस...

0

बारह वर्ष की उम्र में ही राहुल (असली नाम अघोषित) ने ब्रिटेन के चैनल-4 पर एक टीवी शो में किए गए सभी प्रश्नों का जवाब देकर सबको हैरत में डाल दिया। 

जीनियस राहुल (फोटो साभार: सोशल मीडिया)
जीनियस राहुल (फोटो साभार: सोशल मीडिया)
ब्रिटेन में एक टीवी कार्यक्रम में सभी सवालों के सही जवाब देने के बाद भारतीय मूल का 12 वर्षीय लड़का एक ही रात में चर्चा में आ गया है।

इस टीवी शो में आठ से बारह वर्ष की उम्र वाले 20 बाल प्रतिभागियों को शामिल किया गया। इस क्विज में हर सप्ताह एक प्रतिभागी विजेता घोषित होता है। 

भारत का एक ऐसा प्रतिभाशाली, होनहार बालक विश्व की सुर्खियों में छा गया है, जिसका दिमाग (आईक्यू) महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफेन हॉकिंग से भी तेज दौड़ रहा है। बारह वर्ष की उम्र में ही राहुल (असली नाम अघोषित) ने ब्रिटेन के चैनल-4 पर एक टीवी शो में किए गए सभी प्रश्नों का जवाब देकर सबको हैरत में डाल दिया। हालांकि, उसके आइंस्टीन से भी कुशाग्र होने का यह कोई मानकीय सत्य नहीं, बल्कि चैनल की ओर घोषित मात्र एक कयास है।

भारतीय मूल के इस प्रतिभाशाली बालक ने ब्रिटेन के टीवी चैनल-4 पर आयोजित क्विज 'चाइल्ड जीनियस' के पहले राउंड में 15 में से 14 सवालों के सही-सही जवाब दे दिए। ब्रिटेन के इस टीवी शो में आठ से बारह वर्ष की उम्र वाले 20 बाल प्रतिभागियों को शामिल किया गया। इस क्विज में हर सप्ताह एक प्रतिभागी विजेता घोषित होता है। राहुल ने स्पेलिंग, उच्चारण टेस्टों में एक भी चूक नहीं की। उच्चारण परीक्षण में अंग्रेजी के ऐसे शब्द दिए जाते हैं जो अप्रचलित होने के साथ ही बोलने में कठिन भी होते हैं। स्मृति का परीक्षण करने वाले राउंड में राहुल ने 15 में से 14 सवालों के सही जवाब दिए। 15वें सवाल का जवाब देने के लिए उसके पास समय नहीं बचा।

फोटो साभार: सोशली मीडिया।
फोटो साभार: सोशली मीडिया।

राहुल का IQ 162 है और ऐसा माना जाता है कि यह अल्बर्ट आइन्स्टाइन और स्टीफन हॉकिंग जैसे जीनियस लोगों से भी ज्यादा है, हालांकि इनमें से किसी वैज्ञानिक ने IQ परीक्षा नहीं दी है और यह केवल एक अनुमान है। इस तरह राहुल उस मेन्सा क्लब का सदस्य बनने के भी योग्य हो गया है जो दुनिया में हाई IQ वाले लोगों का सबसे बड़ा और सबसे पुराना क्लब है।

चैनल की ओर से अभी इस बालक का असली नाम घोषित नहीं किया गया है। फिलहाल, क्विज में उसे राहुल नाम दिया गया है। यद्यपि (वैसे तो आइंस्टीन और हॉकिंग का भी आईक्यू टेस्ट नहीं लिया गया था, फिर भी) यह घोषणा चैनल की ओर से की गई है, न कि किसी वैज्ञानिक परीक्षण के बाद, कि राहुल का आईक्यू (इंटेलीजेंसी कोशेंट) 162 है, जो दुनिया के महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफेन हॉकिंग से ज्यादा है। इसके साथ ही राहुल को अब 'मेन्सा क्लब' का सदस्य भी बना लिया गया है। 'मेन्सा क्लब' कुशाग्र आईक्यू वालों की दुनिया की सबसे बड़ी और पुरानी सोसायटी है।

क्विज के पहले ही राउंड में राहुल के प्रदर्शन से हर कोई चकित है। वह देखते ही देखते सोशल मीडिया का स्टार बन चुका है। राहुल ने क्विज जीतने के बाद बताया कि वह हमेशा सबसे बेस्ट बनना चाहता है और किसी भी कीमत पर वह ऐसा करके रहेगा। उसे लगता है कि वह जीनियस है और गणित के सवाल दिमाग में हल करना उसका पसंदीदा शौक बन चुका है। उसने मीडिया को बताया कि उसका सामान्य ज्ञान काफी अच्छा है और वह कोई भी चीज बड़ी आसानी से याद कर लेता है। राहुल को स्पेलिंग राउंड में पूरे के पूरे मार्क्स मिले हैं।

कार्यक्रम में पहले दौर में सफलता के बाद सोशल मीडिया पर राहुल की तेजी से चर्चाएं हो रही हैं। एक ट्विटर यूजर ने लिखा है कि राहुल उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच शांति बातचीत कर सकते हैं। एक अन्य ने टिप्पणी की है कि हम भारतीय अपने देश में तो मूर्ख बन के रह जाते हैं लेकिन विदेशों में जाते ही हम लोग इतना इंटेलिजेंट कैसे बन जाते हैं!

यह भी पढ़ें: मौतें होती रहीं, बचपन थर्राता रहा

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

पत्रकार/ लेखक/ साहित्यकार/ कवि/ विचारक/ स्वतंत्र पत्रकार हैं। हिन्दी पत्रकारिता में 35 सालों से सक्रीय हैं। हिन्दी के लीडिंग न्यूज़ पेपर 'अमर उजाला', 'दैनिक जागरण' और 'आज' में 35 वर्षों तक कार्यरत रहे हैं। अब तक हिन्दी की दस किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं, जिनमें 6 मीडिया पर और 4 कविता संग्रह हैं।

Related Stories

Stories by जय प्रकाश जय