गुडगांव का एक स्टार्टअप जो भरोसा पैदा कर रहा है ऑटो वर्कशॉप को लेकर

0

जिसके पास भी कार होती है वो ये अच्छी तरह जानता है कि उसे ठीक करना काफी मुश्किल काम है। खासतौर से तब जब अपनी कार को किसी ओर के हवाले करनी होती है तो किसी भी कार मालिक के लिये ये काफी परेशान करने वाली बात होती है। क्योंकि कार मालिक और वर्कशॉप के बीच आज भी आपस में विश्वास की काफी कमी है। एक ओर कार मालिक लोकल वर्कशॉप से कार इसलिये ठीक नहीं कराते क्योंकि उनको इस बात का डर रहता है कि वो कहीं ठगे ना जायें, वहीं दूसरी ओर जब वो कंपनी के वर्कशॉप में जाते हैं तो वो काफी महंगी सेवाएं देते हैं। दोनों ही परिस्थितियों में ग्राहक को संतोष नहीं होता।

नवनीत प्रताप सिंह खुद एक कार प्रेमी हैं उनको भी कई बार ऐसी परिस्थितियों से गुजरना पड़ा है। हर बार वो ये सोचते थे कि जब भी वो वर्कशॉप में अपनी कार सर्विस के लिये दें तो वो उनको बेहतर सेवाएं उपलब्ध कराये। इस तरह के विचार जब उन्होने अपने एक बचपन के दोस्त अभिजीत सिंह के सामने रखे तो उनके भी विचार इसी तरह के थे। जिसके बाद उन्होने इस विषय पर काम करना शुरू किया तब उनको पता चला कि वो अकेले ऐसे नहीं हैं जो इस तरह की समस्याओं से जूझ रहे हैं, हर कोई जब अपने वाहन को सर्विस के लिये देता है तो वो इसी तरह परेशान रहता है। तब इन दोनों ने फैसला लिया कि वो एक ऐसा प्लेटफॉर्म तैयार करेंगे जो कार मालिकों को उच्च गुणवत्ता वाली सेवाएं देगा।

नवनीत और अभिजीत के पास सिक्योरिटी, हाइवे, प्रबंधन, खुदरा और स्टार्टअप का अनुभव था वो एक साथ आए और उन्होने ऑटोमोबाइल रिपेयर सेगमेंट में सेवाएं देने का काम शुरू किया। इस तरह अक्टूबर, 2015 में दोनों ने मिलकर ‘गेट कार एक्सपर्ट’ नाम से गुड़गांव में अपनी सेवाएं देनी शुरू कर दी। इन लोगों का दावा है कि वो सुविधाजनक, सस्ती और पारदर्शी सेवाएं देते हैं। नवनीत का कहना है कि “हम ऐसी वर्कशॉप जिन पर कोई आसानी से विश्वास नहीं कर सकता और अधिकृत सर्विस सेंटर का विकल्प हैं। हम उन मुद्दों पर ज्यादा ध्यान देते हैं जिनका कार मालिक सबसे ज्यादा सामना करते हैं। बाजार में नकली और उचित गुणवत्ता वाले सामान की भरमार है और कई सारी वर्कशॉप इन्ही समानों का इस्तेमाल कर गुणवत्ता से समझौता करती हैं। इस वजह से कार मालिक के मन में हर वक्त असुरक्षा की भावना रहती है, लेकिन ‘गेट कार एक्सपर्ट’ इस मामले में खास सावधानी बरतता है और वो अपने सर्विस सेंटर में इन चीजों का ध्यान रखता है।”

उनका कहना है कि तीन ऐसे पैरामीटर हैं जो गुणवत्ता को परिभाषित करते हैं वो हैं कारीगरों की गुणवत्ता, कलपुर्जे जो गाड़ी में इस्तेमाल किये जा रहे हैं और ग्राहक का अनुभव। इस प्लेटफॉर्म में ना सिर्फ अच्छे बल्की आधुनिक उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है, वारंटी के साथ असली कलपुर्जों को लगाया जाता है। यही कारण है कि ये अपने ज्यादातर कलपुर्जों पर एक हजार किलोमीटर या 60 दिन की वारंटी अपने ग्राहकों को देते हैं। कलपुर्जे असली हों इसके लिए इन लोगों ने 35 अधिकृत वर्कशॉप के साथ अपना गठजोड़ किया है। ‘गेट कार एक्सपर्ट’ ने हाल ही में बॉश और वैलियो के साथ डील की है।

नवनीत के मुताबिक “किसी भी तरह की डिमांड हो जैसे सामान्य मरम्मत, दुर्घटना के कारण मरम्मत, गाड़ी की सर्विस, बैटरी, टायर या फिर गाडी का इंश्योरेंश ‘गेट कार एक्सपर्ट’ की वर्कशॉप हर तरह के काम को आसान बनाता है। ये एक मल्टी ब्रांड वर्कशॉप है और वो उन्ही मानकों पर काम करता है जिन मानकों पर कोई भी अधिकृत सर्विस सेंटर काम करता है। यहां पर गुणवत्ता वाली कारीगरी की गारंटी होती है।”

कारोबार को खड़ा करना

ये प्लेटफॉर्म वर्कशॉप के साथ कमीशन के अधार पर काम करता है। पिछले कुछ महिनों के दौरान इसकी विकास दर नियमित तौर पर बढ़ी है। पिछले साल दिसंबर में इसने 120 कारों की सर्विस की जो जनवरी में बढ़कर 170 हो गई। इन लोगों को उम्मीद है कि फरवरी में ये संख्या 300 को पार कर जाएगी। कंपनी की दृष्टि में कार इंडस्ट्री में मल्टी ब्रांड सर्विस प्रोवाइडर की मांग बढ़ रही है। अगले कुछ सालों में इनकी योजना 10 दूसरे शहरों में इस तरह की सेवाएं देने की है। इसके बाद इन लोगों का इरादा है कि टैक्सी ऑपरेटर के लिए वो सर्विस स्पेयर पार्ट सप्लाई चैन की शुरूआत करें। इसके अलावा इन लोगों की कोशिश एक्सप्रेस और मोबाइल रिपेयर प्लेटफॉर्म शुरू करने की है और एक ऐसा तंत्र विकसित करने की है जिसके जरिये हर कार की मेंटिनेंस पर नजर रखी जा सके।

‘गेट कार एक्सपर्ट’ के संस्थापकों ने 10 लाख डॉलर की पूंजी का बफर रखा हुआ है ताकि इसका इस्तेमाल अपने इस प्लेटफॉर्म को जमाने के लिए किया जाए जब तक इसमें नया निवेश नहीं होता।

बाजार और मुकाबला

सीआईआई-एसीएमए के मुताबिक देश में साल 2015 में ऑटोमोटिव सर्विस बिजनेस का बाजार करीब 2 बिलियन डॉलर का है जिसमें स्पेयर पार्ट भी शामिल है। मार्च 2013 तक देश में 172 मिलियन वाहन देश भर में रजिस्टर्ड थे। इनमें से 21.5 मिलियन कारें, टैक्सी और जीप थी। ‘गेट कार एक्सपर्ट’ के अलावा मोटर एक्सपर्ट, बम्पर, काटीज़ियन और मेरी कार जैसी दूसरे खिलाड़ी हैं जिनमें आपस में आगे बढ़ने की होड़ लगी है। ‘मेरी कार’ में दो चरणों में निवेश ‘माई फर्स्ट चैक’ और राजन आनंदन (व्यक्तिगत निवेशक) के जरिये निवेश हो चुका है। पिछले साल जुलाई में बेंगलुरू की ऑटोमोटिव सर्विस काटीज़ियन ने ‘यू वी कैन’ ग्लोबल फाउंडर कैपिटल, टैक्सी फॉर स्योर और दूसरी कंपनियों के जरिये निवेश हासिल किया। इसी तरह दिसंबर 2015 में बेंगलुरू में काम कर रहे ‘बंपर’ को 5 लाख डॉलर शुरूआती निवेश हासिल हुआ। इस क्षेत्र में दूसरे खिलाड़ियों के बारे में नवनीत का कहना है कि “जिस तरह की सर्विस हम लोग देते हैं वो काफी खास है। जहां पर हम अपने ग्राहकों से अच्छी सर्विस का वादा करते हैं यही बात हमें दूसरे खिलाड़ियों के मुकाबले आगे रखती है।”